होली से पहले कांग्रेस और राहुल गाँधी के चेहरे का रंग उड़ा

होली मुबारक नहीं रही कांग्रेस को..

0
933

बहन प्रियंका लाल साड़ी पहन राधे माँ का मरदाना अवतार बनी हुई हैं और गोरे रंग के भाई राहुल सफ़ेद कुर्ता पजामा पहन कर के मोदी मोदी “चोर चोर- राफेल राफेल’ के गीत गाते घूम रहे हैं –मगर होली से एक दिन पहले पूरी कांग्रेस और राहुल गाँधी का चेहरा “बदरंग” हो गया.

सबसे पहली खबर आई कि गोधरा में 58 कारसेवकों को जिन्दा जला कर मारने के आरोपित याकूब अब्दुल गनी पातड़िया को साबरमती केंद्रीय जेल में स्थापित विशेष SIT अदालत ने आजीवन
कारावास की सजा सुनाई –याकूब 27 फरवरी 2002 के गोधरा के निर्मम हत्या कांड के बाद 16 वर्ष तक फरार रहा था और जनवरी, 2018 में ही पकड़ा गया था .

इस केस में 11 आरोपियों को पहले मौत की सजा हुई थी जो बाद में हाई कोर्ट ने उम्र कैद में बदल दी और अन्य 22 को उम्र कैद हुई थी –इन सब में अनेक कांग्रेस के लोग थे .

कांग्रेस का चेहरा बदरंग करने वाली दूसरी खबर आई कि चर्चित समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट केस में पंचकूला में NIA की विशेष अदालत ने असीमानदं समेत 4 आरोपियों को बरी कर दिया. असीमानंद को हैदराबाद, अजमेर और मालेगाँव ब्लास्ट मामलों में भी बरी किया जा चुका है.

इन सब आतंकी हमलों में असीमानंद, साधवी प्रज्ञा और कर्नल पुरोहित को जबरन “भगवा आतंक” के नाम पर कांग्रेस सरकार ने फंसा कर वर्षों तक प्रताड़ित किया और इन सभी का मीडिया ट्रायल किया गया था –सच सामने आने पर भी महबूबा मुफ़्ती असीमानंद के बरी होने पर नाराज है जबकि कश्मीर में उसके पत्थरबाज और जैश के आतंकी सेना को निशाने पर रखते हैं .

असीमानंद ने झूठा फ़साने के लिए NIA के खिलाफ केस दायर करने की बात कही है –इस बात का पर्दाफाश होना चाहिए कि सभी हिन्दुओं को फ़साने के पीछे कौन था –सोनिया , दिग्विजय , चिदंबरम या सुशील शिंदे -ये भगवा आतंवाद के नाम पर कांग्रेसी आतंकवाद को फैलाते रहे हैं और आज भी जैश आतंकी मसूद अज़हर को राहुल गाँधी “जी” कह कर बुलाता है –शिंदे के लिए लादेन “ओसामा जी” था और दिग्गी के लिए हाफिज “साहब” है.

इसके बाद कांग्रेस और राहुल गाँधी के चेहरे पर कालिख पोतने वाली खबर लन्दन से आई कि राहुल के मित्र नीरव मोदी ED के दायर किये प्रत्यपर्ण के मुक़दमे में गिरफ्तार हो गये हैं –पूरी कांग्रेस सन्नाटे में आ कर भी खिसिया कर बोल रही है कि ये चुनावी स्टंट है — दादी की हमशकल भी यही कह रही हैं, भगाया किसने था?

मगर उनको पता नहीं है कि नीरव के शोरूम के उद्घाटन में राहुल गाँधी के जाने के बाद अगले ही दिन उसका लोन स्वीकृत हुआ था –अभिषेक मनु सिंघवी की बीवी नीरव की कंपनी में भागीदार है – सिंघवी ने धमकी दी थी निर्मला सीतारमण के खिलाफ ये भेद खोलने के लिए मानहानि का केस
करने की.. मगर कभी ऐसा करने की हिम्मत नहीं हुई उनकी.

कांग्रेस पर एक दिन में हुए ट्रिपल अटैक ने उसका चेहरा “होली” से एक दिन पहले ही बदरंग कर दिया..

( सुभाष चन्द्र)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here