सबसे भयानक परिणाम अगर राहुल गाँधी की सरकार बनी तो !!!!

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

महिलाओं का कलेजा हिल जाएगा इस खबर को सुन कर. महिलाओं को तो छोड़िये उनके पतियों का भी दिल दहल जाएगा जब उनको पता चलेगा कि राहुल गाँधी की सरकार उन पर कितना भारी पड़ सकती है !!

ये ताज़ा तरीन खबर देखा जाये तो खबर नहीं है, धमकी है. ये धमकी दी है राहुल गाँधी ने. कुछ दिनो पहले उनकी दी गई धमकी लोगों को अब समझ आई है. लेकिन शुभ समाचार ये है कि ये धमकी इस देश की जनता समझ गई है.

चिन्तित न होइये. अब हम आपको अधिक प्रतीक्षा नहीं करायेंगे. आप सोच रहे होंगे कि वो धमकी क्या है जिसने देश की जनता की खास कर महिलाओं की नींद हराम कर दी है. लीजिये, हम आपको सीधे-सीधे ही बता देते हैं कि क्या धमकी थी राहुल गाँधी की और उस धमकी के परिणाम कितने भयावह हो सकते हैं !!

राहुल गाँधी ने कहा है कि अगर उनकी सरकार बनी तो वे देश के गरीबों के एकाउन्ट में 6 हज़ार रुपये डालेंगे. राहुल गाँधी तो बोल गये और उनको लगा कि शायाद उनकी यह चुनावी घोषणा उनको चुनाव जिता देगी. पर शायद उन्होंने इस घोषणा के परिणामों पर विचार नहीं किया. क्योंकि इसके परिणाम उनको चुनाव हरा भी सकते हैं.

यदि राहुल गाँधी जी की सरकार आ गई तो वे गरीबों के एकाउन्ट में 6 हजार डालेंगे. उसके बाद आपके घर की कामवाली बाई वालन्टरी रिटायरमेन्ट ले लेगी. मजबूरन आपकी पत्नी को घर का काम करना पड़ेगा जिससे उनको व्हाट्सएप, फेसबुक और सेल्फियों का समय कम करके गृहकार्यों में लगाना पड़ेगा..जो वे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगी..

इसके बाद दूरगामी परिणाम ये होंगे कि पतियों को भी घर के काम करने को मजबूर किया जायेगा. पतियों ने ना-नुकुर की तो उन पर घरेलू हिन्सा भी हो सकती है. घरेलू हिन्सा और घरेलू अशांति के उत्पीड़न को झेलने वाले पति या तो आत्मसमर्पण कर देंगे और अपने-अपने ऑफिसों से अधिक श्रम घर में करने लगेंगे या फिर सीधे-सीधे बागी हो जायेंगे. कुछ पति तो ऑफिस ही त्याग देंगे ताकि घर में पूर्णकालिक सेवा दे सकें. कुछ दबंग टाइप के पति अड़ भी जायेंगे औऱ इस घरेलू अन्याय के खिलाफ आवाज उठायेंगे, मोर्चा निकालेंगे, कोर्ट में जायेंगे और कुल मिला कर स्थिति तलाक तक भी जा सकती है.

इसलिये सावधान..इससे पहले कि देर हो जाये..क्योंकि देर हुई तो बहुत देर हो जायेगी..सभी पति-पत्नियों से निवेदन है कि वे वोट डालने जायें और अपने इस संवेधानिक अधिकार का सही उपयोग करें..

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति