क्या 8 साल का बच्चा कोई हत्या कर सकता है? क्या 8 साल का बच्चा गाल पर खाए थप्पड़ का बदला लेने का प्लान बना सकता है? क्या 8 साल का बच्चा बदला लेने के लिए छोटे बच्चे का किडनैप कर सकता है?

 दिल्ली में अपराध की ऐसी हैरतंअंगेज घटना किसी का भी दिल दहला सकती है तो किसी को भी भरोसा न करने पर मजबूर कर सकती है. इस घटना के बाद बड़ा और एकमात्र सवाल यही है कि समाज में बढ़ते बाल-अपराध पर आखिर सामूहिक रूप से मंथन कब होगा?

क्या 8 साल का बच्चा बदला लेने के लिए छोटे बच्चे का किडनैप कर सकता है? दिल्ली में अपराध की ऐसी हैरतंअंगेज घटना किसी का भी दिल दहला सकती है तो किसी को भी भरोसा न करने पर मजबूर कर सकती है. इस घटना के बाद बड़ा और एकमात्र सवाल यही है कि समाज में बढ़ते बाल-अपराध पर आखिर सामूहिक रूप से मंथन कब होगा?

दक्षिणी दिल्ली के फतेहपुर बेरी थाना इलाके में डेढ़ साल के बच्चे का जब शव मिला तो पूरे परिवार के ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. लेकिन जब मौत की वजह सामने आई तो पूरा मोहल्ला ही सन्न रह गया.

दरअसल, डेढ़ साल के बच्चे की मौत की वजह हत्या है और ये हत्या एक 8 साल के बच्चे ने की. 8 साल के एक बच्चे पर पुलिस ने आरोप लगाया है कि उसने पड़ौस के डेढ़ साल के एक बच्चे को उसके घर से उठाकर मार डाला.

बच्चे का शव घर के पास बने नाले से बरामद हुआ.

पुलिस के मुताबिक 8 साल के आरोपी ने पहले डेढ़ साल के बच्चे का घर से किडनैप किया और उसके बाद उसे नाले में डुबा कर मारने की कोशिश की और बाद में ईंट-पत्थर से कई वार किए.

पुलिस के मुताबिक हत्या की वजह और ज्यादा हैरान करती है. आरोपी बच्चे को दरअसल मृतक बच्चे की बड़ी बहन ने थप्पड़ मार कर गिरा दिया था. बस इसी बात से नाराज हो कर उसने बदला लेने का मन बना लिया था.

27 अप्रैल की सुबह आरोपी बच्चे ने सोते समय डेढ़ साल के बच्चे को घर की छत से उठा लिया. उस वक्त वो बच्चा मां और बहन के साथ सो रहा था. वो चुपचाप उसे उठाकर घर के पास बने नाले के पास ले आया. वहां उसने बच्चे को पानी में डुबोकर मार डाला. बाद में बच्चे के सिर पर ईंट-पत्थर से कई वार भी कर डाले. इसके बाद शव को वहीं फेंक दिया.

सुबह बच्चे के लापता होने पर परिवारवालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. खास बात ये थी कि इस घटना के बाद आरोपी बच्चा भी गायब निकला. जिस वजह से एक ही इलाके में दो बच्चों के लापता होने की वजह से पुलिस हरकत में आ गई और उसने जब तफ्तीश की तो पहले 8 साल का बच्चा मिल गया और बाद में सारी सच्चाई भी सामने आ गई.

ये बड़ा सवाल है कि केवल 8 साल के बच्चे का दिमाग इतना आपराधिक कैसे हो सकता है? एक बच्चा कैसे कोल्ड ब्लड मर्डर को प्लान कर सकता है. सबसे बड़ी बात कि एक बच्चे का ईगो इस स्तर तक कैसे आहत हो सकता है कि वो हत्या करने की फुलप्रूफ प्लानिंग कर डाले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here