Corona Vaccine लगवाना इसलिये जरूरी है

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
यहाँ दिये जा रहे हैं तीन एक्स-रे के चित्र. इनको गौर से देखिये. इनमें से पहला चित्र है एक स्वस्थ्य आदमी के सीने का. इस एक्सरे में इस व्यक्ति की पसलियों के बीच का काले रंग से ढका क्षेत्र बता रहा है कि इसके फैफड़े और धमनियां साफ सुथरी हैं . इन पसलियों से होकर एक्स किरणें आसानी से बिना रूकावट के बाहर  आ रहीं हैं.

अब देखिये दूसरा चित्र. ये भी एक एक्सरे है जो एक चेन-स्मोकर व्यक्ति का है. ये व्यक्ति पिछले 40 वर्षों से तीन पैकेट सिगरेट रोज पीता आ रहा था. इस चैन स्मोकिंग के आदी आदमी के फेफड़ों का एक्स-रे देखिये. इसके भीतर फैंफडों में सिगरेट के धुए से निकोटिन और कालौंच इतनी भर गई है कि एक्स रे की किरणें फैफडों के आर-पार जाने के पूर्व कालौंच से टकराकर इधर-उधर बिखरती दिख रही . इसका परिणाम ये है कि इस व्यक्ति के सीने का पूरा हिस्सा कोहरे जैसा छितरा-बिखरा दिखाई देने लगा है.

अब आपके सामने है तीसरा एक्स रे. ये एक अड़तालिस साल के हट्टे-कट्टे नवयुवक का है. यह व्यक्ति पूरी तरह स्वस्थ था, और उसे अपने गठीले शरीर पर बहुत गर्व था. ये व्यक्ति कोरोना की चपेट में आ गया और तब उसे 14 दिन अस्पताल में भर्ती किया गया. इलाज तो हो गया और  वह बाहर भी आ गया किन्तु  बीमारी के तीन माह बाद आब हालत ये है कि जब वह 25 कदम चलता है तो हॉंफने लगता है . इतना ही नहीं उसे दिन रात “आक्सीजन” लेने की आवश्यकता पड़ने लगी है.

आप गौर से इस तीसरे व्यक्ति के एक्सरे को देखिये. इस व्यक्ति के फेफड़े  चेन-स्मोकिंग करने वाले दूसरे व्यक्ति के मुकाबले  ज्यादा खराब दिखाई दे रहे हैं.
इसलिये किसी भी राजनीतिक पार्टी के भड़काऊ लोगों की बेसिर-पैर की बातों में आप न आयें. इस तरह के लोग अपनी राजनैतिक कुण्ठाओं से पीड़ित होकर कोरोना वेक्सीन के बारे में दुष्प्रचार करने में जुटे हुए हैं. जबकि सत्य ये है कि ये वेक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है. इसको लगवाने पर किसी तरह का कोई खतरा आप पर नहीं आयेगा. वैक्सीन के हर पहलू को वैज्ञानिकों  जॉचा परखा है. अगर आप चाहते हैं कि आपके फैंफड़े सुरक्षित रहें और उनकी दुर्गति उस कोरोना पीड़ित व्यक्ति के एक्सरे में दर्शाए फैंफडों जैसी न हो जाए, तो आपको तुरन्त वैक्सीन लगवाना चाहिये जब भी आपको आपके नंबर आने की सूचना दी जाये.