पूछता है देश : क्या Twitter की धृष्टता स्वीकार की जानी चाहिये?

कांग्रेस और वामपंथी मीडिया के हाथों खेल रहे ट्विटर को नहीं पता कि उसकी कानूनी प्रतिरक्षा समाप्ति के बाद उसे प्रतिबन्धित भी किया जा सकता है..

0
130
ट्विटर अपने नियम चलाएगा -भारत के कानून नहीं मानेगा, तो फिर दुकान बढ़ा कर जाये.
आज ख़बरों के अनुसार ट्विटर के अधिकारी संसदीय समिति के सामने पेश हुए जिसके मुखिया थे शशि थरूर —
समिति के सामने, ऐसा कहा गया है कि ट्विटर ने कहा कि वो अपनी कंपनी के नियमों का ही पालन करते हैं जिसका मतलब साफ़ था कि उन्हें भारत के कानून से कुछ लेना देना नहीं है.
समिति ने भारत के कानून का पालन ना करने के लिए ट्विटर पर जुर्माना लगाने की बात कही थी.
ट्विटर, अमेरिका जैसे लोकतंत्र की कंपनी है और लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करना उनका धर्म होना चाहिए मगर वो ऐसा नहीं कर रहे हैं.
ट्विटर अपने 2 नियमों के तहत लोगों को ब्लॉक करता रहा है और वो हैं Hate Speech और Hate Campaign को बढ़ावा देने पर ब्लॉक करते हैं और ये वो खुद फैसला करते हैं किसने क्या किया.
ट्विटर ने तो Hate Campaign के तहत अपने ही देश के राष्ट्रपति का अकाउंट स्थाई रूप से बंद कर दिया –ट्रम्प का आचरण आपको ठीक नहीं लगा तो कुछ समय के लिए ब्लॉक करते मगर आपने तो उसे “नफरत” की आड़ में Hate करके स्थाई तौर पर बंद कर दिया.
अनेक लोगों को ट्विटर मनमाने तरीके से ब्लॉक करता है -एक व्यक्ति ने चिदंबरम को “पाक प्रेमी” लिख दिया, इसी पर उसे एक हफ्ते के लिए ब्लॉक कर दिया.
एक विषय पर मैंने बस इतना लिखा कि कांग्रेस के कुछ लोग इस पर कहीं सुसाइड ना कर लें -इसे ट्विटर ने “आत्महत्या” बढ़ाने वाला कह कर मुझे एक हफ्ते के लिए ब्लॉक कर दिया –
ट्विटर ने कांग्रेस के साथ मिल कर सत्ताधारी पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्वीट को Manipulated कह दिया और हटाया नहीं –आप सरकार को अपनी ताकत दिखाना चाहते हैं.
गाज़ियाबाद मसले पर पुलिस द्वारा रिपोर्ट देने के बाद भी ट्विटर ने किसी ट्वीट को नहीं हटाया जो पूरी तरह Hate Campaign के अलावा कुछ नहीं था जिसका लक्ष्य सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ना था और हिन्दुओं के प्रति नफरत फैलाना था.
आज एक चैनल पर सलमान खुर्शीद बोल गए कि ट्विटर को भारतीय कानूनों को मानना होगा –ये वैसे कांग्रेस की विचारधारा से अलग है क्यूंकि राहुल गाँधी और ट्विटर हेड का याराना है.
ट्विटर कांग्रेस और वामपंथी मीडिया के हाथों में खेल रहा है –मगर उसे नहीं पता कि अभी उसकी कानूनी प्रतिरक्षा समाप्त की है, कल उस पर प्रतिबन्ध भी लगाया जा सकता है.
और अगर ट्विटर पर बैन लगा तो मोदी को जनमानस के जुड़ने के अनेक साधन हैं मगर कांग्रेस,अन्य विपक्षी दलों के लोग, फर्जी नाम से खाते चलाने वाले, पाकिस्तानी अनाथ हो जायेंगे –वो मोदी को गाली देने कहां जायेंगे.
(सुभाष चन्द्र)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here