IPL 2020: संन्यास के बाद अंबाती रायुडू (Ambati Rayudu) का ज़बर्दस्त कमबैक, काश! वर्ल्ड कप में ड्रॉप न किया जाता

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

जिस बल्लेबाज की बैटिंग से ऑल टाइम सुपरहिट माही यानी महेंद्र सिंह धोनी कायल हो जाएं उस बल्लेबाज को वर्ल्ड कप की टीम से ऐन मौके पर ड्राप कर दिया गया था. इस हादसे से वो बल्लेबाज इतना आहत हुआ कि उसने क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया था. लेकिन अब जब उसने संन्यास से दोबारा वापसी की तो टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के पास नाखुन कुतरने के अलावा दूसरा कोई चारा नहीं था. वो बल्लेबाज़ और कोई नहीं अंबाती रायुडू है जिसने आईपीएल के पहले मैच में शानदार और यादगार पारी खेल कर आलोचकों को करारा जवाब दिया है. 307 दिनों बाद बल्लेबाजी करने उतरे रायुडू ने मुंबई इंडियन्स के आक्रमण को छिन्न-भिन्न कर दिया.

आईपीएल के पहले मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स के सामने मुंबई इंडियन्स ने कमोबेश वही हालात पैदा कर दिए थे जो वर्ल्डकप 2019 में न्यूजीलैंड ने टीम इंडिया के सामने बनाए थे. टीम इंडिया ने वर्ल्डकप में 5 रन पर 3 विकेट गिरा दिए थे. लोकेश राहुल, रोहित शर्मा और विरोट कोहली पवेलियन लौट चुके थे. उस वक्त अंबाती रायुडू बल्लेबाजी में उतरते अगर वो टीम में होते. लेकिन उन्हें तो वर्ल्ड कप के लिए शास्त्री-विराट ने अपनी टीम में फिट नहीं पाया. नतीजतन जो दूसरे खिलाड़ी रखे गए वो भी आयाराम-गयाराम की तरह खेले और टीम इंडिया 240 का स्कोर छू नहीं सकी. सेमीफाइनल में बाहर हो गई. इसके साथ ही विराट कोहली ने वर्ल्ड कप जीतने का सुनहरा मौका गंवा दिया.

ऐसी ही स्थिति चेन्नई सुपरकिंग्स के सामने भी उस वक्त आ गई जब उसके दो विकेट फटाफट गिर गए. मुरली विजय और शेन वाटसन के आनन-फानन में आउट होने पर मैदान में उतरे अंबाती रायुडू. रायुडू के सामने न सिर्फ मुंबई इंडियन्स के 163 का टारगेट था बल्कि संन्यास के बाद किसी बड़े टूर्नामेंट में पहली कमबैक पारी का भी ज्यादा दबाब था. इसके बावजूद मुश्किल समय में अंबाति रायुडू ने जो बैटिंग की उसने न केवल चेन्नई सुपरकिंग्स का जीत से खाता खुलवाया बल्कि सबको हैरान भी कर दिया.

अंबाती रायुडू ने 48 गेंदों पर 71 रन बनाए जिसमें 6 चौके और 3 बड़े छक्के शामिल हैं. मैन ऑफ दी मैच रायुडू की इस पारी को देखकर रवि शास्त्री और विराट कोहली जरूर एक बार सोचेंगे कि अगर उस सेमीफायनल में अंबाति रायुडू होते तो शायद मैच का रिज़ल्ट कुछ और होता. हाल ही में रिटायरमेंट लेने वाले टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज सुरेश रैना ने भी कहा था कि अगर अंबाती रायडू 2019 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का हिस्सा होते तो भारत जरूर खिताब जीत जाता.

अंबाति रायुडू को 3 साल से वर्ल्ड कप की टीम के लिए तैयार किया जा रहा था. वो मिडिल ऑर्डर के मजबूत बल्लेबाज थे. वर्ल्ड कप से पहले न्यूजीलैंड के टूर में अंबाति रायुडू ने ज़बर्दस्त पारियां खेल कर भारत को जीत भी दिलाई थी. वो 4 नंबर पर बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे थे. इसके बावजूद ऐन वर्ल्ड कप में उन्हें ड्राप कर दिया.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति