डॉक्टर नहीं यौन अपराधी – तीस नग्न महिलाओं के साथ दुराचार की दास्तान

डॉक्टर जांच और इलाज के दौरान उन पर यौन हमला हमला करता था..

0
466

यौन अपराध की ये खबर हिन्दुस्तान की नहीं है. ये खबर अमेरिका की कोलंबिया यूनिवर्सिटी से आई है. यहाँ के एक डॉक्टर ने किया है ये कारनामा.

कोलंबिया विश्वविद्यालय के महिला रोग विभाग के एक डॉक्टर पर कुल पच्चीस महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. इन महिलाओं का कहना है कि डॉक्टर ने उनको धोखा दे कर उनके साथ दुराचार किया है.

पीड़ित महिलाओं ने बताया कि ये डॉक्टर जांच और इलाज के दौरान उन पर यौन हमला हमला करता था. पाशविक मानसिकता की हद ये है कि कई गर्भवती महिलाओं और टीनेज लड़कियों को भी इस डॉक्टर ने नहीं छोड़ा.

कोलंबिया विश्वविद्यालय में सेवारत इस डॉक्टर का नाम रॉबर्ट हैडेन है. ये पहला अवसर नहीं है कि इस डॉक्टर पर इस तरह का कोई आरोप लगा हो, इससे पहले भी 6 मरीजों ने इस यौन अपराधी डॉक्टर पर ऐसे आरोप लगाए थे.

दैनिक स्थानीय समाचार पत्र के अनुसार पहले तो इस डॉक्टर की शिकार हुई 17 महिलाओं ने अदालत की शरण ली लेकिन बाद में उनकी देखादेखी 8 अन्य महिलाओं ने भी डॉक्टर पर मुकदमा कर दिया. म रॉबर्ट हेडेन नाम का डॉक्टर कोलंबिया विश्वविद्यालय में कार्यरत था.

हैरानी की बात ये है कि अमेरिका जैसे आदर्श न्याय व्यवस्था में भी यह डॉक्टर अपने विश्वविद्यालय का समर्थन प्राप्त है. विश्वविद्यालय ने शिकायतें आने पर भी डॉक्टर पर कोई कार्रवाई नहीं की. जबकि हालत ये है कि कई और भी महिलाओं ने पीड़ित महिलाओं के वकील से संपर्क किया है और ऐसी पीड़ित महिलाओं की संख्या बढ़ रही है.

पुलिस पड़ताल के दौरान एक महिला ने बताया कि वह उस समय सिर्फ 15 साल की थी. तब डॉक्टर ने उसके चेकअप के दौरान उससे कपड़े उतारने को कहा था. इस दौरान डॉक्टर ने उससे कई आपत्तिजनक सवाल पूछे थे. इतना ही नहीं आरोपी तो उसको सेक्शुअल टिप्स भी देने लग गया था.

कई अन्य महिलाओं ने बताया कि डॉक्टर उनके नग्न शरीर को हाथ तो लगाता ही था, कई अलग-अलग तरीके से उनका यौन शोषण भी करता था. इन महिलाओं ने एक चौंकाने वाला खुलासा और भी किया. उन्होंने कहा कि हॉस्पिटल के कई कर्मचारियों को इसकी जानकारी थी लेकिन किसी के कान में कभी कोई जूं नहीं रेंगी.

ये डॉक्टर चिकित्सीय तौर से अनुचित तरीके से चेकअप करते समय महिलाओं के निजी अंगों को स्पर्श करता था. कुल मिला कर अपनी महिला रोगियों के साथ जो बर्ताव इस डॉक्टर ने किया है, वह कानून के हिसाब से बलात्कार की श्रेणी में आता है.

उस समय किशोर वय में चेक अप के लिए इस डॉक्टर के पास आई एक महिला ने बताया कि डॉक्टर रोबर्ट ने उससे कपड़े उतरने को कहा. उसने डॉक्टर से कहा कि – मुझे तो इंजेक्शन लगवाना है. फिर भी डॉक्टर ने उसे नग्न करके ही इंजेक्शन दिया.

इसी तरह एक नई-नई माँ बनी महिला से भी ऐसी ही शर्मनाक हरकत की इस डॉक्टर ने. दो जुड़वां बच्चों को जन्म देने के बाद बिस्तर में पड़ी इस महिला से इस डॉक्टर ने कहा कि – तुम तो किसी पोर्न स्टार जैसी दिखती हो!

जब पुलिस ने इस बारे में कोलंबिया विश्वविद्यालय से सवाल-जवाब किये तो वहां के प्रवक्ता ने खुलासा किया कि पहली बार वर्ष 2012 में इस डॉक्टर के खिलाफ शिकायत आई थी. शिकायत पर हुई जांच में डॉक्टर को दोषी पाया गया और डॉक्टर को क्लिनिक शेड्यूल से बाहर कर दिया गया. बताया गया कि इसके बाद कोलंबिया विश्वविद्यालय की ओर से इस डॉक्टर को रोगियों के उपचार से वंचित कर दिया गया था.

एक और दुखद सत्य यह भी है कि इससे पहले भी 6 अन्य महिलाओं ने जो कि गर्भवती थीं, डॉक्टर रोबर्ट पर यौन आक्रमण का आरोप लगाया था. और हद तो तब हो गई जब वर्ष 2016 में इस डॉक्टर ने एक एड्स पेशेंट महिला को भी नहीं बख्शा और आरोप के अनुसार उसके साथ भी यौन दुर्व्यवहार किया.

विश्वविद्यालय की पड़ताल में डॉक्टर रोबर्ट को दोषी पाया गया. डॉक्टर ने भी उस दौरान थर्ड डिग्री क्रिमिनल सेक्स एक्ट के लिए अपने अपराधों को स्वीकार भी किया था. क्षतिपूर्ति के तौर पर उसने अपने लाइसेंस को त्यागने का मन भी बना लिया था. फिर भी कुल मिला कर वह कानूनी सज़ा से बच निकला और उसे कोई जेल नहीं हुई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here