IPL 2019 – सातवाँ दिन : रनवीर सैमसन को हराया सनराइज़र्स ने

आईपीएल वह उत्सव है जो हर साल आता है.. क्रिकेट देश का राष्ट्रीय खेल नहीं है लेकिन ट्वेंटी-ट्वेंटी देश का राष्ट्रीय उत्सव है..

0
691

आज आईपीएल 2019 के संस्करण का सातवां दिन है. आज शाम आठ बजे शुरू हुआ सनराइज़र्स हैदराबाद और राजस्थानी रॉयल्स के बीच का जंगी मुकाबला. एक तरफ वार्नर जैसा हर मौसम का मजबूत बल्लेबाज़ था जिसके साथ रशीद खान जैसा मिस्ट्री बॉलर भी था तो दूसरी तरफ थे केन विलियमसन और रहाणे जैसे बल्लेबाज़.

राजस्थान रॉयल्स की बल्लेबाज़ी में रनवीर रहे संजू सैमसन जिन्होंने ओपनर बल्लेबाज़ के रूप में शुरुआत की और ठोंक पीट वाले अंदाज़ में बल्लेबाज़ी कर के शतक ठोंक दिया. 102 रनों के निजी स्कोर पर वे नाबाद वापस आये. दो विकेट्स पर 198 रनो का स्कोर दे कर राजस्थान रॉयल्स ने थोड़ा तनाव दे दिया था सनराइज़र्स को. पर उसके बाद जो हुआ वो कमाल था.

पौने दस रनों के औसत का पीछा करना था सनराइज़र्स को. ओपनर के रूप में मैदान में आते ही डेविड वार्नर ने बल्ला घुमाना शुरू कर दिया. वार्नर के इरादे शुरू से ही साफ़ थे. लगने लगा था कि राजस्थान रॉयल्स को अब वार्नर के कहर से सिर्फ अच्छा क्षेत्ररक्षण ही बचा सकता था.

राजस्थान रॉयल्स के क्षेत्ररक्षकों ने भी अपनी पूरी कोशिश की. लेकिन फर्क ज्यादा नहीं पड़ा. वार्नर के कोहराम ने मानो साबित कर दिया कि राजस्थान रॉयल्स के पास बॉलर ही नहीं हैं. जॉनी बेयर्स्टो ने एक छोर को कस कर पकड़ रखा था. डेविड वार्नर गेंदबाज़ों के लिए डेविल वार्नर बन गए थे. उनकी बल्लेबाज़ी की खासियत हमेशा की तरह यही रही कि वे उल्टा-सीधा बल्ला नहीं घुमाते, उनके शॉट्स सटीक और शक्तिशाली हुआ करते हैं.

अचानक मैदान में माहौल बदल गया. वार्नर के बल्ले से उछली एक गेंद को धवल कुलकर्णी ने कस कर लपक लिया. यह दसवां ओवर था जिसमे बेन स्टोक्स को वापस लाया गया था. बेन ने अपनी उपयोगिता साबित कर दी और अभिमन्यू की तरह जमे हुए महारथी डेविड वार्नर को वीरगति प्रदान की. इस समय मैच लगभग बराबरी पर आ चुका था.

दसवें ओवर में 117 रनों पर पहला विकेट गिरा था सनराइज़र्स का और अभी युसूफ पठान का मैदान में आना बाकी था. इस समय सनराइज़र्स को 63 गेंदों पर 83 रन बनाने थे. पर कुछ अजीब सा हुआ और बिना देर लगाए अचानक अचानक जॉनी बेयर्स्टो भी कैच दे कर पैवेलियन की ओर चल पड़े. 117 रनों पर दो विकेट गिर चुके थे और अब मैदान में विलियमसन और वी. शंकर की जोड़ी सम्हल-सम्हल कर खेलती नज़र आई. सनराइज़र्स को 50 गेंदों पर 71 रन बनाने थे.

बारह ओवर्स के बाद जीत के लिये ज़रूरी रन रेट साढ़े आठ का था जिसको बनाये रखने के लिए संयत ढंग से अच्छी किसम की बल्लेबाज़ी करने की ज़रूरत थी. अब छह ओवर्स में 46 रन बनाने थे सनराइज़र्स को. हैदराबाद के मैदान में दर्शक उनकी जीत के लिए प्रार्थना कर रहे थे. और ऐसा लगा कि ऊपरवाले ने भी उनकी प्रार्थना सुन ली. 34 बॉल्स पर 39 रन बनाने थे हैदराबादियों की टीम को. अचानक केन विलियमसन ने कैच आउट हो कर दर्शकों की उम्मीदों को थोड़ा झटका दिया.

अब आये मनीष पांडे जो बड़े शॉट लगाने के लिए जाने जाते हैं. वार्नर और विलियमसन अपनी टीम को काफी आगे तक पहुंचा गए थे. लक्ष्य अधिक दूर नहीं था. 13 गेंदों पर 34 रन बना कर विजय शंकर जमे हुए थे क्रीज़ पर.

अब पांच ओवर्स बचे थे और रन बनाने थे सिर्फ 34. और अचानक श्रेयस गोपाल की गेन्द पर विजय शंकर का कैच पकड़ लिया प्रशांत चोपड़ा ने. अब मैदान में थोड़ा सा सन्नाटा महसूस किया गया. हालांकि लक्ष्य अभी भी अधिक मुश्किल नहीं था क्योंकि अभी भी हैदराबाद की टीम के हांथ में 6 विकेट्स सुरक्षित थे. श्रेयस गोपाल ने अपनी अगली गेन्द पर मनीष पांडे को भी एलबीडब्ल्यू कर दिया. 167 पर 5 विकेट्स एक तरफ थे तो दूसरी तरफ था हैट-ट्रिक चान्स गोपाल के लिये. कहानी में ट्विस्ट आ गया था. अब 27 रनों पर बनाने थे 32 रन.

मैदान में बैटिंग के लिये भेजे गये रशीद खान. यहाँ से हैदराबाद के लिये मुकाबला बहुत आसान भी नहीं था. 24 गेन्दों पर बल्लेबाजों को बनाने थे 30 रन. मैदान पर बैटिंग के लिये आये थे यूसुफ पठान जिन्होंने पहली ही गेन्द पर छक्का मार कर मैदान के माहौल को फिर से जिन्दा कर दिया. 16 बार आईपीएल का मैन ऑफ दि मैच जीतने वाले यूसुफ पठान इसी तरह के खेल के लिये जाने जाते हैं.

अब 18 गेन्दों पर आसान 20 रन बनाने थे हैदराबाद को. अठारहवां ओवर थमाया गया जयदेव उनादकट को. उन्होंने 8 रन दिये अपने ओवर में. उन्नीसवां ओवर ले कर आये ज़ोफ्रा आर्चर. अब 12 गेन्दों पर 12 रन बनाने थे सनराइज़र्स को. इस ओवर में अच्छी यार्कर बॉलिंग देखने को मिलीं जिन पर एक-एक रन बटोरे बल्लेबाजों ने. लेकिन आर्चर की पांचवीं गेन्द पर राशिद के चौके ने खेल बहुत आसान कर दिया हैदराबाद के लिये. अब बचे थे सिर्फ 4 रन लेकिन आखिरी गेन्द पर छक्का जड़ कर यूसुफ ने मैच खत्म कर दिया और राजस्थान रायल्स की उम्मीदों को भी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here