कमलनाथ के OSD पर IT रेड की इनसाइड स्टोरी, दिल्ली में हुई रिहर्सल और फिर ‘स्पेशल 300’ टूरिस्ट बस से पहुंचे MP!

सौजन्य- twitter
Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ और उनके करीबियों पर आयकर विभाग को छापेमारी में तकरीबन 9 करोड़ रुपये कैश बरामद किए हैं. ये छापेमारी शनिवार रात ढाई बजे तीन राज्यों दिल्ली, गोवा और एमपी के 50 अलग-अलग ठिकानों पर पड़े. इतनी बड़ी आईटी रेड और इतने संवेदनशील और हाईप्रोफाइल ठिकानों पर आयकर विभाग ने इतनी आसानी से छापा नहीं मारा है. सूत्रों के मुताबिक इस पूरी छापेमारी में आयकर विभाग के 300 से ज्यादा अधिकारी जुटे हुए हैं और छापेमारी अबतक जारी है. इतनी बड़ी छापेमारी का प्लान दिल्ली में बना. दिल्ली में आईटी टीम के रडार पर मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ काफी समय पर थे. दरअसल, इससे पहले जब वो पुलिस विभाग में कार्यरत थे तब भी उन पर विभागीय जांच चल रही थी. लेकिन साल 2004 में पुलिस की नौकरी छोड़कर वो पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के ओएसडी बन गए और फिलहाल वो सीएम कमलनाथ के ओएसडी हैं.

आयकर विभाग ने प्रवीण कक्कड़ के इंदौर और भोपाल के घरों पर छापा मारकर भारी मात्रा में कैश बरामद किया. साथ ही उनके भांजे प्रतीक जोशी के भी अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी जारी है. प्रवीण कक्कड़ के भोपाल में एक ठिकाने और इंदौर के 4 ठिकानों पर रेड मारी गई. वहीं कमलनाथ के ओएसडी रह चुके आरके मिगलानी के दिल्ली के ठिकानों पर छापेमारी की गई. बाताया जा रहा है कि इस छापेमारी के अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले से तार जुड़ते जा रहे हैं जिसका खुलासा बाद में हो सकता है.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति