शुभ दीपावली !! – कम्प्यूटर बाबा का इलाज तलाशा बीजेपी ने

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

(सभी सम्मानित पाठकों को दीपमालिका पर्व पर न्यूज़ इंडिया ग्लोबल की हार्दिक शुभकामनायें !!)

चुनाव के मौसम में कम्प्यूटर बाबा ने मध्यप्रदेश भाजपा सरकार पर बड़ा कहर ढाया है. कम्प्यूटर बाबा ने तो जैसे कसम ही खा ली मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विरुद्ध अभियान छेड़ने की. गाँव-गाँव जा कर जिस तरह वे संतों की जमात के साथ बैठकें कर रहे हैं वो प्रदेश भाजपा के लिए नुकसानदेह सिद्ध हो सकता है.

भाजपा ने कम्प्यूटर बाबा को पटखनी देने के लिए दूसरे बाबा का इंतज़ाम कर लिया है. उज्जैन के ये बाबा हैं कम्प्यूटर बाबा के तोड़. ये बाबा कम्प्यूटर बाबा द्वारा किये जा रहे डैमेज को कम करने का उपाय सिद्ध हो सकते हैं.

इस तरह अब यह भी सिद्ध हो जाएगा कि शिवराज सरकार संत विरोधी नहीं है जैसा कि कंप्यूटर बाबा साबित करने पर तुले हुए हैं. अब एक और विशेष अंतर देखा जा सकता है टिकटों के बंटवारे में. अब संतों की प्रत्याशा भी चुनाव को लेकर बढ़ जायेगी और संत प्रत्याशी भी.

जैसा कि हम सभी जानते हैं, कंप्यूटर बाबा के नाम से मशहूर स्वामी नामदेव त्यागी विधानसभा चुनावों में अपनी जबरदस्त उपेक्षा से दुखी हो कर शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार कई संतों से भाजपा नेताओं की बात चल रही है. एक संभावित संत प्रत्याशियों की सूची भी निर्धारित की गई है किन्तु उज्जैन दक्षिण से टिकट के दावेदार अवधेशपुरी महाराज इस सूची में सबसे ऊपर हैं. संत अवधेशपुरी को लेकर पार्टी काफी गंभीर नज़र आती है. वैसे भी प्रदेश भाजपा ने अपनी पहली सूची में उज्जैन दक्षिण से टिकट नहीं घोषित किया है।

अवधेशपुरी महाराज स्वयं भी चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं. उनके अनुसार उनके क्षेत्र के लोग भी चाहते हैं कि वे चुनाव लड़ें. पिछले 20 सालों में भाजपा के लिए किए गए उनके काम उनके दावे को सशक्त करते हैं. ये बाबा कोई मामूली बाबा नहीं बल्कि पढ़े लिखे और डॉक्टरेट किये हुए संत हैं.

पीएचडी की उपाधि वाले ये संत अवधेशपुरी राष्ट्र और समाज की सेवा करने हेतु राजनीति में प्रवेश कर रहे हैं. पिछले सिंघस्थ के दौरान संत अवधेश पुरी द्वारा किये गए कार्य और उनकी स्वच्छ छवि उनके भाजपा प्रत्याशी बनने की संभावना को पूर्णता प्रदान करते हैं.

इसी क्रम में सिवनी जिले की केवलारी सीट से संत मदन मोहन खड़ेश्वरी महाराज, रायसेन जिले से संत रविनाथ महीवाले और रायसेन की ही सिलवानी से बाबा महेंद्र प्रताप गिरी भी भाजपा के टिकट से विधानसभा चुनाव मैदान में उतर सकते हैं.

(पारिजात त्रिपाठी)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति