जान, तुमने कमाल कर डाला ! : NIG Poetry

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

मेरी बीवी की पारखी नजर ने कहा –
कितना आर्टिस्टिक है मकड़ी का जाला!
एक ही पोस्ट चार बार फारवर्ड कर दी
जान तुमने तो कमाल कर डाला !
तेरे होंठों के बोल बड़े मारक हैं
लाठी बल्लम तीर तलवार भाला !
रसभरी तू है मगर चाहत तेरी
जैसे कोई सूखा हुआ नदी नाला !
कितनी ख़ुशी की खबर है तेरा मायके जाना
तुझको ले जाने भाई तेरा आला रे आला !
देख कर के मुझे अच्छे मूड में
काम वाली ने पूछा -काय झाला ?