बुलेट वालों, आ रही है जावा !!

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

एक जमाने की जवाँ दिलों की धड़कन जावा मोटर साइकिल अब वापस आ रही है..

जी हाँ, जिन लोगों सत्तर और अस्सी का दशक देखा है, वे जानते हैं कि जावा क्या चीज़ है! मोटरसाइकिलों की दुनिया में अभी तक वैसी दुपहिया गाड़ी दुबारा नहीं आई. अगर जावा के सामने कोई गाड़ी खड़ी हो सकती थी तो वह सिर्फ और सिर्फ बुलेट याने की रॉयल इनफील्ड ही थी. लेकिन सच तो ये है कि जावा की नज़ाकत और उसकी खूबसूरती फिर भी बुलेट पर इक्कीस पड़ती थी.

अब वही जावा वापस आ रही है. धन्यवाद है महिंद्रा मोटर मैन्युफेक्चरिंग कम्पनी को जिन्होंने बीते दिन वापस लाने की इतनी खूबसूरत कोशिश की है. अब बुलेट के दिलों की धड़कने भी बढ़ने वाली है क्योंकि उसको टक्कर देने वाली वापस लौट रही है हिन्दुस्तान के दुपहिया गाड़ी बाज़ार में.

और यह हो रहा है महिंद्रा की पहल पर. 350 सीसी की बाइकों के अस्सी प्रतिशत से अधिक मार्किट पर एकाधिकार वाली बुलेट को टक्कर देने के लिए महिंद्रा ने क्‍लासि‍क लेजेंड के जरि‍ए चेक की मोटरसाइकि‍ल कंपनी जावा के साथ ‘एक्‍सक्‍लूजि‍व ब्रांड लाइसेंसिंग एग्रीमेंट’ पर हस्ताक्षर किये हैं. और अब क्लासिक लेजेंड जावा की हो गई है. चूंकि क्‍लासि‍क लेजेंड के पास जावा के साथ लाइसेंसिंग एग्रीमेंट भी है, तो इस तरह महिंद्रा को इन ब्रांड्स को अपने लिए इस्तेमाल करने का अधिकार भी मिला गया है. और अब महेन्द्रा कंपनी भारतीय बाजार में जावा 300 cc की लांचिंग के साथ वापसी कर रही है।

जावा वर्ष 1960 में लांच हुई थी और करीब 36 साल दुपहिया मार्किट का आकर्षण बनी रही. जावा के बाद उसका अगला मॉडल येज़्दी भी कमाल का था. जिन्होंने येज़्दी और जावा चलाई है, वो जानते हैं कि दुपहिया गाड़ी चलाने का असल आनंद क्या है. 1996 में यह ब्रांड बंद हुआ. और अब इसकी शानदार वापसी हो रही है. और अब न सिर्फ आप जावा को फिर से सड़कों पर दौड़ते देख सकेंगे, बल्कि उसकी सवारी का भी ख़ास लुत्फ़ ले सकेंगे!

(पारिजात त्रिपाठी)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति