Chanu देश की जान, कर लिया Olympic में पहला पदक अपने नाम

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

 

साइखोम मीराबाई चानू ने रच दिया इतिहास. Tokyo Olympics 2020 में पहला पदक मिल गया भारत को जो दिलाया है चानू ने. महिला वर्ग के 49 किलोग्राम के वेटलिफ्टिंग प्रतियोगिता में उन्होंने भारत के लिये पदक जीत कर भारतीय दल के शुभ आरंभ की दिशा में संकेत दिया है और दुनिया को बताया है कि भारत की तैयारी कितनी उत्तम और उत्कृष्ट दर्जे की है.

भारत को दिलाया पहला पदक

मीराबाई चानू 2021 के टोक्यो ओलम्पिक में भारोत्तोलन में मेडल जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी है. मीराबाई ने स्नैच में 87 किलो और क्लीन एंड जर्क में 115 किलोग्राम वजन का भार उठाया. साथ-साथ कुल 202 किलोग्राम का भार उन्होंने उठाया.

मल्लेश्वरी लाईं थी कांस्य पदक 

इससे पहले सिडनी के ओलंपिक 2000 में कर्णम मल्लेश्वरी ने महिला भारोत्तोलन में भारत के लिये कांस्य पदक जीता था. इन्होंने प्रतियोगिता में कुल 240 किलोग्राम का वजन उठाया था. स्नैच में 110 किलोग्राम तथा क्लीन एंड जर्क में 130 किलोग्राम भार उठाया. उस वक्त के ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली वें पहली भारतीय महिला थीं.

आरंभिक जीवन और करियर

चानू का जन्म 8 अगस्त 1994 को हुआ था. चानू भारत के मणिपुर से संबंध रखती हैं. साल 2014 से ही वें 48 किलोग्राम की अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेती रही हैं. इन्होंने कई राष्ट्रीय और सम्मानित पुरस्कार जीते हैं. मीराबाई चानू ने राष्ट्रमण्डल खेल में 48 किलोग्राम वर्ग के वेटलिफ्टिंग में रजत पदक जीता तथा गोल्ड कोस्ट में हुए 2018 के संस्करण में स्वर्ण पदक जीत कर वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया. वर्ष 2017 उनके लिये बड़ी उपलब्धियों का साल रहा. अनाहाइम, संयुक्त राज्य अमेरिका मे विश्व भारोत्तोलन चैम्पियनशिप के आयोजन में उन्होंने स्वर्ण पदक जीता.

अन्य उपलब्धियाँ

वर्ष 2014 राष्ट्रमण्डल खेलों में भारोत्तोलन प्रतिस्पर्धा में 48 किलोग्राम का भार उठाकर रजत पदक जीता. मीराबाई चानू ने कुल 170 किलो वजन उठाया, जिसमें 75 स्नैच में और 95 क्लीन एण्ड जर्क शामिल है. 2017 साल में महिला वर्ग के 48 किग्रा श्रेणी का भार उठाकर 2017 वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग में स्वर्ण पदक जीता जो 85 किलोग्राम स्नैच और 109 किलोग्राम क्लीन एण्ड जर्क में था.

राष्ट्रमंडल खेलों में पहला गोल्ड दिलाया देश को

साल 2018 राष्ट्रमण्डल खेलों में चानू ने 196 किग्रा, जिसमे 86 kg स्नैच में तथा 110 किग्रा क्लीन एण्ड जर्क में था. यह भार उठाकर उन्होंने भारत को पहला गोल्ड मेडल दिलाकर देश का नाम रोशन किया. 48 किग्रा वर्ग के राष्ट्रमण्डल खेलों का रिकॉर्ड भी चानू ने तोड़ दिया.

बढ़ गई आशायें भारत की

अब टोक्यो ओलम्पिक 2021 में रजत पदक की जीत दर्ज कराकर भारत के खिलाड़ियों का देश और खेल के प्रति सफल समर्पण तो सिद्ध कर ही दिया है, भारतीयों के पदक विजय की आशाओं को भी बढ़ा दिया है.

 

https://newsindiaglobal.com/news/trending/tokyo-olympic-medal-tally-kisne-jeete-kitne-padak/17719/