Indian Railways : गरीबों के लिये भी अब मुश्किल न होगा AC डिब्बे में सफर

“मोदी है तो मुमकिन है.” भारतीय रेलवे की सेवाओं में एक बड़ा और महत्वपूर्ण बदलाव होने जा रहा है. जहाँ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने अवलंबित रेलवे स्टेशनों का नवीनीकरण रॉकेट स्पीड से करवाया वहीं उन्हें आज के दौर की आवश्यक सुविधाओं के साथ लैस भी किया है. इसका सबसे ताज़ा उदाहरण गुजरात के गाँधीनगर का रेलवे स्टेशन है जिसे आधुनिक हवाई-अड्डे जैसी सुविधाएँ उपलब्ध कराई गई हैं.

मिलने वाली हैं नई सुविधायें

अब इसी विकासीय सूची में एक और नया अध्याय जुड़ने जा रहा है. भारतीय रेलवे की थर्ड क्लास और जनरल स्लीपर कोच की अवस्था से हम सभी भली-भाँति परिचित हैं. यात्रियों की ठूसम-ठूँस,गर्मी और बदबूदार वातावरण का दृश्य आँखों के समक्ष उभर आता है जब जनरल कोच के बारे में सोचते हैं. साफ-सफाई की भारी कमी और परेशानियों के अंबार का नाम है जनरल डिब्बा. इसी कारण पर्सनल हाईजीन को ध्यान में रख कर रोगियों और इंफैक्शन से शीघ्र प्रभावित होने वाले लोगों के लिये इसमें सफर करना संभव नही हो पाता है. इन डिब्बे

महंगे हवाई टिकट अब और नहीं

जो वर्ग 2 या 3 टीयर एसी अफोर्ड कर सकते हैं वे इस रेगुलर-जनरल कोच में सफर करना नही चाहते परन्तु बाकि लोगों की मजबूरी उन्हें स्लीपर में सफर करने के लिये बाध्य करती है.कई लोग इसी वजह से ट्रेनों की बजाय मँहगें हवाई-टिकट खरीद कर यात्रा करते है.

हर कोई कर सकेगा अब एसी में सफर

सभी यात्रियों के लिये ये एक बड़ी खुशखबरी है कि न सिर्फ मध्यमवर्गीय बल्कि सर्वहारा वर्ग भी अब एयरकंडिशन्ड कोच में सफर कर पायेगा. यह किसी उपहार से कम न होगा जिसमें मुसाफिरों को कम कीमत पर उच्च-स्तरीय सुविधाएँ मुहैया कराई जायेगी.

रेल कोच बनाई जो रही हैं अत्याधुनिक

रेल यात्रियों की सुविधा के लिए लगातार भारतीय रेल के कोचों को आधुनिक बनाने की रेलवे की मुहिम के अंतर्गत सस्ते दरों पर सभी लोग अब एसी में सफर की सुविधा उठा सकेंगे क्योंकि अब ट्रेनों में इकोनॉमी एसी 3 टियर कोच लगाये जा रहे हैं. इसी वर्ष अर्थात 2021 में ही बहुत सी मेल और एक्‍सप्रेस ट्रेनों में 806 इकोनॉमी एसी 3 टियर कोच लगाए जायेंगे जिनका किराया सस्ता होगा.

इकॉनामी एसी 3 टियर कोच हो रहे हैं तैयार

रेलवे मंत्रालय देश के रेलवे कारखानों में इकोनॉमी एसी 3 टियर कोच तैयार करवा रहा है. जैसे-जैसे कोच तैयार होते जाएंगे, वैसे-वैसे उनको ट्रेन में जोड़ कर चलाना शुरू कर दिया जायेगा. कुल मिला कर कहने का अर्थ ये है कि अब ज्यादा इन्तजार नहीं करना पड़ेगा. वैसे, जन-सुविधा की इस नई योजना के अंतर्गत कुछ कोच तैयार करके ट्रेन में लगाये भी जा चुके हैं.

 

https://newsindiaglobal.com/news/india/new-delhi-railway-station-is-going-to-look-like-an-american-airport/12916/