Breaking News: दिल्ली विधानसभा में हुआ ऐतिहासिक नृत्य, केजरीवाल ने किया ब्रेक डांस

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
ये क्या हो रहा है ? दिल्ली में अब राजनीति होगी या नृत्य? माना कि प्रदेश की सरकार कलाप्रिय है लेकिन कला से पेट तो नहीं भरता प्रदेश की जनता का? विधानसभा जो प्रदेश की जनता के दुखदर्द के मुद्दों पर बात करती है अब नृत्यकला का अखाड़ा बनती जा रही है – ऐसा मानना है विरोधी पार्टियों का. जबकि न्यूज़ इण्डिया ग्लोबल का मानना है कि -ये भी सह लेंगे! अगर सरकार जनता के हित में कोई काम करे, तो ये भी सह लेंगे!

अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हुआ

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आज विधानसभा की छुट्टी कैंसल करके एक विशेष स्तर बुलाया था. आज प्रदेश की जनता के हित में बनाये जाने वाले बजट पर विचार करना था. लाखों और करोड़ों रुपयों का हिसाब-किताब चल रहा था कि अचानक कुछ ऐसा हो गया जो अविश्वसनीय सा लगा. विधानसभा के भीतर अचानक जो हुआ तो देखने वालों को अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हुआ. लोगों ने देखा कि बजट पर भाषण देते-देते अचानक अरविन्द केजरीवाल भावुक हो गए. केजरीवाल इतना भावुक हो गए कि अपना आपा खो बैठे और उठ कर नाचने लगे.

अन्ना हजारे ने किया नागिन डांस

जितना महत्वपूर्ण मुख्यमंत्री का ब्रेक डांस था उससे कहीं अधिक अहम उनके गुरु का नागिन डांस था. आज के विशेष सत्र में विशेष अतिथि के तौर पर अरविन्द केजरीवाल के गुरु और समाजसेवी अन्ना हजारे को आमंत्रित किया गया था. अन्ना ने कुछ देर पहले ही अपने भाषण में कहा था कि – ”अरविन्द, मुझे पता है तेरा दिल साफ़ है, तू जो चाहे कर, मैं हमेशा तेरे साथ हूँ!” शायद अपने इसी आशीर्वाद को फलीभूत करने के लिए अन्ना ने न केवल अहम मुद्दों पर केजरीवाल के प्रति सहमति प्रदर्शित की बल्कि वे तो केजरीवाल के ब्रेक डांस पर भी मोहित हो गए और स्वयं भी डांस करने लगे. चूंकि अन्ना को नागिन डांस ही पसंद है और आता भी केवल नागिन डांस ही है इसलिए उन्होंने नागिन डांस ही किया. उन्होंने अरविन्द की टोपी लेकर उससे नागिन का फन बनाया और जम कर डांस किया.

सब नाचे और जम कर नाचे

कुछ देर पहले तक दिल्ली विधानसभा में सरकारी काम काज चल रहा था और प्रदेश के बजट सत्र के इस अवसर पर देश-विदेश के बड़े बड़े मुद्दों पर सिर खपाया जा रहा था, सत्तापक्ष की तरफ से विचार रखे जा रहे थे और विरोधी पक्ष विरोध करने में लगा था. अचानक माहौल ही बदल गया. केजरीवाल खड़े हो कर ब्रेक डांस करने लगे और उन्होंने इतना सुन्दर ब्रेक डांस किया कि उन्होंने तो मौसम ही बदल दिया. उनको नाचता देख कर अन्ना नाचने लगे और इन दोनों को नाचता देख कर सारी विधानसभा नाचने लगी.

मनीष, गोपाल और संजय ने किया भांगड़ा  

इस विशेष सत्र के दौरान जिनको न ब्रेक डान्स आता था न नागिन डान्स, वे भांगड़ा पाने लगे. उप-मुख्यमन्त्री मनीष सिसौदिया भांगड़े में मस्त हो गये, फिर उनके साथ आये गोपाल राय  भी लगे भांगड़ा करने,  फिर संजय सिंह और तमाम आम-आदमी भी दे भांगड़े पे भांगड़ा – शुरू हो गये. जिनको भांगड़ा, ब्रेक और नागिन तीनों नहीं आते थे वो लूंगी डान्स करने लगे, हालांकि लूंगी किसी के पास नहीं थी.

डान्स इन्डिया डान्स वाले भी हुए प्रभावित

देखने वालों का कहना है कि पैंतालीस मिनट चले इस बजट सत्र में उनको काफी अच्छा डांस देखने को मिला. ऐसा डान्स उन्होंने किसी शादी-ब्याह में भी नहीं देखा था. बताया तो ये भी जा रहा है कि टीवी शो डान्स इन्डिया डान्स वाले भी एक विशेष एपीसोड के लिये केजरीवाल और साथियों से संपर्क कर रहे हैं. बाद में पता चला कि दरअसल सत्र के पहले हुए जलपान के दौरान दी गई ठंडाई में किसी ने भांग मिला दी थी जिसको पीने के बाद सारी विधानसभा मस्त हो गई थी.

 
======================================================

                                  वैधानिक चेतावनी

ये समाचार पूरी तरह से मनगढ़ंत है और यह होली के अवसर पर हमारे संवाददाता ने भांग खाकर लिखा है. ये समाचार पिछली रात उनको आये एक स्वप्न पर आधारित है. इसका किसी से भी कोई लेना देना नहीं है. यदि इस समाचार से किसी की धार्मिक, राजनीतिक, सामाजिक या आर्थिक भावनाओं को आघात पहुँचता है तो यह महज एक संयोग होगा और इसका जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ होली का त्यौहार होगा. बुरा न मानो होली है..
========================================================
बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है बुरा न मानो बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है बुरा न मानो होली है  
========================================================
 
 

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति