प्रदूषण से खुद को ऐसे बचायें

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

देश के बड़े शहर प्रदूषण के शिकार हो रहे हैं. सरकार इस प्रदूषण को कम करने के लिए जो कर रही है वो अपनी जगह है, लेकिन आपको खुद भी इस प्रदूषण से अपनी रक्षा करनी होगी. बस अपना आहार विहार थोड़ा सा बेहतर कर लें :

  1. सुबह उठते ही खाली पेट कम से कम 2 से 3 गिलास पानी पीकर उषापान करें।
  2. सारा दिन पानी और तरल पदार्थ भरपूर लें । पानी, नारियल पानी, सब्जियों या फलों का रस को महत्त्व दें।
  3. शारीरिक शुद्धि के लिए गेहूँ के ज्वारे (wheat grass) का रस गिलोय मिला कर लें ।
    नीम गिलोय तुलसी रस शहद मिलाकर लें सकते है।
  4. अंकुरित आहार, भिगोकर कच्चे किये ड्राई फ्रूट्स, हरी सब्जियां, पत्तेदार सलाद, फल, खट्टेफल डाइट में शामिल करें।
  5. प्रदूषण के प्रभाव को दूर करने और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए सितोपलादि चूर्ण आधे से एक चम्मच शहद के साथ सुबह शाम लें।
  6. सौंफ मिश्री औऱ काली मिर्च को समभाग मिलाकर चूर्ण बनाकर भी इसमे से आधा चम्मच सुबह शाम ले सकते हैं।
    7.अदरक, कच्ची हल्दी और पुदीना के पत्ते सलाद में मिलाकर लें।
  7. तिल अश्वगंधा या सरसों के तेल से अभ्यंगस्नान करें। सप्ताह में एक या दो बार।
  8. नाक के अंदर के बाल ना काटें …नाक में बादाम तेल की 4 -4 बूंदें डालकर नस्यम करें। रोजाना या सप्ताह में जितना अधिक सम्भव हो।
  9. पेट साफ रखें और त्वचा पर एलर्जी से बचने के लिए एलोवेरा जेल लगायें।
  10. नींद पूरी लें तथा क्षमता से अधिक श्रम ना करें।
  11. ताजे पानी से चेहरा और आँखे दिन में तीन से चार बार अवश्य धोएं।
  12. अच्छी क़्वालिटी का मास्क पहन कर ही बाहर निकलें।
  13. स्नान के लिए नीम के पत्ते पानी में उबाल कर प्रयोग करें या सम्भव ना हो तो नीम साबुन से स्नान करें।
  14. जलनेति, कुंजल क्रिया, एनिमा , मसाज और भाप स्नान आदि प्राकृतिक चिकित्सक की देखरेख में लेकर शरीर की शुद्धि कर सकते हैं।
  15. योग प्राणायाम का अभ्यास खुले में ना करें अंदर ही करें और आसनों- क्रियाओं का अभ्यास यथा सम्भव करें।
  16. गुनगुने पानी के गरारे करें। रोजाना सुबह।
  17. बांसा, अप्राकृतिक और गरिष्ट भोजन ना करें।
  18. घर या ऑफिस में कपूर जला कर वातावरण शुद्ध करें।
  19. खांसी के साथ बहुत ज्यादा श्वास फूलने पर झण्डू का वसावलेह एक एक चम्मच सुबह शाम लें।

(रजनी साहनी)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति