Sonu Sood : अभिनेता सोनू सूद के पीछे पड़ा INCOME TAX

0
50
Incom Tax Department (आयकर विभाग).  वही सोनी सूद जिन्होंने कोरोना काल में ऑक्सीजन, दवाइयाँ और अस्पताल के बेड तक लोगों को उपलब्ध करवाया. दिहाड़ी वर्ग को लॉकडाउन के समय बस सेवा मुहैया करवाई ताकि वे सकुशल अपने-अपने घर जा सके.
आयकर विभाग ने सोनू सूद के घर और आफिस समेत 6 स्थानों पर सर्वे किया.
हुआ ये कि सोनू सूद की कंपनियों पर आयकर विभाग के अधिकारी 6 जगहों सर्वे  करने पहुँचे. उनकेत् ऊपर टैक्स चोरी काआरोप लगा है.  सूत्रों के अनुसार लखनऊ की किसी कंपनी के साथ हुई  एक Land Deal में उन पर टैक्स चोरी का इल्ज़ाम लगा है.
मुंबई  का आयकर विभाग  सोनू सूद के पीछे हाथ धो कर  पड़ गया है. इस इन्कम टैक्स विभाग ने सोनू  की कंपनियों  के मामले को  लेकर उन पर शिकंजा  कसना शुरू कर दिया है.  लगभग 6 जगहों पर सर्वे आयकर विभाग ने सर्वे किया है.
लखनऊ की एक रियल एस्टेट कंपनी के साथ सोनू  सूद  का एक ज़मीन  का सौदा हुआ था जिसकी वाह  से उन  पर  टैक्स-चोरी का  आरोप  लगा.
अब इस मामले को राजनीति से भी जोड़ा जा रहा है
यानि  कि अभिनेता  सोनू सूद  की कंपनी  और प्रॉपर्टी को लेकर जो इनकम टैक्स सर्वे  किया  जा  रहा  है उसका कारण राजनैतिक भी बताया जा रहा है.
दरअसल फिल्म अभिनेता सोनू सूद आम आदमी पार्टी के संस्थापक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से हाल ही में मिले थे. तत्पश्चात ही ये अनुमान लगाया जाने लगा था कि वे राजनीति में आ सकते हैं. कोविड  काल में जिस प्रकार सोनू सूद ने देश के  लोगों की  सहायता की तब से ही ये पूर्वानुमान लगाये जा रहे हैं  कि  वे राजनीति में आ सकते हैं.
अभिनेता सोनू सूद ने लोगों के इस अनुमान का खंडन  करते हुए राजनीति में आने की  बात  को ग़लत बताया . सोनू सूद का दिल्ली के  मुख्यमंत्री  और आम आदमी पार्टी के  संस्थापक अरविंद केजरीवाल से उनकी मुलाकात के कुछ दिन पश्चात ही उन पर पर Income Tax  Survey शुरू कर दिया गया.
वैसे सोनू सूद ने साफ तौर पर कहा है कि वे आप आदमी पार्टी में शामिल नहीं हो रहे हैं परन्त एक तो दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोनू सूद  से मिले दूसरा इनकम टैक्स के सर्वे के मध्य उन्होंने  सोनू  सूद का साथ देने की बात कही है.  उन्होंने सूद के समर्थन में एक ट्वीट में कहा कि “सच्चाई की राह पर लाखों मुश्किलें हैं, लेकिन सच्चाई की हमेशा जीत होती है. सच्चाई के रास्ते पर लाखों मुश्किलें आती हैं लेकिन जीत हमेशा सच्चाई की ही होती है. सोनू सूद के साथ भारत के उन लाखों परिवारों की दुआएं हैं जिन्हें मुश्किल घड़ी में सोनू जी का साथ मिला था.”
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोनू सूद को अपनी सरकार की ओर  से स्कूली बच्चों के मेंटरशिप कार्यक्रम का ब्रांड अंबेसडर बनाया था. इस पर BJP(भारतीय जनता पार्टी) प्रवक्ता आसिफ भामला ने  दावा  करते हुए कहा कि “सोनू सूद पर हो रहे आयकर सर्वे का उनकी केजरीवाल से हुई मुलाकात से कोई संबंध नहीं है.” उन्होंने कहा कि “यह एक टिप के आधार पर सिर्फ एक सर्च है ना कि कोई रेड.” आम आदमी पार्टी की प्रवक्ता अतिशी नेबताया कि” केंद्र सरकार एक रेड को सर्वे का नाम दे रही है और यह साफ संदेश भी दे रही है कि किसी भी व्यक्ति को नागरिकों के भले का काम नहीं करने दिए जाएगा.”
कोरोना काल में सोनू सूद  द्वारा जन-कल्याण करने पर खूब  वाहवाही  और शुभकामनाएँ  मिली. उन्होंनेव लोगों की खूब सहायता की थी. ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराने ,अस्पतालों में बेड दिलाने और दवाओं की जरूरतों को पूरा करने के साथ- साथ कुछ लोगों की नौकरी भी लगवाई परन्तु प्रशंसा के साथ  सोनू सूद को कई लोगों की नाराजगी का सामना भी करना पड़ रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here