पुतिन को सुभाषचंद्र बोस की मृत्यु की फाइल को सार्वजनिक करना चाहिएः सुब्रह्मण्यम स्वामी

0
658

 

बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने रूस से दोस्ती का सबूत मांगा है. सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन को ये साबित करना चाहिए कि वो भारत के सच्चे दोस्त हैं और इसके लिए उन्हें नेताजी सुभाषचंद्र बोस और लाल बहादुर शास्त्री की फाइलों को सावर्जनिक करना होगा.
दरअसल ये माना जाता है कि इन दोनों की ही मृत्यु के राज़ और तार कहीं न कहीं रूस से जुड़े हुए हैं. नेताजी सुभाष चंद्र बोस के रूस में अज्ञातवास गुजारने के दावे किए जाते हैं तो रूस में पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री का निधन हो गया था. ऐसे में सुब्रमण्यम स्वामी नेताजी और शास्त्री से जुड़ी गोपनीय फाइलों को सार्वजनिक करने की मांग कर रहे हैं. हाल ही में सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की हत्या कर दी गई थी और इसका सीधा कनेक्शन रूस से था.

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की हत्या में रूस के पूर्व राष्ट्रपति जोसेफ स्टालिन की भूमिका थी और 1945 में विमान हादसे में उनकी मौत नहीं हुई थी, जैसा कि ज्यादातर लोग मानते हैं.

एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वामी ने कहा था कि बोस ने साम्यवादी सोवियत संघ में शरण मांगी थी और बाद में नेताजी की रूस में हत्या कर दी गई थी. उन्होंने कहा कि ‘बोस की मृत्यु 1945 में प्लेन क्रैश में नहीं हुई थी. यह बिल्कुल गलत है. यह नेहरू और जापानियों की साजिश है. सुभाष चंद्र बोस ने रूस में शरण मांगी थी और उन्हें वहां शरण दी गई थी.’ साथ ही स्वामी ने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पर आरोप लगाया कि उन्हें बोस के बारे में सारी जानकारी थी.

साथ ही सुब्रमण्यन स्वामी ने यूपीए चेयरपर्सन और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पुतिन को बताना होगा कि हाल ही में सोनिया गांधी उनसे मिलने दो बार रूस क्यों गई थीं. पुतिन को सोनिया गांधी और उनके पिता के सोवियत संघ की खुफिया एजेंसी केजीबी के साथ रिश्तों की जानकारी देनी होगी.

(इन्द्रनील त्रिपाठी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here