New Modi Cabinet: ज्योतिरादित्य बने देश के नये Aviation Minister

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
मोदी कैबिनेट में 7 जुलाई हुआ महत्वपूर्ण विस्तार कुछ अहम परिवर्तनों का प्रतिनिधि भी बना है. कांग्रेस छोड़ कर पार्टी में आये बीजेपी की एक जमाने की वरि्ष्ठ नेत्री राजमाता सिंधिया के पौत्र को अपनी पार्टी में पूरी प्रतिष्ठा प्रदान की गई है.  आज कांग्रेस के महानेता राहुल गांधी से इस बारे में प्रश्न अवश्य किये जाने चाहिये.

सिंधिया को मिला सम्मान

मोदी काबीना में चयनित सभी नवनियुक्त मंत्रियों को विभिन्न मंत्रालयों का कार्य-भार सौंपा गया है| मध्य प्रदेश राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को नागरिक उड्डयन मंत्रालय सौंपा गया है जो एक वर्ष पूर्व ही कांग्रेस छोड़ कर अपनी पार्टी में वापस आये हैं. अटकलें लगाई जा रही थी कि सिंधिया को रेल या मानव संसाधन विकास मंत्रालय दिया जा सकता है|

पांचवें मंत्री के तौर पर शपथ ली

राष्ट्रपति भवन में आयोजित शपथ समारोह में सिंधिया ने मोदी कैबिनेट के पाँचवे मंत्री के रूप में शपथ ली| पूर्व में ज्योतरादित्य सिंधिया पहले (मनमोहन सिंह सरकार )में आईटी और कम्युनिकेशन मंत्री के पद पर रह चुके हैं। इनके पिता स्वर्गीय माधवराव सिंधिया भी देश के नागरिक उड्डयन मंत्री रह चुके हैं। जब पीवी नरसिम्हा राव की सरकार थी तब वे 1991 में सिविल एविएशन मिनिस्टर के पद पर थे परन्तु एक वर्ष के भीतर ही विमान- दुर्घटना के उपरान्त इन्होंने इस पद से इस्तीफा दे दिया था।

मोदी कैबिनेट के अन्य नये मंत्री

मोदी मंत्रीमंडल में बड़े पैमाने पर परिवर्तन देखा गया। जहाँ  प्रकाश जावड़ेकर, रविशंकर प्रसाद और हर्षवर्धन जैसी कई नामचीन हस्तियों की मोदी मंत्रिमंडल से विदाई हुई वहीं सिंधिया, राणे,अनुप्रिया को अपनी योग्यतानुसार अवसर प्रदान किया गया। पीयूष गोयल को कामर्स-उद्योग और कपड़ा मंत्रालय तथा फूड प्रोसेसिंग मंत्री के तौर पर दायित्व प्रदान किया गया है।

अश्विनी वैष्णव व हरदीप पुरी को चुनौतीपूर्ण दायित्व

हरदीप पुरी को पेट्रोलियम मंत्री बनाया गया साथ ही वे शहरी विकास मंत्री के पद पर भी बने रहेंगे। गिरिराज सिंह ग्रामीण विकास मंत्रालय पद पर प्रोन्नत हुए हैं| पुरुषोत्तम रुपाला डेयरी और मत्स्य विकास मंत्रालय विभाग देखेगें|  पूर्व आईएएस अधिकारी अश्विनी कुमार वैष्णव जिन्होंने आईआईटी कानपुर और व्हार्टन बिजनेस स्कूल से पढ़ाई की है, नये रेल मंत्री बनाये गये हैं। वहीं थावरचंद गहलोत के इस्तीफे दे देने का लाभ डा वीरेंद्र कुमार को मिला है| वे दूसरी बार मोदी कैबिनेट में शामिल कर लिये गये हैं|

राणे, सोनोवाल और मांडवीय को मिली जिम्मेदारी

श्री नारायण राणे को माइक्रो स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज मंत्रालय दिया गया है। पोर्ट्स, शिपिंग और वॉटरवेज के साथ आयुष मंत्रालय की जिम्मेदारी का भार सर्बानंद सोनोवाल को दिया गया है। रामचंद्र प्रसाद सिंह इस्पात मंत्री बनाए गए हैं और मनसुख मांडवीय स्वास्थ्य मंत्री | भूपेंद्र यादव को श्रम मंत्री के पद के लिये तो चुना ही गया है, उन्हें पर्यावरण मंत्रालय भी सँभालने की ज़िम्मेदारी दी गई है|