मोदी पर सवाल और योगी रामदेव का शीर्षासन, जवाब लड़खड़ाया

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद कांग्रेस जीत को नया स्वच्छ भारत अभियान बता रही है लेकिन सुर ऐसे लोगों के भी बदल रहे हैं जिनकी उम्मीद नहीं की जा सकती..

योगगुरू स्वामी रामदेव से पीएम मोदी से जुड़ा सवाल पूछा गया तो वो जवाब देने में लड़खड़ा गए. यह पूछे जाने पर कि क्या मोदी ने अपने वादे पूरे किए, रामदेव ने कहा, ‘मैं इस तरह के राजनीतिक सवालों के जवाब देकर मुश्किलों को बुलावा नहीं देना चाहता, क्योंकि आपको इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. मैं अब भी यही कहूंगा कि मोदी के नेतृत्व, नीयत और नीति पर कोई संदेह नहीं कर सकता। उन्होंने 100 से ज्यादा राष्ट्र निर्माण परियोजनाएं शुरू की हैं और वह कभी वोट बैंक की राजनीति में शामिल नहीं रहे.’

टाइम्स नेटवर्क की ओर से मुंबई में आयोजित इंडिया इकोनॉमिक कॉन्क्लेव में रामदेव ने कहा, ‘मोदी उनमें से नहीं हैं जो वोट बैंक की राजनीति करते हैं.’

लेकिन सवालों के जवाब देने में उनकी लड़खड़ाहट सहज और बयान राजनीतिक दिखाई दे रहे थे. बड़ा सवाल ये है कि बाबा को अगर ये लग रहा है कि मोदी ने 100 से ज्यादा राष्ट्र निर्माण परियोजनाएँ शुरू की और उनकी नीयत में फर्क नहीं किया जा सकता है तो फिर इसका जवाब देने में क्या दिक्कत थी कि मोदी ने अपने वादे पूरे किए या नहीं. बहरहाल, पहली बार बाबा पीएम मोदी से जुड़े सवाल पर शीर्षासन करते नजर आए.

(इन्द्रनील त्रिपाठी)