Paurushapur: पहली बार ‘सभ्य’ ओटीटी पर कामुकता से परिपूर्ण वेब सिरीज़

एक संवाद है पुरुषपुर में - 'जो रानी राजा को कामसुख ना दे सके वो किसी काम की नहीं'! -इससे ही अनुमान लगाया जा सकता है कि कितनी कामुकता से भरपूर है ये वेब सीरीज..

0
311

एकता कपूर की सबसे कामुक शृंखला है ये. माना जा रहा है कि एकता कपूर ने इसमें सारी कामुकता झोंक दी है और इसलिए ये उनकी सबसे कामुक दर्शनीय प्रस्तुति है जो 29 दिसंबर को एक साथ Zee 5 और ऑल्ट बालाजी (Alt Balaji) में स्ट्रीम हुई है. वेब सीरीज़ के दर्शकों के लिए ‘पौरुषपुर’ शृंखला मोस्ट अवेटेड वेब सीरीज में से एक है जिसमें बोल्ड और कामुक सीन की आदि से अंत तक भरमार है.

पीरियड ड्रामा की अनोखी प्रस्तुति

बताया जा रहा है कि पुरुषपुर दरअसल एक ओरिजन पीरियड ड्रामा है जिसमें नायिका के तौर पर केंद्रीय भूमिका में हैं पुरानी भाभी जी अर्थात शिल्पा शिंदे (Shilpa Shinde). मुख्य भूमिका में पुरुषपुर के पुरुष महराज अन्नू कपूर (Annu Kapoor) हैं और मिलिंद सोमन (Milind Soman) हैं जो ग्रे कलर में हैं अर्थात नायक और खलनायक दोनों ही हैं. इन बड़े कलाकारों की पर्दे पर अब तक नज़र आई छवि से अलग किस्म की छवि पेश की गई है इस वेब सीरीज में.

कामुक राजा की कामुक कहानी

सदियों से चलता आया राजाओं का विलास इसमें भी दिखाया गया है. इसमें भी एक राजा अपनी रानियों को सेक्स टॉय समझता है. अन्नू कपूर अर्थात राजा भद्रप्रताप सिंह अपनी रानियों को भोग की वस्तु समझते हैं और अपनी वासना की तृप्ति के लिए एक के बाद एक बहुत से विवाह करते हैं. शिल्पा शिंदे हैं रानी मीरावती (Shilpa Shinde) की भूमिका में जो पहले अंदर से फिर बाहर से विद्रोह करती है और ल्पा पुरुष-प्रधान कानूनों को चुनौती देती हैं और बता देती है कि महिलाओं को कमतर आंकना घातक गलतफहमी हो सकती है.

चुनौतीपूर्ण भूमिका में हैं मिलिंद

एक समय के सुपरमॉडल और अभिनेता मिलिंद सोमन थर्ड जेंडर की भूमिका में दिखाई देते हैं. मिलिंद का मानना है कि – “मुझे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण काल्पनिक पात्रों की भूमिकाएं भाती हैं क्योंकि यह मेरे लिए हर बार एक नई दुनिया से रूबरू होने का मौक़ा होता है. इस के अलावा भानू के रूप में साहिल संथालिया दिखाई देते हैं वहीं वीर सिंह के रूप में शहीर शेख, काला के रूप में पोलोमी दास और प्रिंस आदित्य के रूप में अनंत विजय जोशी नजर आएंगे. इस नए ढंग की सभ्य-कामुक वेब सीरीज़ का निर्देशन शचींद्र वत्स के मंजे हुए हांथों में दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here