Modi Cabinet Reshuffle: मिलिये मोदी के नये मंत्रियों से

1
160
मोदी ने राष्ट्रवाद की नई परिभाषा निर्धारित की है और अब राष्ट्रवाद का अर्थ राष्ट्र के विकास से जोड़ दिया है जो कि राष्ट्रवाद की वास्तविक परिभाषा का ही एक अंग है. पीएम मोदी ने अपनी सरकार में परिवर्तन विकास को दृष्टि में रख कर ही किया है. आइये देखते हैं मोदी काबीना में नये चेहर देश के मंत्री के तौर पर कौन हैं और उनका मूल परिचय क्या है:

निशीथ प्रामाणिक

निशीथ प्रामाणिक पश्चिम बंगाल के कूच विहार से सांसद हैं जिनको राज्यमंत्री बनाया गया है. मात्र 35 वर्षीय बंगाल बीजेपी के इस नेता की  उत्तर बंगाल में बीजेपी के विस्तार में अहम भूमिका रही है. प्रदेश के राजवंशी समुदाय में इनकी खासी प्रतिष्ठा है. प्रामाणक ने सांसद रहते हुए बंगाल विधान सभा का चुनाव भी जीता है और 43वें मंत्री के रूप में मोदी कैबीनेट के सदस्य बने हैं.

डॉ. एल मुरुगन

डॉ. एल मुरुगन तमिलनाडु से आते हैं जो मोदी कैबीनेट में राज्यमंत्री बने हैं. मद्रास यूनिवर्सिटी से एलएलएम और पीएचडी डॉ. मुरुगन मद्रास हाईकोर्ट में वकील हैं. युवा मंत्री डॉ. मुरुगन राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष भी रहे हैं.

जॉन बारला

जॉन बारला मोदी काबीना में पश्चिम बंगाल के प्रतिनिधि हैं अलीपुरद्वार से पहली बार सांसद चुने गए जान बारला को भी राज्यमंत्री बनाया गया है. बारला एक जमाने में यहां चाय बागान मजदूर के रूप में काम करते थे. 41वें मंत्री के रूप शपथ लेने वाले जान बारला बंगाल के जलपाइगुड़ी के रहने वाले हैं और अल्पसंख्यक (क्रिश्चियन) समुदाय से ताल्लुक रखते हैं.

डॉ. मुंजापारा महेंद्रभाई

मोदी काबीना के नये मंत्री डॉ. मुंजापारा महेंद्रभाई गुजरात से आते हैं. समाज में इन्होंने एक सच्चे डॉक्टर की छवि को जीवित किया है और गरीबों के डॉक्टर की भूमिका निभाई है. पेशे से कार्डियोलाजिस्ट डॉ. मुंजापारा महेंद्रभाई मरीजों से दो रुपये फीस लेते रहे हैं. ओबीसी समुदाय के प्रतिनिधि डॉक्टर मुंजापारा 2019 में पहली बार सुरेंद्रनगर सीट से बीजेपी के सांसद चुने गए हैं.

शांतनु ठाकुर

पश्चिम बंगाल के बनगांव से पहली बार लोकसभा सांसद बने शांतनु ठाकुर को भी राज्यमंत्री बनाया गया है. बांग्लादेश से सटे क्षेत्रों में रहने वाले मतुआ समुदाय के बीच इनकी खासी पकड़ है. बंगाल से मंत्री बनाये गये दो नेताओं में एक शांतनु ठाकुर भी हैं.

विशेश्वर टुडू

विशेश्वर टुडू उड़ीसा के प्रतिनिथि हैं जो राज्यमंत्री बनाये गये हैं. मयूरभंज से लोकसभा सांसद हैं. टुडू मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा प्राप्त टु़डू खेलकूद की गतिविधियों से जुड़े रहे हैं और ओडिशा के प्रतिनिधि के तौर पर तीसरे मंत्री हैं.

डॉ. भारती प्रवीण पवार

नई राज्यमन्त्री डॉ. भारती प्रवीण पवार महाराष्ट्र से आती हैं. महाराष्ट्र के डिंडोली से पहली बार सांसद चुनी गई डॉक्टर भारती वर्ष 2019 में इन्हें सर्वश्रेष्ठ महिला सांसद के खिताब से सम्मानित की जा चुकी हैं. पेशे से डॉक्टर भारती ने पेयजल और कुपोषण पर इन्होंने बहुत काम किया है.

डॉ. आर के रंजन सिंह

डॉ. आर के रंजन सिंह मणिपुर से ताल्लुक रखते हैं जिनको नया राज्यमंत्री बनाया गया है. भूगोल के प्रोफेसर डॉक्टर सिंह ने गुवाहाटी यूनिवर्सिटी से एमए, पीएचडी किया है.

भागवत कराड

ने 35वें मंत्री के रूप में शपथ ली है. महाराष्ट्र से राज्यसभा सांसद कराड को नये राज्यमंत्री के रूप में चुना गया है. कराड भी पेशे से डॉक्टर हैं और दो बार औरंगाबाद के मेयर चुने जा चुके हैं.

डॉक्टर सुभाष सरकार

डॉक्टर सुभाष सरकार पश्चिम बंगाल से हैं और बांकुरा से बीजेपी के सांसद हैं. राज्यमंत्री के रूप में चुने गये डॉक्टर सुभाष सरकार पहली बार लोकसभा सांसद बने हैं. पेशे से डॉक्टर सुभाष मेदिनीपुर के रहने वाले हैं.

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here