मोदी का साथ न छोड़ना, देशवासियों!

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

कल मेरे जन्मदिन पर अनेक मित्रों से बधाई और शुभकामना संदेश भेजे थे और अभी भी भेज रहे हैं -मैं हर किसी को उत्तर नहीं दे सका जिसके लिए मुझे क्षमा करें –

सभी मित्रों को मेरे प्रति उनके अपार प्रेम के लिए मैं हृदय से आभार प्रकट करता हूँ.

आशा करता हूं कि आप सभी का प्यार मुझे भविष्य में भी ऐसे ही मिलता रहेगा- आप सभी का प्रेम मुझे देश और हिंदुत्व के लिए लिखने की प्रेरणा देता है.

आप सभी से एक विनती है –देश एक विकट परिस्तिथिति से गुजर रहा है – देश के आंतरिक और बाहरी दुश्मनों के निशाने पर केवल मोदी और योगी ही नहीं हैं, पूरा हिन्दू समाज है.

इसलिए किसी भी हालत में मोदी का साथ मत छोड़िये –छोटी मोटी बातों में उलझ कर उस पर सवाल मत कीजिये.

10 रुपये दाल के दाम बढ़ गए, सब्जी 5 रुपये किलो महंगी हो गई, पेट्रोल, गैस ये सब बातें समय के अनुसार ठीक हो जाएँगी –मगर मोदी गया तो फिर कुछ नहीं रहेगा और ये ही सच है.

एक बार दिल पर हाथ रख कर सोचो कि जो ओवैसी मुसलमानों को मोदी के लिए नफरत के सिवाय कुछ नहीं दे सकता, उसके खिलाफ मुसलमान कभी कुछ क्यों नहीं बोलते.

विपक्ष दलों के लोग राहुल गाँधी समेत अपने किसी नेता से सवाल नहीं करते फिर मोदी के ही समर्थक छोटे छोटे मसलों पर उसको क्यों कटघरे में खड़ा करने को आतुर रहते हैं.

फ़िरोज़पुर में हुए षड़यंत्र के बावजूद कांग्रेस मोदी पर निशाना साध रही है जबकि खुद बेनकाब हो गई है, ऐसे में मोदी या उसके किसी मंत्री पर निशाना साधना अपने को मोदी समर्थक मानने वाले किसी व्यक्ति के लिए उचित नहीं है.

मगर आज ये देख कर दुःख हुआ कि एक वरिष्ठ राष्ट्रीय पत्रकार जो मोदी के प्रशंशक हैं, ने अमित शाह के लिए फिरोजपुर कांड के संदर्भ में ऐसे शब्द कह दिए जो कोई बड़े से बड़ा कांग्रेसी भी नहीं कह सकता, जैसे शाह जैसा नाकारा व्यक्ति कोई है ही नहीं.

अमित शाह तो कुछ भी नहीं, मोदी को भी उसके अपने समर्थकों ने कई बार अग्निपरीक्षा देने के लिए बाध्य किया है –जबकि मोदी ने देश और समाज के हर वर्ग के लिए सब कुछ दिया है, यहां तक उन मुसलमानों को भी जो ओवैसी और अखिलेश को सुन कर ताली बजाते हैं.

ये हो सकता है हमारे कुछ मित्र जो मोदी समर्थक हैं, वो मोदी, शाह और योगी से भी ज्यादा समझ रखते हों पर ऐसे समय में अपनी समझदानी बंद कर लें तो बेहतर होगा.

ऐसे लोगों की तलाश रहती है कांग्रेस को क्यूंकि उनसे ही कांग्रेस को मिलते हैं आइडिया मोदी पर हमला करने के लिए –ऐसे लोग कांग्रेस के लिए ब्रेड एंड बटर का काम करते हैं !

(सुभाष चन्द्र)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति