आया बीजेपी का घोषणापत्र

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

मध्यप्रदेश चुनाव में भाजपा के घोषणापत्र ने बड़ा इंतज़ार कराया. लेकिन जब आया तो न सिर्फ पार्टी के कार्यकर्ताओं के चेहरे खिले बल्कि प्रदेश की जनता के चेहरों पर भी मुस्कान आ गई

लेकिन ऐसा नहीं कि भाजपा के घोषणापत्र से चरों दिशाओं में ख़ुशी की लहर दौड़ गई हो. घोषणापत्र के आने के बाद कई चेहरे उतर भी गए. अब तक कांग्रेस अपने वचनपत्र से अत्यंत प्रमुदित हो रही थी. प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को लग रहा था कि उन्होंने आधी जंग जीत ली है. लेकिन भाजपा के घोषणा पत्र ने उनको उदास होने का मौका फिर दे दिया.

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत की संभावना बढ़ा दी पार्टी के घोषणापत्र ने. अपने घोषणापत्र के माध्यम से पार्टी ने वादा किया है कि सत्ता में वापस आने पर गरीबों को पक्का मकान देंगे और हर साल 10 लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा.

भोपाल में आयोजित इस समारोह में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, सीएम शिवराज सिंह चौहान और मध्य प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष राकेश सिंह समेत अन्य नेता उपस्थित थे. पार्टी ने असली वोटरों पर ध्यान दिया है. गरीब तबके के लोग ही असली वोटर होते हैं. इसलिए इस घोषणापत्र में पार्टी ने खासकर आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लोगों और किसानों के हित के दिशा में सोचा है. सर पर छत को सबसे बड़ी जरूरत मान कर गरीबों को घर मुहैया कराने का वादा है प्रदेश सरकार का.

और इसके लिए पार्टी ने संबंल जैसी योजनाओं को माध्यम बनाया है ताकि प्रदेश के हर गरीब परिवार को पक्का मकान दिया जा सके.आदिवासियों के हित का भी पार्टी ने ध्यान रखा है. बैगा व भरिया महिलाओं को 1000 रुपये का भत्ता पार्टी की तरफ से दिया जाएगा.

किसानों की प्रसन्नता प्रदेश भाजपा के भविष्य की प्रसन्नता को सुनिश्चित कर सकती है. प्रदेश में 17 लाख छोटे किसान हैं.  इसलिये किसानों के आंदोलनों और असंतोष को नज़र में रख कर प्रदेश सरकार की तरफ से किसानो के कल्याण के लिये पहले ही पिछले एक साल में लगभग 32000 करोड़ रूपया दिया गया है.

किसानो के लिए बनाई गई कृषक समृद्धि योजना का लाभ छोटे किसानों को मिलने में आने वाली परेशानियों के मद्देनज़र तय किया है कि जिस अनुपात में बड़े किसान को लाभ देते हैं उसी अनुपात में छोटे किसानों को भी लाभ देंगे.
और इस तरह प्रदेश के प्रत्येक किसान के हित को सुनिश्चित करना भी घोषणापत्र का अहम हिस्सा बना है.

(पारिजात त्रिपाठी)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति