IPL 2019 – आठवाँ दिन : बॉलवीर रबाडा ने हराया कलकत्ता को

रोमान्चक मैच का रोमान्चक खात्मा हुआ..एक एक बॉल को एन्जॉय किया देखने वालों ने..

0
720

आज का दिल्ली बनाम कलकत्ता का मुकाबला बेहद जानदार था.
दिल्ली अपने नए रूप में मजबूत थी तो कलकत्ता अपने पिछले दोनों मैच जीत कर आत्मविश्वास से भरपूर थी.
शाहरुख़ खान मैदान में अपने खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने में जुटे थे.
लेकिन फिर भी चालीस रन पर चार विकेट हो गए उनकी टीम के.
पांचवें क्रम पर उतरे कार्तिक ने आते ही हाथ दिखाए और छक्का मार कर अपने मजबूत इरादे जता दिए. फिर अचानक राणा ने भी कैच थमा कर कार्तिक का साथ छोड़ दिया.
अब मैदान में उतरे मसल वाले आंद्रे रसल.
स्कोरबोर्ड पर ७३ रनों पर पांच विकेट थे और ओवर्स हो चुके थे ११.
लेकिन रसल ने लगातार दो बालों पर दो छक्के मार कर कलकत्ता के हौसले पटरी पर लाने की कोशिश की.
दूसरे छोर पर कार्तिक भी मजबूती से बल्लेबाज़ी करते नज़र आये. अमित मिश्रा की गेंद पर चौका लगा कर कार्तिक ने 94 रनों पर पहुँचाया.
अब तेरह ओवर पूरा कर 96 रन जुड़ चुके थे स्कोर बोर्ड पर.
आंद्रे रसल 186 के स्ट्राइक रेट से 13 गेंदों पर 21 रन बना चुके थे कि अचानक उनके कंधे पर हर्षल की तेज़ गेंद लग जाने से फिज़ियो को मैदान में आना पड़ा.
दूसरी तरफ कप्तान कार्तिक 21 गेंदों पर 31 रन बना कर उनका साथ निभा रहे थे.
आखिर १४ ओवर पूरे होने पर कलकत्ता ने १०० रनों का आंकड़ा पार किया और १०१ रनों पर पांच विकेट के साथ मैदान में आगे बढ़ने की कोशिश में नज़र आई.
कंधे की चोट का असर रसल की बल्लेबाज़ी पर नज़र आया.
तभी अगले ही ओवर में रसल को गेंदबाज़ी करते मोरिस के पैरों की मासपेशियां खिंच गईं और खेल को फिर से रोकना पड़ा.
64 रनों पर ऊंचा कैच दे कर रसल आउट हो गए. फिर आये पीयूष चावला ने छक्का मार कर शुरुआत की. उसके बाद विकेटकीपर के हांथों कट एंड कैच हुए कप्तान कार्तिक.
फिर आये कुलदीप जिन्होंने उम्मीद के विपरीत तेज बल्लेबाज़ी की और ५ गेंदों पर दस रन बना डाले . फिर बीसवें ओवर की आखिरी गेंद पर पर चावला रन आउट हुए और 185 रन बना कर छह विकेट पर पारी खत्म की केकेआर ने.
अब बनाने थे 186 रन दिल्ली को 120 बॉल्स में. शुरआत की धवन और पृथ्वी शॉ ने.
धवन ज्यादा देर टिक कर नहीं खेल सके. लेकिन पृथ्वी ने अंगद का पाँव बन कर बल्लेबाज़ी की.
कप्तान श्रेयस एयर ने कुछ अच्छे हाँथ दिखाए फिर वे भी बॉउंड्री पर कैच आउट हो कर पैवेलियन लौट गए.
अब दो विकेट गंवाने पर स्कोर था – और 42 गेंदों पर दिल्ली को बनाने थे 61 रन.
इसके बाद जो किया पृथ्वी शॉ ने ही किया, ऋषभ ने बस उनका साथ दिया. 16 ओवर्स 24 बॉल्स पर बनाने थे 34 रन. 11 बॉल्स पर 14 रन बना कर चावला के धिकार हो गए. 12 पर 15 बनाने थे इंगरम आये साथ देने. 11 बॉल्स पर 13 रन बनाने थे.
पृथ्वी शतक से 2 रन दूर थे. अचानक शॉ 99 पर फरग्यूसन की गेंद पर कार्तिक के हाथों आउट हो गये.
6 पर गेन्दों पर बनाने थे 6 रन. विहारी और इंग्रम मैदान में फिर 5 पर 5 रन.
फिर दो रन लिए विहारी ने और अब जीत के लिये 3 गेंदों पर 4 रन बनाने थे.
अब तीन गेंदें 3 रन 1 रन लिया इंग्रम ने और उनका निज्जी स्कोर हुआ 6 गेन्दों पर 9 रन.
अब 2 पर 2 रन लेने थे.
पांचवी गेंद पर विहारी हुए बाउंड्री पर कैच आउट. बनाये तीन बॉल्स पर 2 रन
अब कुलदीप यादव की आखिरी बाल थी. खेलने वाले थे हर्षल. बॉलिंग थी कुलदीप की जो आसानी से खेलने लायक बिलकुल नहीं थी.
एक रन लेकर दूसरा रन लेने के चक्कर में आउट हो गए इंग्रम
और इस तरह पहला टाई मैच हुआ आईपीएल 2019 का. अब सुपर ओवर खेला जाने वाला था.

पहली बाल पर एक रन बनाये ऋषभ ने. दूसरी बाल पर चौका मारा पीछे. कृष्णा की तीसरी बाल पर पीयूष चावला ने कैच लिया श्रेयस एयर के बहुत ऊँचे शॉट का. अब उतरे पृथ्वी शॉ. तीन बॉल्स बची हैं. स्कोर है ३ पर ५. शॉट मारा ऋषभ ने और लिए दो रन. सात रन चार बॉल्स पर. ऋषभ ने फिर लिए दो रन. नौ रन पांच बालों पर. आखिरी गेंद पर ऋषभ बस एक रन ही ले सके. ६ गेंदों पर सिर्फ दस रन. केकेआर को बनाने हैं ग्यारह रन. कृष्णा की बॉलिंग बहुत अच्छी रही.

दूसरी बाल पर चौका मारा पीछे. कृष्णा की तीसरी बाल पर पीयूष चावला ने कैच लिया श्रेयस एयर के बहुत ऊँचे शॉट का. अब उतरे पृथ्वी शॉ. तीन बॉल्स बची हैं. स्कोर है ३ पर ५. शॉट मारा ऋषभ ने और लिए दो रन. सात रन चार बॉल्स पर. ऋषभ ने फिर लिए दो रन. नौ रन पांच बालों पर. आखिरी गेंद पर ऋषभ बस एक रन ही ले सके. ६ गेंदों पर सिर्फ दस रन. केकेआर को बनाने हैं ग्यारह रन. कृष्णा की बॉलिंग बहुत अच्छी रही.

अब केकेआर की तरफ से बैटिंग पर उतरे रसल और कप्तान कार्तिक.

साऊथ अफ्रीका का मलिंगा रबाडा. दुनिया का सबसे बेहतरीन उभरता हुआ बॉलिंग का सितारा. सामने थे रसल और पहली ही लो फुलटॉस पर चार रन मार कर लक्ष्य केकेआर के लिए आसान कर दिया. अगली यॉर्कर पर कोई रन नहीं ले सके रसल. अब चार गेंदों पर सात रन चाहिए थे. रबाडा की अगली बाल हवा में यॉर्कर हुई और रसल की गिल्लियां बिखेर दीं. रसल हैरान हो कर पैवेलियन जा रहे थे और दिल्ली के खिलाड़ी रबाडा को बधाई देने में लगे थे.

अब आये रोबिन उत्थप्पा. तीन गेंदों पर बनाने थे सात रन. फिर यॉर्कर और रोबिन ने लिया एक रन. सामने आये कार्तिक. रबाडा की पांचवी बाल को कार्तिक ने लेग में पीछे चार रन मारने की अच्छी कोशिश लेकिन बाउन्ड्री पर विहारी की जबर्दस्त फील्डिंग से और बन पाया सिर्फ एक रन. अब अंतिम गेंद पर उथप्पा को छक्का मारना था, लेकिन एक ही रन बन सका और दिल्ली जीत गई. सारा श्रेय निस्संदेह रबाडा को जाता है.

एक रोमान्चक मैच का रोमान्चक खात्मा हुआ जिसमें दिल्ली के ऊर्जावान युवा खिलाड़ियों ने जानदार जीत हासिल कर दिल्ली वालों का दिल जीत लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here