Environment को एक और बड़ी राहत – सड़कों पर दौड़ेंगी Hydrogen Cars

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

अब पेट्रोल-डीज़ल का ज़माना जा रहा है अब बिजली के वाहन और उनके बाद हाइड्रोजन चालित वाहन भी उनका विकल्प बनते जा रहे हैं. अब हवा में ज़हर घुलना कम हो जाएगा – पर्यावरण के लिए ये एक शुभ समाचार है.

भारत विश्व पर्यावरण सम्मेलन में कई बार इस बात की घोषणा कर चुका है कि वह यथासम्भव वायु-प्रदूषण के विरुद्ध अधिक से अधिक कदम उठाएगा और पर्यावरण शुद्धि के वैश्विक अभियान में अहम् भूमिका निभाएगा.  भारत अपनी बात पर अभी भी कायम है और इसका सबूत मिला है हालिया तस्वीर में जो देखी गई भारत में. भारत में हाइड्रोजन कार लांच भी हो गई है और देश के सड़क परिवहन मंत्री ने बाकायदा उसका जायज़ा भी ले लिया है.

भारत की पहली हाइड्रोजन कार सड़क पर उत्तरी और उस पर सवारी की देश के  केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने. नितिन गडकरी ने आज अपने निवास से संसद तक की दूरी इसी कार में तय की. इस कार की सक्षमता और सफलता के प्रति आश्वस्त सड़क परिवहन मंत्री ने  बताया कि ये कार पूरी तरह से वातावरण के लिए अनुकूल है।

पहली हाइड्रोजन कार की लांचिंग का श्रेय जाता है कार निर्माता कम्पनी टोयोटा को. टोयोटो किर्लोस्कर मोटर ने इस हाइड्रोजन कार का नाम दिया है टोयोटो मिराई . केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के हाथों लॉन्च हुई इस पहली ग्रीन हाइड्रोजन कार की विशेषता ये है कि इसके साइलेंसर से धुएं की जगह पानी निकलेगा. इसके अतिरिक्त ये कार एक सिंगल चार्ज में 650 किमी तक चलने में सक्षम है.  पेट्रोल -डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों ने आम आदमी के लिए अपने दुपहिया ,तिपहिया और चौपहिया वाहनों के लिए ईंधन की खपत और उसके बजट को लेकर समझदार होने की जरूरत पैदा कार दी है. इसी समस्या को देखते हुए सरकार ने हाइड्रोजन कार के विकल्प को बेहतर माना है जो कि पर्यावरण की दृष्टि से भी उत्तम है जो कि पर्यावरण में बिल्कुल भी प्रदूषण पैदा नहीं करती.

कुल मिलकर खुशखबरी ये है कि अब भारत की सड़कों पर हाइड्रोजन कारें चलती दिखाई देंगी और इसके लिए ज्यादा इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा. एक लम्बे इंतज़ार के बाद आखिर देश में हाइड्रोजन कार के संचालन का श्री गणेश हो गया है और इसमें पहली बार देश के केंद्रीय मंत्री ने सफर भी किया है , ज़ाहिर ही है कि ये कार एक लम्बी यात्रा के लिए तैयार है. नितिन गडकरी का कहना हैं कि ये कार भारत का फ्यूचर है. परिवहन मंत्री के वक्तव्य में यह निर्णायक संदेश स्पष्ट है कि पर्यारण मुक्ति की दिशा में भारत की सड़कों पर इस कार का सफर अब शुरू ही हो गया है.