Delta Plus Variant: क्या यही बनने वाला है Corona की तीसरी लहर?

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
डेल्टा प्लस वेैरिएंट के बढ़ते कहर ने पूरे देश में सनसनी फैला दी है. रूप बदल-बदल कर सामने आने वाले इस वायरस ने देश ही नहीं, दुनिया की भी आर्थिक कमर तोड़ सी दी है. यद्यपि पहले भी देश प्लेग,चेचक आदि महामारियों के प्रकोप का सामना करता रहा है और हर बार तकलीफ के साथ ही सही उनसे उबरने में कामयाब रहा है. कोरोना की इस वैश्विक महामारी से भी भारत की जीत का संघर्ष जारी है.

ग्यारह राज्यो में मिले हैं नये मामले

हाल ही में मिली जानकारी के अनुसार इस नये वैरिएंट के देश के 11 राज्यों में 51 केस दर्ज हुए हैं.  खतरे की स्थिति लगातार बढ़ती जा रही है. जिन राज्यों में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस के मामले मिले हैं उनको केन्द्रीय सरकार द्वारा अलर्ट कर दिया है.

यही है तीसरी लहर

दूसरे शब्दों में कहें तो डेल्टा प्लस वैरिएंट को कोविड-19 की तीसरी लहर के रूप में देखा जा रहा है. इस वैरिएंट से  संक्रमित लोगों में सामान्य कोविड सिम्टम के इतर बोलने और साँस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण भी पाये गये हैं. यह संक्रमण  एक व्यक्ति से दूसरे तक बड़ी तेज़ी से  फैलता है. इसके बढ़ते हुए खतरे को ध्यान में रखते हुए  सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जा रहे हैं.

उत्तराखंड सरकार ने शुरू की जाँच

महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश तथा केरल से आने वाले यात्रियों की  शत-प्रतिशत कोविड टेस्टिंग के लिये उत्तराखंड सरकार ने जौलिग्रेंट हवाई-अड्डे पर जाँच के आदेश जारी किए हैं जैसा कि डेल्टा प्लस वैरिएंट के 30 सैंपल जांच के लिए उत्तराखंड से NCDC दिल्ली भेजे गए हैं. स्वास्थ्य-केंद्र  की रिपोर्ट आने के  बाद ही ये पता लग पायेगा कि ये वायरस संक्रमण डेल्टा प्लस वैरिएंट के हैं या नहीं.

 

https://newsindiaglobal.com/news/top-5/savdhan-ab-ayaaya-delta-aur-delta-plus/16659/