Live Election2019: प्रियंका की गंगा-यात्रा का दूसरा दिन, पहले मां विंध्यवासिनी देवी के दर्शन फिर ख्वाजा के दर पर मांगी दुआ, बीजेपी ने बताया वोट-यात्रा

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी तीन दिन की गंगा यात्रा पर हैं. आज उनकी यात्रा का दूसरा दिन है. प्रियंका गांधी ने आज मिर्जापुर में मां विंध्यवासिनी देवी के दर्शन किए.

प्रियंका गांधी सड़क के रास्ते मिर्जापुर  पहुंची लेकिन उससे पहले उन्होंने मां विंध्यवासिनी देवी के दर्शन किए. मां विंध्यवासिनी देवी के मंदिर में पहुंचने से पहले मंदिर परिसर में मां के दर्शन के लिए लाइन में लगे भक्तों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए.

इसके बाद वो ख्वाज इस्माइल चिश्ती की दरगाह पहुंची. दरगाह पर जियारत कर उन्होंने दुआ मांगी.

भदोही पहुंची प्रियंका ने यूपी में योगी सरकार के दो साल पूरे होने पर निशाना साधा. प्रियंका ने कहा कि भले ही योगी सरकार ने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया हो लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है और लोग बहुत परेशानियों में जीने को मजबूर हैं.

वहीं उन्होंने पीएम मोदी पर पलटवार करते हुए कहा कि ‘वो कहते हैं कि हमने 70 सालों में क्या किया? अब इस तर्क की भी एक्सपायरी डेट होती है. वो अब बताएं कि उन्होंने पिछले पांच सालों में क्या किया है.’

प्रियंका की गंगा-यात्रा का अंतिम पड़ाव है वाराणसी. प्रियंका यहां बाबा विश्वनाथ के दर्शन करेंगीं. प्रियंका की गंगा-यात्रा को  लेकर सियासत भी तेज हो गई है. बनारस में जिला मजिस्ट्रेट को एक पत्र लिखकर अनुरोध किया गया है कि प्रियंका को ईसाई होने की वजह से सनातन मंदिर में प्रवेश की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए.

इससे पहले सोमवार को प्रियंका ने प्रयागराज में लेटे हनुमान के दर्शन किए थे और फिर गंगा के तट पर पूजा-आरती की थी. पूजा के बाद उन्होंने अपनी बोट यात्रा की शुरुआत की थी.  

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सोमवार यानी आज से प्रचार अभियान शुरू कर दिया है. प्रियंका  ने अपने प्रचार का आगाज प्रयागराज किया और वो उन्होंने इसे गंगा यात्रा का नाम दिया है. प्रयागराज से गंगा में बोट यात्रा करते हुए प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगी.

प्रयागराज से बनारस की गंगा-यात्रा कर प्रियंका गांधी सॉफ्ट हिंदुत्व का संदेश देने की कोशिश कर रही है. बनारस पहुंच कर प्रियंका गांधी भी ये कह सकें कि उन्हें मां गंगा ने बुलाया है और वो यूपी की बेटी हैं. साल 2014 में पीएम मोदी ने खुद को गंगा का बेटा बताकर लोगों की भावनाओं में जगह बनाने का काम किया था. लेकिन इस बार प्रियंका गांधी ने गंगा-यात्रा से अपनी राजनीति की नई शुरुआत की है.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति