नव-वर्ष पर विवाद क्यूँ ? ये हैं सबसे सुन्दर शुभकामनायें

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

नववर्ष की शुभकामनायें क्यूं न हम सबके साथ बाँट लें ..

अभी वर्ष 2019 शुरू हुआ है, अनेक लोग शुभकामनायें दे रहे हैं, मगर कुछ मित्र इस पर विवाद भी कर रहे हैं कि ये नव वर्ष अंग्रेज़ों का है, हिन्दू नव वर्ष नहीं है, वह तो चैत्र मास से प्रारंभ होगा, इसलिए हमारे लिये अंग्रेजों के नव वर्ष की बधाई देना उचित नहीं है -लोग इसे कैलेंडर वर्ष बता रहे हैं –

मुझे इस विचार से भी कोई आपत्ति नहीं है, जैसा मर्जी कोई भी सोच सकता है. हमें अपना नव वर्ष मनाने का पूरा अधिकार है मगर एक बार थोड़ा सा सोचना चाहिए कि हम अपना जन्मदिन इस कैलेंडर वर्ष की तारीख से ही मानते हैं और उसी से सरकारी रिकॉर्ड में पजीकृत होता है. अनेक विषय हैं जिनके लिए हम इसी कैलेंडर के अनुसार चलते हैं. इसको बदलना समन्दर की लहरों के विपरीत तैरने के बराबर है. इसलिए मुझे नव वर्ष की शुभकामनायें देने से ऐतराज न करें. मेरी बात व्यावहारिक है, कृपया मुझे ये कहने के लिए क्षमा कीजिये!

नववर्ष 2019 में ईश्वर आपके और आपके परिवार को समस्त खुशियाँ दें, आप सभी स्वस्थ रहें और आपसभी को सुख और समृद्धि मिले – आपका हर दिन मंगलमय हो –

ईश्वर करें हमारा देश शक्तिशाली बने, धन धान्य की कमी ना हो, जरूरत अनुसार भरपूर वर्षा हो -देश के अंदरूनी और बाहरी शत्रुओं का नाश हो — और उसके लिए आज से ही सभी छोटे मोटे मतभेद भुला का मोदी जी को विजयी बनाने का हर भारतवासी प्रयास करे — नरेंद्र मोदी इस देश 
की अंतिम आशा हैं, उन्हें मजबूत करना हमारा कर्तव्य है.

ईश्वर से एक और महत्वपूर्ण प्रार्थना है कि जो जवान सरहदों पर और देश के भीतर हमारी रक्षा कर रहे हैं, वो सभी जवान सुरक्षित रहें और देश के दुश्मनों का नाश करने में सदैव सक्षम रहें. माँ भवानी सभी जवानों को अपनी शक्ति दें जिससे वो शत्रुओं का नाश करते रहें. हमें किसी जवान के शहीद होने का समाचार न मिले.

भारतमाता की जय, वन्दे मातरम, जय हिन्द

(सुभाष चन्द्र)