जरा बच के, Mobile App से Loan लेना कहीं प्राणघाती न सिद्ध हो जाये

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

 

सब जानते हैं कि दुनिया भर में खतरनाक माने गये हैं चीनी ऐप किन्तु भारत सरकार ने तो चीन के 250 से ज्यादा ऐप बैन कर दिये हैं. इसका कारण ये पाया गया है कि ये ऐप नागरिकों की सुरक्षा के लिए खतरा साबित हो सकते हैं. पिछले एक साल में सरकार ने जनहित में ये कदम उठाया है किन्तु अभी भी हमारे देश में बहुत से ऐसे मोबाइल यूज़र हैं जो इन खतरों के प्रति असावधान भी हैं और अपरिचित भी.

इसलिये जरूरत है सावधान होने की

सरकार ने आपको बचाने के लिये ये बड़ा कदम तो उठा लिया हे लेकिन अब आपको भी चीन और चीन के आइडिया पर चलने वाले उन मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाने की जरूरत है जो देश के नागरिकों के सम्मान से तो खेल ही रहे हैं, जीवन को भी संकट में डाल रहे हैं. वजह बहुत बड़ी है और वो ये है कि चीनी ऐप्स के माध्यम से लोन देने वालों से परेशान होकर कर्ज लेने वाले को जान देनी पड़ी रही है.

मिनटों में ही मिल जाता है छोटा लोन

भारत में इस काम के लिये शातिर चीन के 250 से ज्यादा महाशातिर ऐप काम कर रहे हैं. ये मोबाइल यूजर को चंद मिनटों में छोटा लोन मुहैया कराने का लालच देते हैं. और उसके बाद जब जरूरतमंद इनसे लोन ले लेते हैं तो उसके बाद समय से नहीं भर पाने पर ये करते हैं उनको ब्लैकमेल.

लोग कर रहे हैं आत्महत्या

क्या आप भरोसा करेंगे कि अब तक मीडिया की जानकारी में पिछले साल भर में ही दो दर्जन से ज्यादा लोगों ने इसी कारण आत्महत्या कर ली है. हाल के ही एक उदाहरण की बात करें तो दक्षिण भारत में एक गांव में बेटी के रोने का कारण पिता की आत्महत्या है. अब दादा जी बहू और उसके बच्चों को सम्हाल रहे हैं क्योंकि बेटा नहीं रहा और उसकी वजह यही चीनी ऐप से लिया गया कर्जा था.

वजह चीन के लोग और चीन के ऐप

मोबाइल के माध्यम से लोन लेने वाले भारत में आत्महत्या कर रहे हैं और इसके पीछे की वजह चीन के कुछ लोग और चीन के ऐप हैं. गृहस्वामी लोन चुका न पाने पर ऐप वालों के दबाव में आकर जान दे देता है और भरा-पुरा परिवार एकदम से बिखर जाता है. अचरज वाली बात ये है कि भारत में एक परिवार के महीने के मोबाइल फोन-इंटरनेट बिल के बराबर का लोन लेने पर देश के कुछ नागरिकों को जान देनी पड़ रही है.

पुलिस ने पकड़े चाइनीज़ दलाल

हैदराबाद पुलिस की एसपी का कहना है कि उन्होंने इस मामले में कई विदेशी लोगों की गिरफ्तारी की है जो चाइनीज हैं, चीन से आकर भारत में रह रहे हैं. पुलिस ने सक्रिय हो कर देश में हैदराबाद से लेकर गुरुग्राम तक छापेमारी की है और इस दौरान पुलिस को जानकारी मिली है कि इस काम को एक पूरा नेटवर्क अन्जाम दे रहा है और ये लोग चीन के रहने वाले हैं. झू वी उर्फ उर्फ लैम्बो इन्ही लोगों में से एक है जो भारत छोड़ कर चीन भाग रहा था उसी दौरान उसे दिल्ली एयरपोर्ट से धर लिया गया था.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति