पूछता है देश: कैसे सबक सिखायें राजनेताओं और चैनल्स की मिलीभगत को?

देश का एक जागरूक और राष्ट्रवादी नागरिक होने के नाते देश के सभी जागरूक और राष्ट्रवादी नागरिकों से एक विनम्र अपील करना चाहता हूँ..

0
270
सभी देशवासियों से एक विनम्र अपील – केजरीवाल के विज्ञापनों के भूखे चैनलों का आज से रोज एक दिन छोड़ कर लगातार बहिष्कार करें !!
ये अपील मैं आप सभी से बहुत सोच समझ कर कर रहा हूँ जब ऐसा लगने लगा है कि सभी चैनल केवल केजरीवाल के विज्ञापनों के ही भूखे हैं.
उनको लगता है कि केजरीवाल ही उनकी कमाई का जरिया हैं जबकि सच ये भी है कि जनता (हम लोग) चैनल्स को न देखें तो उनकी TRP से कोई कमाई नहीं होगी.
हमारी आपकी कोई चैनल परवाह नहीं कर रहा –कोई केजरीवाल जैसे नेताओं के निकम्मेपन पर उनसे सवाल नहीं करता बस सभी चैनल उनकी छवि चमकाने में लगे हैं.
मेरा आप सभी से अनुरोध है कि —
1) आज 26 अप्रैल को कोई न्यूज़ चैनल न देखें किसी भी हालत में
2) समाचार देखने के लिए केवल DD News देखें, उसी पर चर्चाओं के प्रोग्राम देखें जिनसे सुकून मिलता है.
3) खाली समय में कॉमेडी प्रोग्राम देखिये, CID देखिये या भजन सुनिए मगर किसी न्यूज़ चैनल को मत देखिये.
4) एक दिन ये बहिष्कार के बाद, फिर एक दिन छोड़ कर यानि बुधवार 28 अप्रैल को फिर बहिष्कार कीजिये.
यदि आप मेरी बात से सहमत हैं तो इस संदेश को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिये जिससे असंख्य लोग इस मुहीम से जुड़
सकें.
आज ये सभी चैनल केजरीवाल की करनी के भागीदार बन रहे हैं और उनके कारनामों पर पर्दा डाल रहे हैं, चाहे वो कोई भी प्राइवेट न्यूज़ चैनल हो – सब एक तरफ से एक ही काम कर रहे हैं.
एक नंबर वन की लाइन में लगे चैनल का तो आज से ही परमानेंट बहिष्कार कर दीजिये जिसने जयपुर गोल्डन हॉस्पिटल में मरने वाले 25 लोगों के बारे में केजरीवाल के ‘पुण्यकर्म’ का वीडियो ही डिलीट कर दिया.
ऐसा है तो हम पढ़े-लिखों को अनपढ़ बनाने वाले इन चैनल्स की हमको जरूरत क्या है, इन्हे फिर अकेले दिल्ली के उस ठेकेदार को ही देखने दो.
आज पूछता है देश –क्यों सभी चैनल जनता का पैसा बरबाद करने में साथ दे रहे हैं ऐसे नेताओं का –क्या उनको नहीं पता कि पैसे की खातिर वो क्या कर रहे हैं?
एक रिपोर्ट के अनुसार केजरीवाल ने 2020 -21 में 1400 करोड़ रुपया विज्ञापनों पर खर्च किया है जो किसी भी प्राइवेट कंपनी के खर्चे से ज्यादा है –इसी पैसे की भूख है इन चैनल्स को.
मगर हम इन चैनल्स का सामूहिक बहिष्कार करेंगे तो ये घुटनों पर आ जायेंगे –सबसे ज्यादा अफ़सोस मुझे उस टॉप के चैनल का है जिसे देश के देशभक्त हर हाल में सपोर्ट करते रहे, किन्तु वो भी आज पैसे का भूखा हो गया है.
आवाज़ दो हम एक हैं !! हम चैनल्स का बहिष्कार करेंगे कल से एक दिन छोड़ छोड़ कर और जरूरत पड़ी तो स्थाई बहिष्कार भी होगा.
(सुभाष चन्द्र)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here