मैं भी चौकीदार – तुम भी चौकीदार !

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

इस वर्ष का चुनाव एक महासमर है, भारतीय राजनीति का महाभारत है -हर व्यक्ति को अपनी भूमिका का चुनाव करना है – हमें हमारी भूमिका कोई बताये या ना बताये, वो हमें ही तय करना है क्यूंकि देश का अस्तित्व मिटाने वाले और देश को लूटने वाले पग पग पर खड़े हैं .

और आज सभी की भूमिका तय हो गई –हम सब देश के चौकीदार की भूमिका में रहेंगे –सबसे शक्तिशाली चौकीदार नरेंद्र मोदी के सामने चोरों का गिरोह बेबस है जिसके गुर्गों को मोदी देश लूटने का मौका नहीं दे रहे .

चौकीदार चौकन्ना हो तो चोर सामने आ कर चोरी करने की हिम्मत नहीं करते –सोचते हैं, एक बार चौकीदार सो जाये तो वो अपना काम कर सकें –या कोशिश करते हैं कि चौकीदार की नौकरी ही 
खा जाएँ – फिर खुल्ला खायें और लूट लें लोगों के घरों को .

ये हमारा चौकीदार ना खाता है ना खाने देता है, रात भर जाग-जाग कर चोरों की नींद हराम रखता है और उनको जेल में डालने को आतुर रहता है .

आइये हम सब भी चौकीदार बने और अपने चौकीदार को मजबूत 
करें –हम प्रतिज्ञा करें कि अपने चौकीदार के काम में साथ दें –
हम देश नहीं लूटने देंगे और देश के दुश्मन की आँख देश की तरफ 
उठने नहीं देंगे –झूठ और फरेब फैलाने वालों को बेनकाब करेंगे –
ये देश हमारा घर है और हम भी इसकी सुरक्षा करेंगे –

जब देश के 130 करोड़ लोग चौकीदार बन जायेंगे तो फिर किसी 
की क्या मजाल है जो चोरी कर सके –

भारत माता की जय –जय हिन्द –


(सुभाष चन्द्र)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति