2015 में बाल बाल बचे थे बिपिन रावत, सेना का चीता हेलीकॉप्टर हुआ था क्रेश, एक बार फिर चमत्कार की उम्मीद

Bipin Rawat Helicopter Crash :  तमिलनाडु में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन का हैलीकॉप्टर क्रेश हो गया. CDS बिपिन रावत की हालत नाजुक बताई जा रही है. वायुसेना के Mi-17V5 हेलिकॉप्टर में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत, रक्षा सहायक, सुरक्षा कमांडो और वायुसेना के पायलट समेत कुल 14 लोग सवार थे जिनमें से 13 लोगों के मौत की पुष्टि हो गई है. इससे पहले साल 2015 में भी बिपिन रावत हेलीकॉप्टर क्रैश (2015 Helicopter Crash) की घटना में बाल-बाल बचे थे. तब बिपिन रावत लेफ्टिनेंट जनरल (Lt Gen.) के पद पर थे.

2015 में भी हुआ था हेलीकॉप्टर क्रेश

इससे पहले भी जनरल बिपिन रावत हेलीकॉप्टर क्रेश हो गया था. जिसमें वो बाल बाल बचे थे. साल 2015 को बिपिन रावत समेत तीन अधिकारी सेना के चीता हेलीकॉप्टर पर सवार थे जो कि उत्तर पूर्वी राज्य नगालैंड के दीमापुर (Nagaland’s Dimapur) जिले में उड़ान भरने के कुछ सेकंड बाद ही क्रैश हो गया था. तब हेलीकॉप्टर महज 20 फुट की ऊंचाई पर था. हेलीकॉप्टर पर सवार अधिकारियों को मामूली चोटें आई थी. तब सेना की तरफ से बताया गया था कि इंजन फेल होने के कारण हेलीकॉप्टर क्रैश होने की घटना हुई थी.

चमत्कार की उम्मीद

जनरल बिपिन रावत एक बार फिर से हेलीकॉप्टर क्रेश का शिकार हुए हैं. कुन्नूर में हुआ हादसा बेहद दर्दनाक बताया जा रहा है इसमें सवार सभी 14 लोगों में से 13 की मौत की पुष्टि कर दी गई है. वहीं अब तो बस किसी चमत्कार का इंतजार किया जा रहा है ताकि इस बार भी रावत मौत को मात देकर वापसी करें. हालांकि उनकी हालत नाजुक बताई जा रही है.

वायुसेना ने दिए जांच के आदेश

भारतीय वायु सेना ने दुर्घटना के तुरंत बाद एक बयान में कहा कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत को ले जा रहा एक IAF Mi-17V5 हेलीकॉप्टर, तमिलनाडु के कुन्नूर के पास दुर्घटना का शिकार हो गया. दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिए गए हैं.