SUCCESS: आप कुछ दिन के लिए कमांडो क्यों नहीं बन जाते?

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
याद रखिये ज़िंदगी में मज़ा तब ही है जब आप कामयाब हैं. और कामयाब होने की चाहत के पीछे की वजह जितनी नाम है उससे कहीं ज्यादा पैसा है. और पैसे के लिए बहुत सारी चीज़ें चाहिए. दूसरे शब्दों में कहें तो सच ये है कि पैसा कमा लेना है एक आम आदमी की ज़िंदगी में सबसे बड़ी कामयाबी है और इस कामयाबी को पाने के लिए बहुत सी चीज़ों की ज़रूरत है.

कामयाबी पाने के लिए क्या चाहिए?

या तो आप जन्म से कामयाब हों याने कि उस परिवार में आपने जन्म लिया हो जहां जन्म से ही आपके मुँह में सोने की चम्मच लगी हो या फिर आपकी तकदीर इतनी उम्दा हो कि आप जिस चीज़ में हाथ लगाएं, उसी में कामयाबी आपके कदम चूमे. मान लो ये दोनों आपके पास नहीं है तो कोई हुनर आप ले कर आये हों अपने साथ जिससे आप कामयाब हो जाएँ. मान लो ये भी न हो आपके पास तो मेहनत करने की ताकत हो और जीतने की चाहत हो तो फिर कामयाबी आपसे दूर नहीं है. मान लो ये भी न हो आपके पास तो फिर क्या हो जो कर दे आपको कामयाब?

कामयाबी आपकी है अगर आप साधारण हैं

आप अगर असाधारण हैं तो आपको किसी की ज़रुरत नहीं, कामयाबी आपके पीछे पीछे चलेगी. लेकिन अगर आप साधारण हैं तो आपको हमेशा लगेगा कि आप साधारण ही मर जाएंगे एक दिन. आपको ये भी लगेगा कि कामयाबी का साधारण आदमी से कोई लेना देना नहीं होता. ये बात सच है लेकिन सच ये भी है कि साधारण व्यक्ति के लिए भी कामयाबी मुश्किल हो सकती है परन्तु असम्भव नहीं. वो कैसे, हम बताते हैं.

अगर आप प्यासे हैं तो पानी ढूंढ ही लेंगे

याद रखीये अगर आप साधारण हैं तो आप प्यासे नहीं हैं. आप आधी बोतल पानी के साथ दिन गुज़ार लेंगे. लेकिन जब आपकी बोतल का पानी समाप्त हो जायेगा तब कहानी वहां से नया मोड़ लेगी. जब तक पानी की एक बूँद भी आपके पास है आपको सच्ची प्यास नहीं है. जब बोतल बिलकुल खाली है और आप प्यासे हैं तो कहानी दरअसल यहां से शुरू होती है. और ये कहानी कामयाबी की है. समझ गए आप, कामयाबी आपके लिए जब जरूरत बन जाये तब भी कामयाबी के लिए लिए आपके चांस फिफ्टी-फिफ्टी ही होते हैं. पर जब कामयाबी आपके लिए ज़िंदगी और मौत का सवाल बन जाती है तो आप ज़िंदगी का ही चयन करते हैं. और यही है साधारण आदमी के लिए कामयाबी का फार्मूला.

साधारण आदमी की कामयाबी का फार्मूला

साधारण आदमी की कामयाबी का फार्मूला वो फार्मूला है जो उसे साधारण नहीं रहने देता. दरअसल उस फॉर्मूले पर चल कर व्यक्ति असाधारण ही हो जाता है. या फिर ऐसा कहें कि दरअसल व्यक्ति असाधारण ही होता है तभी उस फॉर्मूले के काबिल होता है. तो जान लीजिये अब क्या है वो फार्मूला जो है फर्क एक साधारण और असाधारण व्यक्ति के बीच का. कामयाबी के लिए ऐसी दीवानगी किसी के पास हो कि वह कामयाबी की चाहत में ज़िंदगी कुर्बान करने को भी तैयार हो जाए तो आप समझ लीजिये कि ये है वो फार्मूला जो है कामयाबी का फ़ार्मुला आम आदमी के लिए.

कैसे पैदा करें ये दीवानगी कामयाबी के लिए

कर सकते हैं. कैसे कर सकते हैं ये हमने आपको बताया है इस लेख की पहली पंक्ति में. जी, हाँ, इस लेख का टाइटल दूबर पढ़िए – वो है फार्मूला अपनी कामयाबी के लिए दीवानगी को पैदा करने के लिए. ये तीनों चीज़ें एक दूसरे से जुड़ी हैं. कामयाबी के लिए दीवानगी आपको बनाएगी कमांडो और कमांडो आपको दिलाएगा कामयाबी की मंज़िल. कैसे, ये भी बताते हैं हम आपको.

गिरा दीजिये हर दीवार आपके और कामयाबी के बीच की

अब ये आपको देखना है कि आपकी कामयाबी और आपके बीच में कितनी दीवारें खड़ी हैं. ये मत सोचिये कि आप ये दीवालें गिरा पाएंगे या नहीं. आप बस पहचान कर लीजिये उस हर चीज़ को जो आपको अपनी कामयाबी तक पहुँचने से रोकती है. ये दीवारें आप कैसे गिराएंगे ये हम आपको तब बताएंगे जब आप इन दीवारों की पहचान करके इनकी एक लिस्ट बना लेंगे.

अब बन जाइये कमांडो

आपकी ये लिस्ट ही आपकी कामयाबी का उलटा रास्ता है. कहने का मतलब है कि ये बाधाएं आप अपनेआप से दूर कर लेंगे तो आप कामयाबी तक पहुँच जाएंगे. इसका मतलब ये है कि आपको उलटा चलना है और दुनिया गोल है. आपको सीधे नहीं उलटी तरफ से अपने लक्ष्य को पाना है जिसमे एक भी व्यवधान न हो. पर यहाँ समझदारी बाधाओं से जूझने में नहीं बल्कि उनसे बच कर निकल जानेे में है. बस ये रास्ता जिस दिन आपने बना लिया, मंज़िल खुद दौड़ कर आपके गले लग जाने को बेचैन हो जायेगी. और ऐसा आप कर पाएंगे जब आप कमांडो बन जाएंगे.
कैसे बने कमांडो
कमांडो का अर्थ है अनुशासन. कमांडो का अर्थ है सिपाही. कमांडो का अर्थ है कामयाबी को पा कर ही वापस लौटने का जिद्दी योद्धा. अब क्या बचा है समझाने को. अपने और कामयाबी के बीच की हर दीवार को गिराने के लिये एक आम आदमी नहीं, एक कमांडो की जरूरत होती है. कामयाबी की दीवारें तो कमांडो के सामने वैसे ही आधी कमजोर हो जाती हैं, कमांडो की तरह ही मजबूत संकल्प वाला बनिये. पत्थर दिल बन कर कमजोरियों पर विजय पाइये और योद्धा की तरह ही सफलता के रण में उतरिये, आपको फिर आपके सिवा विजित होने से कोई नहीं रोक सकता.

 

(सफालता के इस पूरे रास्ते पर चलने के लिये आप मेरी पूरी मदद ले सकते हैं. मुझे 8076316074 पर फोन कीजिये मैं आपके साथ हूं.)

 

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति