Afghanistan: अभी और भी हो सकते हैं बम धमाके Kabul में

काबुल पर मंडरा  रहा है आतंकी साया. एक के बाद एक सीरीयल बम धमाकों ने अफगानी, अमेरिकी सहित उड़ाई तालिबानियों की नींद.  इन बम धमाकों के पीछे ISIS-K संगठन का हाथ बताया जा रहा है इसकी पुष्टि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने की थी.
अमेरिका ने इन सीरियल बम ब्लॉस्ट में जान से हाथ धो बैठने वाले  13 अमेरिकी सैनिकों का बदला भी इन धमाके के मास्टर माइंड को मौत के घाट उतार कर ले लिया है. जिसमें उस आतंकी का एक सहयोगी भी मारा गया.
फिर से काबुल एअरपोर्ट पर बम धमाकों  की जो आशंका जताई  जा रही थी उसका ऐलान कल अमेरिका ने सार्वजनिक तौर पर कर दिया है.  अमेरिकी राष्ट्रपति बॉईडेन ने कल यह चेतावनी दी है कि काबुल  हवाई अड्डे पर फिर से अगले 24 से 36 घंटे के बीच हमला हो सकता हैं.  इस संभावना की जानकारी अमेरिकी कमांडरों ने राष्ट्रपति  बाईडेन को दी. . इसलिये अमेरिका ने अपने सुरक्षा  सैनिक एअरपोर्ट प्रवेश द्वार से हटा लिये हैं और सुरक्षा  का जिम्मा तालिबानी प्रशासन को सौंप दिया है.
राष्ट्रपति बाईडेन ने यह दावा किया है कि काबुल में एक और आतंकी हमले को लेकर मौजूदा स्थिति को बेहद गंभीर बताया है. यह भी कहा है कि “मेरे कमांडर्स ने मझे बताया है कि अगले 24 से 36 घंटे के भीतर वहां एक और आतंकी हमला हो सकता है.”
बाइडेन ने आगे बताया कि काबुल में जो हमले हुए उन हमलावरों  पर कड़ी कार्रवाई का प्रोसेस जारी रहेगा और उन्होंने  यह भी कहा कि ” मैंने अपनी नैशनल सिक्यॉरिटी टीम के साथ बैठक की है. इसमें अफगानिस्तान में आईएसआईएस-के पर हवाई हमलों को लेकर चर्चा हुई.  मैंने उनसे कहा है कि काबुल में हमारे सैनिकों और निर्दोषों की जान लेने वाले आतंकी संगठन पर कार्रवाई जारी रखेंगे.”
एक तरफ यह भी खबर चर्चा में है कि तालिबान को अब  बदनामी का डर सता रहा है और वो इस दुष्प्रचार को अफगान इमामों की सहायता से रोकेगा.
अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि अफगानिस्तान के नांगहार में अमेरिका द्वारा ISIS-K ठिकाने पर ड्रोन स्ट्राइक जैसे हमसे आगे भी हो सकते हैं. अमेरिका का कहना  है कि अगर उनके जवानों को किसी भी तरह का नुकसान पहुंचाया गया तो इसकी कीमत ISIS-के को चुकानी पड़ेगी. अमेरिका के व्हॉईट हाऊस में राष्ट्रपति  बाईडेन द्वारा काबुल बम धमाकों  में जान गंवाये  उन 13 सैनिकों को शनिवार  श्रद्धांजलि दी गई