BMC Jt. Commissioner साहेब ने समझा पानी है, पी गये सेनेटाइजर, फिर हो गया गजब

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

 

ऐसा भी होता है. और ऐसा हुआ है मुंबई में. ये घटना तो प्रकाश में आ गई क्योंकि मामला कमिश्नर साहेब का था लेकिन दुनिया भर में कई जगह ऐसा हुआ होगा जिनकी जानकारी सामने नहीं आई है. और इसकी वजह ही इसकी गलती है. और वो गलती ये है कि पानी पीने की बोतल में यदि सेनेटाइजर रखा जाएगा तो किसी से भी ये गलती हो सकती है कभी भी.

BMC जॉइंट कमिश्नर से हुई गलती

ये गलती मायानगरी मुंबई में हुई और BMC के जॉइंट कमिश्नर से हुई ये गलती जो गलती से पानी की जगह पी गए सैनिटाइजर. उसके बाद तो सोशल मीडिया पर देखते ही देखते कमिश्नर साहेब सुख्यात हो गए क्योंकि उनका ये वीडियो हो गया वायरल.

रमेश पवार जी अब विश्वविख्यात हो गये हैं  

आजकल सोशल मीडिया पर बृह्नमुंबई नगरपालिका (Brihanmumbai Municipal Corporation) के ज्वाइंट कमिश्नर रमेश पवार (Ramesh Pawar) का एक वीडियो बहुत तीव्र गति से वायरल हो रहा है,
और सब जान गए हैं कि उन्होंने गलती से क्या किया है लेकिन एक राहत की सांस सबने ली जब उन्होंने पता चला कि पावर साहेब सकुशल हैं.

बचने का कारण ये था

सेनेटाइजर में होता है केमिकल जो कोरोना के वायरस की जान लेने की जिम्मेदारी निभाता है. लेकिन अगर इसे कोई इंसान गलती से पी ले तो ये उसके लिए भी जानलेवा बन सकता है. कमिश्नर रमेश पवार जी बच गए क्योंकि समय रहते उन्होंने अपनी गलती सुधार ली और जो पीया था उसे गले की नीचे नहीं उतारा बल्कि अविलम्ब प्रभाव से थूक दिया और महाराष्ट्र प्रशासन के एक बड़े सरकारी अधिकारी के प्राण बच गए.

दरअसल हुआ ये

कुल घटना इस प्रकार है. दरअसल तीन दिन पहले हमारे कमिश्नर साहेब बजट पेश करने में व्यस्त थे और साल 2021-22 के लिए शिक्षा विभाग का बजट पेश करने का दायित्व वहन कर रहे थे. इस दौरान अचानक प्यास का अनुभव होने पर कमिश्नर साहेब ने अपने सामने रखी टेबल से पानी पीने के लिए एक बोतल उठा और लगे पानी समझ के पीने. एक-दो घूंट पीने के बाद उन्हें महसूस हुआ कि वे जो पी रहे हैं वह पानी नहीं अपितु सैनिटाइजर है.

लोगों ने रोका भी था

जब वे सेनेटाइजर पी रहे थे तो इस दौरान जिन्होंने उनको ये गलती करते देख लिया था वे लोग उन्हें रोकने के लिए भी आए, लेकिन तब तक वह घूंट भर चुके थे. बाद में असली पानी आ गया था, मगर कर्मचारी ने पानी लाने में ज़रा देर कर दी थी.

भाषण शुरू करने के पहले हुई घटना

बजट समारोह में अपना भाषण देने के पूर्व पवार साहेब ने विचार किया कि क्यों न भाषण शुरू करने से पहले पानी पी लिया जाए. मंच पर विराजमान पवार साहेब ने झटके से बोतल उठाई और मुँह से लगा ली. दरअसल टेबल पर पानी और सैनिटाइजर दोनों की बोतलें रखी हुई थीं, जो दिखने में एक जैसी थीं. पीते ही उनको पता चल गया कि उनसे गलती हो चुकी है. पवार साहेब स्वस्थ हैं किन्तु उनकी घटना ने हर उस व्यक्ति को सावधान कर दिया है जो कि कभी ये गलती कर सकता था.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति