देश में लोकसभा की सबसे हाईप्रोफाइल सीट है बनारस. पीएम मोदी की संसदीय सीट होने की वजह से बनारस पर देश की सियासत की नजर रहती है. पीएम मोदी दोबारा यहां से चुनाव लड़ रहे हैं. उनके खिलाफ कांग्रेस ने पिछली बार के उम्मीदवार अजय राय को फिर से उतारा है जबकि एसपी-बीएसपी महागठबंधन ने शालिनी यादव को टिकट दिया है. लेकिन इस चुनाव को दिलचस्प बनाते हैं कुछ वो चेहरे जो राजनीतिक नहीं हैं. पीएम मोदी के खिलाफ बनारस में बीएसएफ का पूर्व जवान, पूर्व जज और सैकड़ों किसान भी चुनाव लड़ने रहे हैं.

दरअसल, देशभर से अलग अलग लोग अपने मुद्दों के प्रचार और विरोध का संदेश देने के लिए पीएम की संसदीय सीट का इस्तेमाल कर रहे हैं. पीएम मोदी के खिलाफ कोलकाता हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज चिन्नास्वामी स्वामीनाथन कर्णन, बीएसएफ कॉन्स्टेबल तेज बहादुर यादव और तेलंगाना-तमिलनाडु के के 111 किसान चुनाव लड़ेंगे.

सौ: ट्विटर
सौ: ट्विटर

कोलकाता हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज चिन्नास्वामी स्वामीनाथन कर्णन को सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना का दोषी करार दिया था. इसी वजह से वो साल 2017 में 6 महीने की जेल भी काट चुके हैं. उन्होंने एंटी करप्शन डायनैमिक पार्टी बनाई है और वो अब बनारस की सीट से अपने चुनावी भाषण में भ्रष्टाचार के खिलाफ खुद की लड़ाई की कहानी बयां करेंगे.

बनारस से ही बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव भी चुनाव लड़ रहे हैं. बीएसएफ में खराब खाने का वीडियो बनाकर तेजबहादुर यादव सुर्खियों में आए थे. जिसके बाद उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई हुई और उन्हें नौकरी से बेदखल कर दिया गया. अब तेजबहादुर यादव बनारस से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे और जवानों के मुद्दों पर अपनी बात कहेंगे.

बनारस से ही पीएम मोदी के खिलाफ तेलंगाना और तमिलनाडु के 111 किसान भी चुनाव लड़ रहे हैं. ये वो किसान हैं जो कि दो साल पहले साल 2017 में दिल्ली में विरोध प्रदर्शन कर चुके हैं.

इसी तरह राम मंदिर निर्माण में हो रही देरी के विरोध में विश्व हिंदू परिषद के पूर्व नेता प्रवीण तोगड़िया भी बनारस से चुनाव लड़ना चाहते थे. हाल ही में उन्होंने नई सियासी पार्टी का गठन किया था. लेकिन फिलहाल काशी से चुनाव लड़ने को लेकर उनकी चुप्पी है. तोगड़िया की ही तरह कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और युवा दलित नेता चंद्रशेखर रावण ने भी बनारस से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी लेकिन बाद में ऐसा हो न सका.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here