ये है प्लेनेट पाकिस्तान

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

पहले दुनिया को पता नहीं था, धीरे धीरे पकिस्तान की तस्वीर साफ़ होती चली गई और दुनिया ने दांतों तले ऊँगली दबा ली. आप किसी भी क्षेत्र की बात करें, सियासत से लेकर लियाकत तक – सब कुछ अजीबो गरीब है. जी हाँ, पकिस्तान में जो होता है, वो कहीं नहीं होता!

देश की हुकूमत की बात करें तो यहां तीन हुकूमतें एक साथ चलती हैं, बाकी दुनिया के हर देश में बस एक हुकूमत चलती है सरकार की. लेकिन पाकिस्तान में तीन सरकारें चलती हैं – एक हुकूमत है संविधान के द्वारा निर्देशित चुनावों के आधार पर चुनी गई वैधानिक सरकार की याने कि इमरान खान की. दूसरी सरकार है पाकिस्तानी खुफिया एजेन्सी आईएसआई से गले मिल कर काम करने वाली फौज याने कि कमर वहीद बाजवा की. और तीसरी हुकूमत है आतंकवादियों हाफिज सईद. हाफ़िज़ खुदा तुम्हारा पाकिस्तान. मसूद अजहर जैसे दुनिया में कुख्यात आतंकियों के देश पाकिस्तान की जनता को पता ही नहीं की असली हुकूमत किसकी है.

देश की माली हालत पतली है अर्थात खजाना खाली है. आम जनता आसमान छूती महंगाई से त्रस्त है और जनता बेरोजगारी और भूख जैसे ज़मीनी दर्द झेलने को मजबूर है. ज़िन्दगी के लिये सबसे ज़रूरी चीज है रोटी – वो भी पाकिस्तानी जनता के लिये बहुत महंगी हो गई है. और मज़े की बात यहां की सरकार भारत के अंदरूनी मामले कश्मीर में सुधार का विरोध करते हुए उस पर ऐटमिक हमले की धमकी दे रही है. पहले उनको ये पता कर लेना चाहिये कि पाकिस्तान आर्मी के पास गोलाबारूद और रसद भी है या नहीं. युद्ध लड़ने की बात तो बाद में आती है.

बात करें कानून की. अगर आप पकिस्तान में बिना परमिशन के किसी का फोन छूते है, तो वह ग़ैरक़ानूनी माना जाता हैं. इसके लिए 6 महीने जेल की सजा का प्रावधान है. इसी तरह वहां आप किसी भी व्यक्ति को फालतू के मैसेज नहीं भेज सकते हैं. अगर आप फालतू के मैसेज करते हुए पकड़े जाते है, तो आपको 10 लाख तक जुर्माना तक भरना पड़ सकता है.

लेकिन यहाँ के मीडिया को देश के बाकी सियासतदारों का मज़ाक उड़ाने की पूरी आज़ादी है. यहाँ के टीवी न्यूज़ चैनल्स पर पाकिस्तान और पाकिस्तानी नेताओं का एंकरों द्वारा उड़ाया जाने वाला मज़ाक अक्सर ही टीआरपी बटोरते देखा जाता है.

अगर आप पाकिस्तान में PM का मजाक उड़ाते हुए पकड़े जाते हैं, तो आपकी खैर नहीं, इसके लिए आपको अच्छा-खासा जुर्माना तक भरना पड़ सकता है. दुनिया में पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जहाँ आप राष्ट्रपति बनने के लिए किसी भी योग्यता की ज़रूरत नहीं है. लेकिन अगर आप किसी स्कूल में नौकरी करना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए पढ़ा-लिखा होना ज़रूरी है.

पाकिस्तान अपने किसी नागरिक को इजराइल जाने का वीजा नहीं देता, क्योंकि पाकिस्तानी फॉरेन मिनिस्ट्री इजरायल को देश ही नहीं मानती है.

देश के पास अपना कोई बड़ा व्यवसाय या व्यापार नहीं है जो कि राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए वित्तीय कमाई कर के ला सके. पाकिस्तान को अपने गधों पर बड़ा नाज़ है. पाकिस्तान में गधा लोगों के लिए कमाई का भी अच्छा जरिया है। गधों से वहां के लोग दिनभर में 400 से 800 तक की कमाई कर लेते हैं। पाकिस्तान में गधों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. कुछ दिनों पहले हुई गिनती से पता चला है कि दुनिया के गधों का तीसरा सबसे बड़ा हिस्सा पकिस्तान में है.

पाकिस्तान में गधों के बहुत सारे मेले लगते हैं जहां गधों की खरीदी बिक्री होती है. हालिया पाकिस्तानी अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का पाकिस्तानी आइडिया बड़ा गजब है. पाकिस्तान सरकार अब गधों की कमाई से अपनी इकॉनमी को ठीक करने की कोशिश कर रही है. अब पाकिस्तान गधों का अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय करेगा अर्थात पकिस्तान गधों का निर्यात करेगा वो भी चीन को और उससे मिलने वाले पैसे से सोचेगा कि इसका अब क्या करना है. क्योंकि पाकिस्तान में भी ज्यादातर सियासतदार भ्र्ष्टाचार की गंदगी से सराबोर हैं और दिन रात यही सोचने में बिताते हैं कि सरकारी पैसे को अंदर कैसे करें. पाकिस्तान गधों की तरह कुत्तों का भी व्यापार करने की योजना बना रहा है और उसे यकीन है कि कुत्तों और गधों को बेच कर देश की माली हालत सुधर जायेगी.

वजीरे आला इमरान खान अमेरिका में जाकर बोल आये और पाकिस्तान का राज़ खोल आये. चालीस आतंकी गैंग पाकिस्तान में काम कर रहे हैं. ये सच बता कर वे ट्रंप की गुडबुक में तो आये लेकिन कमा कुछ नहीं पाये. हां परोक्ष रूप से उन्होंने ट्रंप औऱ दुनिया को बता दिया कि देश में उनको और उनकी सरकार को कोई खतरा है तो इन आतंकियों से ही है जिनको उगलना भी मुश्किल है और निगलना भी आसान नहीं.

दुनिया के कैलेन्डर वाली इक्कीसवीं सदी अभी पाकिस्तान नहीं पहुंची है. यहां आम ज़िंदगी में बरसों पुराने कबीलाई नियम कायदे चलते हैं. अन्धविश्वास का चरम आप यहाँ देख सकते हैं. संसद में मच्छर न आयें इसके लिये यहाँ ऊपरवाले से दुआ की जाती है. मुर्गे लड़ाना, तीतर लड़ाना, गधे लड़ाना और अब तो ट्रैक्टर लड़ाना भी यहां की आमजनता का शगल बना हुआ है. औरतें दुनिया में सबसे अधिक अत्याचार की कहीं शिकार हैं तो इस देश में ही हैं क्योंकि यह इस्लामी देश औरतों को किसी तरह की आज़ादी नहीं देता और इन औरतों के मर्द परिवारजन भी औरतों की ज़रा भी आज़ादी के पक्ष में नहीं हैं.

कर्ज़ा इस देश पर इतना हो चुका है कि यह देश दुनिया के बाज़ार में बिकने को तैयार है.
जंग की गीदड़ भभकी दे रहे पाकिस्‍तान पर कुल 35.094 ट्रिल्‍यन पाकिस्‍तानीरुपये (105 अरब डॉलर) का कर्ज और देनदारी है पाकिस्तान में हेलीकॉप्टर सेल में बिक रहा है. पीएम की कारें सेल में बिक रही हैं. प्रधानमन्त्री निवास का कीमती सामान सेल पर लगा है. तो सरकारी ज़मीन भी सेल में बिक रही है. मज़े की बात, भैंसों तक को सेल में बेचा जा रहा है.

अंदर की बात बाहर आ गई है. पकिस्तान में अब सिर्फ अगले दस हफ्तों के लिए सरकार के पास पैसा बचा है. हालात इतने बुरे हैं कि खुद प्रधानमन्त्री को अपनी दस भैंसें नीलाम करनी पड़ी हैं. दस हफ्ते बाद याने कि सवा दो महीनों बाद पकिस्तान के खजाने में एक पाई नहीं बचेगी, तब यह देश कैसे चलेगा, शायद ये देश और इसके नुमाइंदे इस बात पर भी संजीदा नहीं.

और अब सबसे गजब की बात – इतनी मरी-गिरी हालत में पाकिस्तान भारत को जंग की धमकी दे रहा है. थोथा चना बाजे घना तो है ही, मान न मान मैं तेरा मेहमान भी है. और सही ढंग से इस मुहावरे की आवाज़ में पाकिस्तानी हालात को पेश करें तो कहना होगा – बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना. भारत के अंदरूनी मामले कश्मीर में सुधार के एक कदम से इस पड़ौसी को दर्द होने लगा. ये पिद्दी पड़ौसी भारत को धमकी देने लगा. वो भूल गया के हकीकत के आईने में एक पिद्दी किसी पहलवान से जीतना तो छोड़िये, चुनौती भी नहीं दे सकता है. . और वो भी जब वो पिद्दी अपने मुहल्ले में ही अकेला पड़ गया हो..

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति