युधिष्ठिर के बाद सबसे बड़े जुआरी : जिओनी के मालिक हार गये एक हज़ार करोड़

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

कलियुग में भी बन गया है रिकार्ड जो अब युगों तक याद रखा जायेगा..

अब जुआं खेलने वालों को सिर्फ युधिष्ठिर की ही नसीहत नहीं दी जायेगी बल्कि जिओनी के मालिक साहेब की भी बार बार याद दिलाई जायेगी जिन्होंने फिलहाल जुएं में हारने का विश्व कीर्तिमान स्थापित कर दिया है.

और अब इस ऐतिहासिक घटना के उपरान्त जिओनी फ़ोन अपनी गुणवत्ता की वजह से कम अपने मालिक की वजह से ज्यादा याद किया जायेगा.

जिओनी कम्पनी मोबाइल फोन की दुनिया में एक नामवर कम्पनी है. जिओनी के साथ अनहोनी घटी है. कौन सोच सकता है कि इस कम्पनी का मालिक जुए में करीब 1000 करोड़ हार जाएंगे जिससे खरबों की यह मोबाइल कम्पनी आज की तारीख में दिवालिया होने जा रही है.

जो जानकारी मिली है उसके अनुसार जिओनी के संस्थापक और चेयरमैन लियू लोरांग ने 10 अरब युआन (करीब 1 खरब रुपये) जुएं में स्वाहा कर डाले हैं. लोराँग हॉन्गकॉन्ग में थे और वहां उन्होंने ये काण्ड किया.

बताया जा रहा है कि हॉन्गकॉन्ग के एक कैसीनों में जुआ खेलते समय अपनी भावनाओं पर काबू नहीं पा सके और खेलते चले गये अर्थात हारते चले गये. उनको होश तब आया जब उनको एक हजार करोड़ की चपत लग चुकी थी..लेकिन तब होश में आने का कोई लाभ नहीं हुआ क्योंकि तब बहुत देर हो चुकी थी.

वैसे लियू लोरांग ने इस बात को तो मान लिया है कि उन्होंने एक अरब युआन हारे हैं. पर इसके साथ उन्होंने ये भी साफ कर दिया है कि उन्होंने अपनी कंपनी के कैश का गलत इस्तेमाल नहीं किया, बल्कि बाकायदा कंपनी से फंड उधार लेकर जुआं खेला है.

अब बेचारी कंपनी अपने सप्लायर्स को पैसे नहीं दे पा रही है. मजबूरन सप्लायर्स को क़ानून की राह पकड़नी पड़ी और वहां उन्होंने इंटरमीडिएट पीपल्स कोर्ट में दिवालियेपन का आवेदन दिया है. लोग कह रहे हैं कि मालिक साहब को जुएं की बुरी लत लगी हुई थी. जबकि मालिक साहब अब इस बात से टेन्शन में हैं कि अब जुआं कैसे खेल पाएंगे? जय हो!

(पारिजात त्रिपाठी)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति