झालरापाटन की जंग : वसुंधरा बनाम मानवेन्द्र

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

रानी को मिलेगी अपने ही पूर्व वरिष्ठ साथी के बेटे से चुनौती..

झालावाड़ ज़िले के अंतर्गत आता है झालरापाटन का विधानसभा क्षेत्र. राजस्थान विधानसभी चुनाव में इस बार सबसे रोमांचक चुनाव इसी क्षेत्र में देखा जाएगा. यहां जहां एक तरफ खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हैं वहीं दूसरी और पूर्व भाजपा नेता जसवंत सिंह के बेटे मानवेन्द्र सिंह हैं.

वसुंधरा राजे इस सीट पर पहली बार चुनाव नहीं लड़ रही हैं, यह चौथा मौक़ा होगा जब वे यहां की जनता से वोट मांगेंगी. लेकिन उनके सामने कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में तलवार भांज रहे मानवेन्द्र सिंह इस विधानसभा क्षेत्र से पहली बार उम्मीदवारी कर रहे हैं.

वसुंधरा राजे जहां अंदरूनी तौर पर जनता के असंतोष का सामना कर रही हैं वहीं उन्हें इस चुनाव में एंटी-इनकमबेन्सी की चुनौती का सामना भी करना है. और यह भी एक वजह है कि मानवेन्द्र सिंह से चुनावी टक्कर को रानी हलके में नहीं लेना चाहेंगी.

चुनाव विशेषज्ञ राजस्थान विधानसभे के इन चुनावों को वसुंधरा के लिए कड़ी अग्निपरीक्षा मान रहे हैं. ऐसे में मुख्यमंत्री राजे हर वे जतन करेंगी कि प्रदेश में उनकी सरकार अपमानित न हो और सत्ता में वापसी भी करे.

अपने पिता जसवंत सिंह के पार्टी में असंतोष का प्रभाव उनके पुत्र में देखा गया. और मानवेन्द्र सिंह ने भाजपा का साथ छोड़ कर कांग्रेस का दामन थाम लिया. वैसे उन्हें कांग्रेस में आये अधिक दिन नहीं हुए हैं. और झालरापाटन से भी कांग्रेस का प्रत्याशी भर कर कल शनिवार 17 नवम्बर को ही उन्होंने अपना नामंकन पत्र भरा है.

(पारिजात त्रिपाठी)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति