Chocolate Day पर दीजिये पड़ोसन को चॉकलेट

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

आज है चॉकलेट डे. आज कुछ ऐसा कीजिये कि बस मज़ा आ जाए.. कुछ हट कर कीजिये आप आज..

सारी दुनिया अपनी गर्ल फ्रेंड को चाॉकलेट देती है.. कुछ अपनी बीबियों को भी दे देते हैं.. आप न गर्ल फ्रेंड को दो, न बीबी को..आप पड़ोसन को दो चॉकलेट.

ज्यादा कुछ यही करना है एक कामचलाऊ टाइप की चॉकलेट खरीदनी है उस पर रैपर बहुत बढ़िया वाला लगाना है. रोज़ की तरह ऑफिस निकल जाना है.

घर से निकलते ही कुछ दूर चलते ही गाड़ी टिका दीजिये कहीं कोने में. फिर निकल पढ़िए मंज़िल की तरफ. पड़ोसन के घर की तरफ अपोज़िट दिशा से जाइएगा.

हाँ, अब ये भी बताना पड़ेगा आपको. पड़ोसन कैसी? पड़ोसन होती हैं तीन प्रकार की – एक कुत्ता घुमाने निकलती है एक सब्जी लेने निकलती है और एक अपने पति को बाय कहने बाहर निकलती है. कुत्ते वाली से तो दूर रहना, वो अच्छी हो सकती है पर उसका कुत्ता नहीं..वो अपनी मालकिन के लिए कितना पजेसिव हो सकता है आप सोच भी नहीं सकते. बाय कहने बाहर आने वाली अपनी लक्ष्मण रेखा नहीं लांघती इसलिए वो भी किसी काम की नहीं है. बस सब्जी लेने बाहर आने वाली पड़ोसन ही है जो आपके लिए बनी है.

पर ध्यान रहे कि आपकी इस पड़ोसन की शादी न हुई हो – अगर शादी भी हुई हो तो पता कर लेना उसका पति दुबला पतला शरीफ टाइप का ही हो – कोई दूसरी ब्रांड का पति हो तो रिस्क मत लेना. सेहत ठीक रहेगी तो जीवन ठीक रहेगा. जीवन है तो सब कुछ है.

अब मान लो कुँवारी हो ये पड़ोसन आपकी तो आपको ये भी ध्यान रखना होगा कि उसका बॉयफ्रेंड आसपास न हो कि एक तरफ वो आपसे ले रही हो चॉकलेट और दूसरी तरफ सड़क की दूसरी तरफ हो रहा हो आपका इंतज़ार.. धूम धड़ाम की आवाज़ से उसका ध्यान उधर चला जाएगा और धराशायी हालत में आपकी अगर वो आपको देख लेगी तो आपकी बेइज्जती कम होगी दिल ज्यादा टूट जाएगा..

दिमाग में इतना सब ध्यान रखने के बाद उसके घर से थोड़ी दूरी पर खड़े हो कर कीजिये प्रतीक्षा..भले ही दिन भर खड़े रहना पड़े..लंच तो है ही बैग..चिन्ता की कोई बात नहीं.. जब आपकी मोहतरमा घर से निकलें हिलते हिलते तो आप भी लग जाइये पीछे हिलते हिलते..

सब्जी वाले से पहले ही सेटिंग कर लेना. ज्यों ही वो सब्जी की दूकान पर पहुंचे पीछे से आप भी स्पीड बढ़ा कर पहुँच जाना. हाय का जवाब हेलो से न मिले तो सब्जी वाले का रोल शुरू हो जाएगा.. दीदी, आपके बगल में ही रहते हैं भाई साहब !..

तब आप मुस्कुरा के फिर हाय बोल देना. इस बार भी हेलो न बोले तो इशारा कर देना सब्जी वाले को. सब्जी के साथ आपकी चॉकलेट भी टिका देगा मैडम को. वो पूछेगी ये क्यों तो वो बोलेगा आज चॉकलेट डे है न इसलिए आपको सब्जी के साथ फ्री.

अब यहां से फिर चल पड़िये अपनी जिद्दी पड़ोसन के पीछे पीछे ..मौका लगते ही उनके बगल में पहुँच जाइये और धीरे से उनकोर बता दीजिये – ये हमारी तरफ से है.. वो बोलेगी अरे ये क्या बत्तमीजी है.. तो बोल देना कि ये बत्तमीजी नहीं प्यार है ..और वो सब्जी वाला भी हमारा ही आदमी है.

अब मान लो आपकी पड़ोसन जिद्दी पड़ोसन निकल जाये तो ऐसे में पहले तो वो आपके कान के नीचे बजायेगी, फिर  उसकी चीख पुकार सुन कर दो चार शरीफ टाइप के लोग आपकी धुलाई करने दो मिनट के भीतर घटनास्थल पर आ टपकेंगे..

तब आप देर मत करना एक ही काम करना – जिधर रास्ता दिखे उधर की तरफ मुँह उठा के फूल स्पीड में ऐसे निकलना कि उसेन बोल्ट का भी मुँह खुला रह जाए.. हाँ, भागते समय एक समझदारृ करना उसके हाथ से अपनी चॉकलेट ले के निकलना..

लेकिन इसके बाद आपको घर नहीं जाना है सीधे स्कूटर उठाना है और ऑफिस निकल जाना है. देर ही सही दुरुस्त तो आये.. चॉकलेट खुद खा लेना और उसको दिल से दुआ देना कि आज तो तूने मेरा दिन बना दिया आज.. आज चॉकलेट डे पर मुझे तुझसे मिली है चॉकलेट..चॉकलेट डे पर तेरे हाथों से मिलेगी चॉकलेट, ये तो मैंने सोचा ही नहीं था !!