साईं के दरबार में प्रधानमंत्री मोदी

0
555

आज एक विशेष अवसर है. शिरडी बाबा की समाधि के सौ वर्ष पूरे हुए हैं आज. आज भक्तों का विशेष समागम देखा जा सकता है धर्म नगरी शिरडी में.

इसी पावन अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी भी बाबा के दर्शनार्थ बाबा के धाम शिरडी पधारे. मोदी मंदिर पहुँच कर यहां की नित्य पूजा में भी सम्मिलित हुए और उन्होंने बाबा की आरती भी की. तदोपरांत प्रधानमन्त्री ने यहां बाबा की परिक्रमा के साथ एक विशेष पूजन भी किया. इस अवसर पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और राज्यपाल विद्यासागर राव भी उनके साथ पूजन में सम्मिलित हुए.

मंदिर की अतिथि पुस्तिका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हस्ताक्षर की साक्षी बनी. मोदी ने उसमें अपने विचार भी लिखे. प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर साईं बाबा की स्मृति में चांदी का सिक्का जारी किया. इसके अतिरिक्त पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना के कई लाभार्थियों को घर की चाभी सौंपी. उन्होंने लाभार्थियों से इस विषय पर बात भी की.

प्रधानमंत्री ने यहां कई प्रमुख परियोजनाओं का भूमिपूजन करके नए भवनों, 159 करोड़ रुपये की लागत से विशाल शैक्षणिक भवन, ताराघर, मोम संग्रहालय, साईं उद्यान और थीम पार्क आदि के शुभारंभ हेतु बाबा का आशीर्वाद प्राप्त किया

इसके पश्चात शिरडीवासियों ने प्रथम बार प्रधानमंत्री को अपने सामने बोलते हुए सुना. मोदी ने यहां एक रैली को संबोधित किया. उन्होंने अपना भाषण मराठी भाषा में प्रारम्भ किया. प्रधानमंत्री ने देशवासियों को यहां से विजयादशमी की बधाई देते हुए कहा, ”मेरा प्रयास यही रहता है कि प्रत्येक त्योहार देशवासियों के साथ मनाऊं.. वैसे भी साईं को याद कर लोगों की सेवा करने के लिए शक्ति मिलती है.’

”साईं ने हमें यह मंत्र दिया है -‘सबका मालिक एक है’. यह हमारे जीवन का व्यावहारिक मूल मन्त्र भी सिद्ध हो सकता है. साईं हमारे सारे समाज के थे और ये सारा समाज भी साईं का ही है. साईं के पावन चरणों में उपस्थित रहकर देश के निर्धनों के लिए कार्य करना मेरे लिए सौभाग्य की बात है..मुझे हार्दिक प्रसन्नता है कि विजयादशमी के इस पावन अवसर पर मुझे महाराष्ट्र के ढाई लाख बहनों-भाइयों को अपना घर सौंपने का अवसर मिला है, मेरे वो भाई बहन जिनके लिए अपना घर, हमेशा सपना ही रहा है.. बहुत दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि पिछली सरकारों का लक्ष्य सिर्फ एक परिवार का प्रचार करना था, घर देना नहीं था,” मोदी ने आगे कहा.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में बताया कि पिछली सरकार ने अपने अंतिम चार वर्षों केवल 25 लाख घरों का निर्माण किया था. लेकिन हमारी सरकार ने अपने इस छोटे से चार वर्षों के कार्यकाल में 1 करोड़ 25 लाख घरों का निर्माण किया है. यदि पहले वाली ही सरकार आज भी होती तो इतने घर बनाने में उनको 20 साल लग जाते.

(पारिजात त्रिपाठी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here