क्या होगा संजय राउत का? – poochta hai desh

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

नवनीत राणा (Navneet Rana) ने दिल्ली पुलिस में संजय राउत (Sanjay Raut) और शिव सेना (Shiv Sena) के खिलाफ शिकायत की है. खुद सब कुकर्म कर रहे हैं, अब संजय राउत अपना रुदाली रोदन करेंगे कि मुझसे “बदला ले रही है केंद्र सरकार”

नवनीत राणा लोकसभा की सदस्य हैं और संजय राउत राज्यसभा के दोनों दिल्ली के निवासी है इस नाते अब दिल्ली में ही होगा सब करे धरे का फैसला.

और इसीलिए नवनीत राणा ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना को पत्र लिख कर संजय राउत और शिव सेना के खिलाफ शिकायत कर मांग की है कि उसके खिलाफ SC/ST Act में कार्यवाही की जाये.

शिकायत में नवनीत ने कहा है कि वो अनुसूचित जाति (चमार) से आती हैं और संजय राउत ने उन्हें और उनके पति को बंटी बबली 420 कहा और जातिसूचक शब्दों का उपयोग किया उनके खिलाफ .

नवनीत ने अपनी शिकायत में ये भी कहा है कि संजय राउत ने धमकी दी कि वो उन्हें जमीन के अंदर 20 फुट गाढ़ देगा और शिव सेना ने उनके घर गुंडे भेज कर तोड़फोड़ कराई .

ये सब बातें संजय राउत को अपने किये का भुगतान पाने के लिए काफी हैं -SC/ST Act में गिरफ़्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत भी नहीं मिलती .

मुंबई में बैठ कर शिव सेना अपने अहंकार में सब कुकर्म कर रही है लेकिन दिल्ली पुलिस ने कांड कर दिया तो संजय राउत को रोने-धोने से फुरसत नहीं मिलेगी. फिर वे रो रो के कहेंगे कि मोदी बदले की भावना से काम कर रहे हैं

अभी कुछ दिनों में अच्छा तमाशा देखने को मिलेगा –नवनीत राणा पर हाथ तो डाल दिया है मगर उद्धव हाथ जला बैठेंगे.

ऐसा कहते हैं मोदी जी की सलाह पर नवनीत मातोश्री नहीं गई थी हनुमान चालीसा का पाठ करने . जब मोदी जी की बात का उसने इतना मान रखा तो मोदी जी भी उसे कुछ तो वापसी गिफ्ट देंगे –

संजय राउत केंद्र सरकार पर रोज जहर उगलते रहे हैं कि वो केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरूपयोग कर
रही है विरोधियों के खिलाफ जबकि शिव सेना खुद राज्य पुलिस और अन्य एजेंसियों को जेब में रख कर
विरोधियों को जेल में डाल रही है .

संजय राउत अभी तक ED के फेरे में थे. ईडी अर्थात एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट ने उनकी बीवी की सवा 11.15 करोड़ की संपत्ति जब्त की है लेकिन वो अभी गिरफ्तार नहीं हुई है मगर संजय राउत पर कार्यवाही हुई तो इनकी गिरफ़्तारी तय है SC/ST Act में.