उम्मीदों के बाजार में प्रभास की ‘साहो’, क्या है फिल्म की कमजोर कड़ी?

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

खास बात ये भी है कि फिल्म के दमदार और खतरनाक एक्शन सीन्स को करने के लिए प्रभास ने किसी बॉडी डबल का सहारा नहीं लिया है..

जबर्दस्त एक्शन थ्रिल से भरपूर फिल्म ‘साहो’ रिलीज के लिए तैयार है. दर्शकों के इंतज़ार की घड़ी अब खत्म होने वाली है. फिल्म को रुपहले पर्दे पर दीदार करने के लिए दर्शकों में बहुत बेसब्री है. फिल्म को लेकर उनकी दीवानगी का अंदाज़ा इस बात से लग जाता है कि फिल्म के टीज़र को यूट्यूब पर 80 मिलियन से ज्यादा बार देखा गया है जो कि किसी भी भारतीय फिल्म के टीज़र को देखने की दूसरी अधिकतम संख्या है. इससे ज्यादा ‘2.0’ ही महज ऐसी फिल्म रही है जिसे 105 मिलियन से अधिक बार देखा गया है. फिल्म को जिस तरह से बनाया, संवारा और प्रमोट किया जा रहा है उससे तय लगता है कि फिल्म ‘साहो’ कामयाबी की नई परिभाषा गढ़ेगी.      

इन दिनों सिनेमा के शौकीन बड़ी बेताबी से फिल्म ‘साहो’ की रिलीज़ का इंतजार कर रहे हैं, आखिर इंतज़ार करें भी तो क्यों नहीं, इस फिल्म में उनके दिलों पर राज करने वाले ‘बाहुबली’ जो दिखाई देने वाले हैं. प्रभास और श्रद्धा कपूर स्टारर फिल्म ‘साहो’ के लिए दर्शकों की दीवानगी लगातार बढ़ती जा रही है. फिल्म की कास्टिंग, प्रमोशनल स्ट्रैटजी, बजट, फिल्म निर्माण में इतना लम्बा वक्त, साथ ही ‘बाहुबली’ सीरीज से कामयाबी की ऊंची उड़ान भरने वाले प्रभास फिर कोई कामयाबी की इबारत लिख पाएंगे या नहीं – जैसे तमाम फिल्म से जुड़े सवालों के हल से बाबस्ता होने के लिए दर्शकों को फिल्म का इंतज़ार बेताबी से है.

आखिर क्यों सबसे खास है ‘साहो’ ?

फिल्म ‘साहो’ को बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई है, फिल्म के हर दृश्य के लिए जबर्दस्त मेहनत की गई है और पैसा भी पानी की तरह बहाया गया है. फिल्म को बनाने में खासा वक्त लगा है लेकिन इन सबसे बेपरवाह होकर मेकर्स ने फिल्म को इत्मिनान से संवारा और गढ़ा है. फिल्म के हर एक्शन सीन में जान फूंकी गई है और ये एक्शन सीन्स ही ‘साहो’ को खास भी बनाते हैं. फिल्म के नब्बे फीसदी स्टंट सीन्स रियल हैं, जिन्हें वास्तव में फिल्माया गया है. खास बात ये भी है कि इन दमदार और खतरनाक एक्शन सीन्स को करने के लिए प्रभास ने किसी बॉडी डबल का सहारा नहीं लिया है. हर एक्शन सीन्स के लिए उन्होंने जी तोड़ मेहनत की है. एक्शन सीन्स परफेक्ट और रियल लगे इसके लिए प्रभास ने पहले उन पर महारथ हासिल की फिर उन सीन्स को फिल्माया गया है. फिल्म में बेहतरीन लोकेशन्स, महंगे सेट्स, टॉप क्लास ऐक्शन डायरेक्टर और स्पेशलिस्ट के अलावा टॉप क्वालिटी के VFX का जबर्दस्त इस्तेमाल किया गया है. फिल्म की झलक देख कर पता चलता है कि फिल्म के लिए जुनून की हद से बाहर मेहनत की गई है ताकि ‘साहो’ आला दर्ज़े की फिल्म साबित हो सके.    

बॉलीवुड में डेब्यू करते ही सबसे महंगे स्टार बने प्रभास, बॉलीवुड के खान भी रह गए पीछे

फिल्म ‘साहो’ को हिंदी, इंग्लिश, तमिल, तेलुगु और मलयालम पांच भाषाओं में रिलीज़ किया जा रहा है. साउथ के सबसे कामयाब ऐक्टर्स में से एक प्रभास इस फिल्म के जरिए बॉलीवुड में एंट्री कर जा रहे हैं. ये कहना गलत नहीं होगा कि फिल्म ‘साहो’ से ही प्रभास का बॉलीवुड में डेब्यू होने जा रहा है. प्रभास साल 2002 से दक्षिण भारतीय फिल्मों में काम करते रहे हैं और इस दौरान उन्होंने तकरीबन 17 फिल्में की. हालांकि उनका शुमार साउथ के सबसे कामयाब एक्टर की फेहरिस्त में होता आया है लेकिन असल पहचान और शोहरत उन्हें राजामोली की बाहुबली सीरीज से मिली है. इस सीरीज ने उन्हें कामयाबियों की नई बुलंदियों पर पहुंचा दिया और दक्षिण के साथ साथ हिंदीभाषी दर्शकों के बीच भी वो छा गए. उन्हें उत्तर भारतीय दर्शकों से वही प्यार और अपनापन मिला जो किसी भी बॉलीवुड सुपरस्टार को मिलता है. खबर ये भी है कि ‘साहो’ के लिए प्रभास को जो रकम मिली है वो आज तक किसी भी भारतीय कलाकार को हासिल नहीं हुई है, चाहे वो साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत हों या फिर बॉलीवुड के खान. खबरों की मानें तो इस फिल्म के लिए उन्हें 100 करोड़ मेहनताने के साथ साथ मुनाफे का भी हिस्सेदार बनाया गया है. बॉलीवुड में डेब्यू के साथ साथ इतना ज्यादा मेहनताना मिलना किसी सपने से कम नहीं है. लेकिन देखा जाए तो सही मायने में प्रभास के स्टारडम का इम्तहान अब है. जिस शिखर पर प्रभास ‘बाहुबली’ के बाद पहुंचे हैं, उस शिखर पर वो आगे भी रहेंगे या नहीं – ये ‘साहो’ की मुकम्मल तस्वीर के बाद ही साफ हो पाएगा. सही मायने में ‘साहो’ की क़ामयाबी ही हिंदुस्तानी सिनेमा में प्रभास के कद को कायम रख पाएगी.  

भारत की दूसरी सबसे महंगी फिल्म है ‘साहो’

आगामी 30 अगस्त को रिलीज होने जा रही फिल्म साहो एक भारी भरकम बजट की फिल्म है, इस फिल्म की लागत लगभग 350 करोड़ की है, जो कि रजनीकांत अक्षय कुमार की फिल्म 2.0 के बाद अभी तक की हिंदुस्तान की सबसे बड़ी बजट वाली फिल्म है. फिल्म 2.0 की लागत 550 करोड़ रुपए के ऊपर रही थी. लेकिन एक्शन सीन्स पर खर्चे के मामले में ‘साहो’ अभी तक की सभी भारतीय फिल्मों में सबसे अव्वल है. खबरों की मानें तो इस फिल्म के एक एक्शन सीन को फिल्माने के लिए 90 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं. इस एक्शन सीन को ज़िंदा करने के लिए 37 गाड़ियों और 5 ट्रक्स को तबाह कर दिया गया. 

किस तरह के किरदार में नजर आएंगे प्रभास और श्रद्धा?

फिल्म की कहानी 2000 करोड़ की चोरी के इर्दगिर्द घूमती है. फिल्म ‘साहो’ में प्रभास ग्रे शेड लिए हुए एक पुलिसवाले के किरदार में नज़र आएंगे लेकिन वो वाकई पुलिस वाले हैं या नहीं ये फिल्म देखने के बाद ही पता चलेगा. वहीं श्रद्धा कपूर क्राइम ब्रांच की अधिकारी के किरदार में दिखाई देंगी. फिल्म में नील नितिन मुकेश और मंदिरा बेदी भी अहम किरदार में हैं जो नेगटिव रोल में दर्शकों की धड़कनों को कम ज्यादा करते नजर आएंगे. फिल्म में एक्शन. सस्पेंस और थ्रिल के साथ साथ श्रद्धा और प्रभास के रोमांस का तड़का भी है. उड़ती कारें, तेज रफ्तार से भागती बाइक, बमबारी जैसे कई सीन हैं फिल्म ‘साहो’ में, जो कम ही देखने को मिलते हैं.

‘साहो’ से जुड़ी वो रोमांचक बातें जो फिल्म देखने को मजबूर कर देंगी     

1.एंट्री सीन शूट करने में लगे थे 36 घंटे

साहो में प्रभास के एंट्री सीन को शूट करने में पूरे 36 घंटे लगे थे. करीब तीन दिन तक शूट किए गए इस एक सीन के लिए कई बार रीटेक हुआ. इसकी शूटिंग दुबई बुर्ज खलीफा में भी हुई थी.

2. पहली बार बॉलीवुड की फिल्म में इस्तेमाल हुई Triumph Street Triple RS बाइक

फिल्म में प्रभास हॉलीवुड फिल्मों में चेजिंग सीन के लिए इस्तेमाल होने वाली Triumph Street Triple RS बाइक चलाते नजर आएंगे, ये पहला मौका है जब किसी बॉलीवुड फिल्म में इस बाइक का इस्तेमाल हुआ है. इसमें ब्रेम्बो M50 ब्रेक्स भी हैं, साथ ही राइडर इसे अलग-अलग मोड में ड्राइव भी कर सकता है.

3. महज़ एक सीन की शूटिंग के लिए खर्च कर दिए 20 करोड़
फिल्म की शूटिंग के लिए मुंबई में बने बांद्रा-वर्ली सी-लिंक का सेट हैदराबाद के रामोजी राव फिल्म सिटी में बनाया गया, जहां ‘साहो’ का सिर्फ एक सीन शूट किया गया. जानकारी के मुताबिक मेकर्स सिक्युरिटी कारणों के चलते रियल लोकेशन पर शूटिंग नहीं करना चाहते थे, इसीलिए प्रोडक्शन डिजाइनर साबू साइरिल ने 20 करोड़ रुपए खर्च कर रामोजी फिल्म सिटी में बांद्रा-वर्ली सी-लिंक का हूबहू सेट बनाया.

4. एक फाइट सीन की तैयारी में लगे 100 दिन
फिल्म के मेकर्स के मुताबिक ‘साहो’ का एक फाइट सीन 100 दिनों की तैयारी के बाद शूट हो पाया. सीन के फाइनल शूट से पहले सिनेमेटोग्राफर मधी की टीम के 80 कैमरामैन और हॉलीवुड के एक्शन कोरियोग्राफर केनी बेट्स की एक्शन टीम के 120 लोगों ने मिलकर अबुधाबी की लोकेशन पर ही 8 दिन तक कैमरा एंगल्स, मूवमेंट्स का टेस्ट शूट हुआ था, इसके बाद प्रभास और दूसरे एक्टर्स के साथ मिलकर 20 दिन तक फाइट सीन की शूटिंग हुई.

5. ‘साहो’ ने तोड़ा रोहित शेट्‌टी का रिकॉर्ड
रोहित शेट्टी अपनी फिल्मों में गाड़ियां उड़ाने वाले एक्शन सीक्वेंस के लिए जाने जाते हैं. इस मामले में साहो के डायरेक्टर सुजीत ने उनका रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है. रोहित की फिल्मों में जहां एक दर्जन गाड़ियां ब्लास्ट में उड़ती थीं, वहीं साहो में सुजीत ने एक्शन सीक्वेंस को रियलिस्टिक टच देने के लिए 37 कार और 5 ट्रक को तबाह कर डाला. साहो का एक्शन अवेंजर्स और ट्रांसफॉमर्स जैसी फिल्मों का एक्शन डिजाइन कर चुकी टीम ने डिजाइन किया है.

ये हो सकती है फिल्म साहोकी कमजोर कड़ी !

साल की मोस्ट अवेटिड फिल्म ‘साहो’ को कामयाबी के सारे लिबास पहनाएं गए हैं, इसे संवारा और निखारा भी गया है बावजूद इसके कभीकभार जब कामयाबी के लिबास की सिलाइयां कहीं से खुल या उधड़ जाती हैं तो सच बेलिबास हो कर सामने आ जाता है. फिल्म की सिलाई का जिम्मा सीधे लफ्ज़ों में कहा जाए फिल्म को डायरेक्ट करने की जिम्मेदारी सुजीत रेड्डी को दी गई है. देखा जाए तो फिल्म डायरेक्शन में उनका तजुर्बा लगभग न के बराबर है. सुजीत रेड्डी के खाते में अभी तक दक्षिण भारत की एक ही फिल्म ‘रन राजा रन’ ही रही है, इस फिल्म को कोई खास कामयाबी भी नहीं मिली. ऐसे में ‘साहो’ जैसी बड़ी बजट वाली फिल्म के निर्देशन की  जिम्मेदारी मिलना अपने आप में हैरान करने वाली बात है. भारी भरकम बजट और इतनी बड़ी स्टार कास्ट के साथ सुजीत कितना न्याय कर पाए होंगे, ये अभी कहना मुश्किल है. वैसे इतना जरूर है कि फिल्म को अगर दर्शक नकार देते हैं तो इसका पूरा ठीकरा सुजीत के ऊपर फूटना तय है. लेकिन इसका उलट फिल्म की कामयाबी को लेकर जैसे कयास लगाए जा रहे हैं अगर फिल्म वैसी ही कामयाब मिलती है तो प्रभास की तरह सुजीत भी भारतीय निर्माताओं की पहली पसंद बन जाएंगे. लेकिन इसके लिए जरूरी है कि सुजीत की कारीगरी में कोई नुस्ख न हो और उनका लगाया गया हर टांका मजबूत और एक दूसरे से कस कर बंधा और गुंथा हुआ हो.

बरहराल मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक फिल्म ‘साहो’ लागत के साथ साथ मुनाफा भी मोटा कमा लेगी. खबर है कि रिलीज से पहले ही फिल्म ने 300 करोड़ रुपये की कमाई कर डाली है. ये रकम थियेटर के राईट्स के जरिए मिली है, जबकि अभी सैटेलाइट और ओटीटी प्लेटफॉर्म के राईट्स के जरिए इकट्ठी की जाने वाली रकम को जोड़ा नहीं गया है. अभी तक प्रभास श्रद्धा स्टारर ‘साहो’ को लेकर लोगों की दीवानगी देख कर ऐसा ही लग रहा है कि 30 अगस्त से बॉक्स ऑफिस मुस्कराएगा और फिल्म उम्मीदों के पंखो पर ही परवाज भरेगी.  

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति