ड्राई शैम्पू के इस्तेमाल में सावधान रहें !

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

कोई सन्देह नहीं किड्राई शैम्पू अच्छा है लेकिन उसके इस्तेमाल में सावधानी आवश्यक है ..

आज ज्यादातर वे महिलायें अपने रख रखाव में कम ध्यान देती हैं जो काम कर रही होती हैं. हम बात कर रहे हैं वर्किग वीमेन की. कई वर्किंग वीमेन ऐसी हैं जिन्हे रोज़ सुबह बाल धोने का वक्त नहीं मिलता है और उनके बाल बहुत ऑयली हो जाते हैं तो उनके लिए ड्राई  शैम्पू किसी चमत्कार से कम नहीं .डरमेटोलॉजिस्‍टऔर स्‍टाइलिस्‍ट की राय है कि बाल फाइबर के होते हैं. एक प्रकार के वूल फाइबर.डेली नार्मल शैम्पू से बालों को धोने से बालों की नमी और पोषण खोने लगता है .

यह भी एक उपयोगिता है जिसके चलते आजकल बहुत सी महिलाएं ड्राई शैम्पू का उपयोग करना पसंद करती हैं. ड्राई शैम्पू एक प्रकार का शैम्पू है जो बिना पानी के बालों का चिपचिपापन हटाता है .ऐरोसोल कैन में मिलने वाले ड्राई शैम्पू में ऐरोसोल प्रोपलेंट्स ,अब्सॉर्बिंग एजेंट्स ,साल्वेंट ,कंडीशनर और सुगंध का मिक्सचर होता है .ड्राईशैम्पू कॉर्न स्टार्च या राइस स्टार्च से बनाया जाता है .  आइए जानते हैं कि ड्राई  शैम्पू के प्रयोग में किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.    

शैम्पू करते समय स्प्रे की दूरी का ध्यान रखें  :हर हेयरस्प्रे की तरह इसके भी इस्तेमाल से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि बाल उलझे हुए ना हों. इसे हेयर वॉश के दूसरे या तीसरे दिन अपने बालों के स्कैल्प के आस-पास स्प्रेकरें. इसके लिए अपने बालों को दो हिस्सों में बांट लें और फिर आधे मीटर की दूरी सेड्राय शैम्पू स्प्रे करें. अगर आप पाउडर वाले ड्राय शैम्पू का इस्तेमाल कर रही हैंतो इसमे दिए ब्रश का इस्तेमाल करके, बाल के उन हिस्सों में लगाएं ( उन दो हिस्सों में). इसकेइस्तेमाल के बाद हो सकता है कि थोड़ा पाउडर या स्प्रे आपके स्कैल्प में जम जाए,अगर ऐसा हो तो उन्हें उंगुलियों से हिलाकर ठीक कर लें. बालों कोवॉल्यूम देने के लिए चौड़े दांतों वाली कंघी इस्तेमाल करके बालों को अच्छी तरहझाड़ लें और फिर इसे कोई भी मनचाहा स्टाइल दें.

ड्राई शैम्पू जितना जरुरी हो उतना ही लगाएं :  ड्राई शैम्पू का इस्तेमाल जरुरत से ज्यादा करना समझदारी नहीं है. लोगों को लगता है कि यह फायदेमंद होगा लेकिन ऐसा नहीं है. आप ड्राई शैम्पू को पूरे सिर पर लगा सकते हैं लेकिन बेहतर है कि आप इसे उन्ही हिस्सों पर लगाएं जो अधिक गंदे और मैले हैं. जो हिस्से अधिक तैलीय होते हैं जैसे  टैम्पल्स के पास वाले बाल आदि. इन सेक्शन केबालों को ऊपर उठाएं और उन पर ड्राई शैम्पू अप्लाई करें. इसके बाद ब्लो ड्रायर सेबालों को सुखा लें.

ड्राई शैम्पू आराम से वक्त लेकर लगायें : ड्राई शैम्पू लगाने के बाद जरुरी है कि आप इसे अपनाकाम करने के लिए 2-3 मिनट का समय दें. उसके बाद बालों को हल्के से मसाज करें. इससेशैम्पू बालों के हर हिस्से तक पहुंच जाएगा खासतौर पर जड़ों के पास  पहुंच कर उन्हें साफ कर पाएगा. इसे लगाते वक्तजल्दबाजी ना करें.

केवल गंदे बालों के लिये न लगायें ड्राई शैम्पू: आपको बालों से तेल को साफ करने के अलावा भी ड्राई शैम्पू कई काम करता है. यह आपके बालों को साफ तो करता ही है साथ ही इसके इस्तेमाल से फ्लैट और पतले बालों को बाउंस वॉल्यूम भी मिलता है. ड्राई शैम्पू आपके बालों में मॉइश्चर को लॉक कर देता है औरआपके बाल इसके इस्तेमाल से घने लगने लगते हैं. इसलिए इसका इस्तेमाल केवल बालों कोसाफ करने के लिए ही ना करें.

ड्राई शैम्पू के बाद मसाज करना न भूलें : ड्राईशैम्पू को इस्तेमाल करने के बाद आप मसाज कर सकते हैं ताकि शैम्पू बालों के सभी हिस्सों खासकर जड़ों में पहुंच जाए.  आपकोड्राई शैम्पू लगाने के बाद बालों को ब्रश करना नहीं भूलना चाहिए इसके अलावा आपबालों को ब्लो ड्रायर से भी सेट कर सकते हैं. ब्लो ड्रायर को कूल और लो सेटिंग पर ही इस्तेमाल करें.

(रजनी साहनी)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति