Team India के पंच-परमेश्वर: ये पांच खिलाड़ी हैं England पर भारत की जीत के हीरो

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
टीम इण्डिया वैसे तो सितारों से सजी हुई है लेकिन इस बार इंग्लैण्ड को चेपोक के मैदान पर भारी पटखनी दी है इन पांच खिलाड़ियों की मेहनत ने. टीम इण्डिया के इन पांच धुरंधरों ने न केवल अपनी मेहनत इस जीत के लिए झोंक दी बल्कि अपनी क्रिकेट की कला का बेमिसाल परिचय भी दिया है. आइये देखते हैं कौन हैं ये पांच परमेश्वर.

इस तरह जीता इन्डिया

चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में इंग्लैन्ड के विरुद्ध खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने चौथे ही दिन ही अंग्रेजों को पराजित कर दिया. कैप्टन कोहली की टोली ने अंग्रेजों को 317 रनों से धो डाला. टीम इन्डिया ने मैच जीतने के लिए उनके सामने 482 रन का दुष्कर लक्ष्य रखा था जो उनके लिये भारी पड़ी और पूरी इंग्लिश टीम सिर्फ 164 रन पर ही पैवेलियन लौट गई. इस प्रकार चार मैचों की टेस्ट श्रंखला 1-1 से बराबर हो गई है.

शर्मा जी का बेटा

ये हैं रो-सुपर-हिट शर्मा अर्थात रोहित शर्मा. पिछले कुछ टेस्ट मैचों में कुछ खास न कर पाना रोहित के बल्ले को अखर रहा था और चेन्नई के मैदान पर टीम इन्डिया के इस सलामी बल्लेबाज ने शानदार वापसी की. अपनी लय हासिल कर के रोहित ने पुराने अंदाज में तूफानी बल्लेबाजी की और पहली पारी में 161 रनों का ढेर लगा दिया. 231 गेंदों में 18 चौके और दो छक्कों वाली इस पारी के दौरान अंग्रेज गेंदबाजों को रोहित के खिलाफ कोई अवसर नहीं मिला.

चेपौक का लोकल बॉय

चेन्नई के मैदान में इस लोकल ब्वॉय को आप जीत का असली हीरो कहा जा सकता है जिसे हम जानते हैं रविचंद्रन अश्विन के नाम से. इस अनुभवी गेंदबाज ने न केवल गेंदबाज़ी में इंग्लिश टीम के धुर्रे उड़ा दिए बल्कि बल्लेबाज़ी से भी मैदान में अंग्रेज़ों की ज़िंदगी मुश्किल कर दी. टीम इंडिया के इस अनुभवी गेंदबाज ने बल्ले और गेंद दोनों से जबरदस्त योगदान दे कर टीम इंग्लैण्ड को पराजय का प्रसाद चखाया. पहली पारी में 43 रन देकर पांच विकेट उखाड़ने के बाद दूसरी पारी में शतक मार दिया, और 148 गेंदों में 14 चौके और एक छक्के की सहायता से 106 रन की शतकीय पारी खेली. इसके बाद मैच की अगली पारी में गेंदबाजी के कमाल से फिर 53 रन देकर तीन अहम विकेट चटकाए.

गुजरात की कलाई

ये हैं अपने स्पिनर अक्षर पटेल जिन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में ही कमाल कर दिया. अंग्रेजों के विरुद्ध दूसरे टेस्ट में स्पिनर अक्षर पटेल ने मिले अवसर को नहीं गंवाया और विराट कोहली से 302 नंबर की डेब्यू कैप लेने के बाद दूसरी पारी में उन्होंने पांच विकेट उखाड़े. और ऐसा करके उन्होंने कीर्तिमान भी रच डाला अब अक्षर पटेल डेब्यू मैच में 5 विकेट लेने वाले वह दुनिया के नौवें खिलाड़ी बन गए हैं. दोनों पारी में मिलाकर उन्होंने सात विकेट अपने नाम किये. पहली पारी में 40 रन देकर दो विकेट चटकाए तो दूसरी पारी में अक्षर ने 60 रन देकर पांच विकेट लिये.

उत्तराखंड की प्रतिभा प्रचंड

बताने की आवश्यकता नहीं कि यहां हम बात कर रहे हैं अपने विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत की. ऋषभ के बारे में लोगों का मानना था कि वह वन डे और ट्वेंटी-ट्वेंटी मैचों के ही खिलाड़ी हैं किन्तु उनको अज्ञानी सिद्ध करते हुए ऋषभ का बल्ला टेस्ट मैचों में भी खुलकर बोला है. ऋषभ पंत ने पहली पारी में नौ चौके मार कर 149 गेंदों में नाबाद 67 रन जोड़े. ऋषभ ने पहली पारी में अजिंक्य रहाणे के साथ मिल कर चौथे विकेट के लिए 162 रन की शतकीय साझेदारी की. इतना ही नहीं विकेट के पीछे भी ऋषभ का ने कई बेहतरीन कैच लपके और चीते की फुर्ती से स्टंपिंग को अंजाम दिया.

कप्तानों के कप्तान कोहली

विरोधियों को मिला था मौक़ा जब पहली पारी में भारतीय कप्तान विराट कोहली शून्य पर आउट हो गए थे और उस समय मोईन अली ने उन्हें अपना शिकार बनाया. लेकिन इसके बाद जरूरी वक्त पर कप्तान कोहली का बल्ला चुप नहीं बैठा. एक तरफ दूसरी पारी में जब टीम इन्डिया लड़खड़ा रही थी तब कोहली मैदान पर डट कर खेले और अश्विन के साथ एक शानदार साझेदारी की. 149 गेंदों में 62 रन की अर्धशतकीय पारी के दौरान उन्होंने सात चौके जड़े और फिर इस बार भी वे मोईन अली के ही शिकार बने.