आज Agriculture Laws के कागज जलाने वाले किसानों पर Hema Malini ने कही ये बड़ी बात

सरकार के तीनों कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा रोक लगाने के बाद आज किसान आज कृषि कानूनों की कॉपी जला रहे हैं जिस पर हेमा मालिनी ने दिया बड़ा बयान..gm

0
336

नई दिल्ली. आज किसान आंदोलन का 49वां दिन है और सुप्रीम कोर्ट की सहानुभूति मिलने के बाद भी किसानों का गुस्सा कम नहीं हुआ है. आज आंदोलन कर रहे किसानों ने कृषि कानूनों की कॉपी जलाना शुरू कर दिया है. किसानों के इस व्यवहार से हतप्रभ हेमा मालिनी ने कह दी है एक बड़ी बात.

”मुद्दा तो जान लो पहले”

पूर्व फिल्म तारिका और वर्तमान में मथुरा से भारतीय जनता पार्टी की सांसद हेमा मालिनी किसानों के आज के व्यवहार से हैरान हैं. सरकार के तीनों कृषि कानूनों की कॉपी जला रहे प्रदर्शनकारी किसानों के लिए हेमा मालिनी बोलीं- प्रदर्शनकारियों को तो मुद्दा ही पता नहीं है!

आज उन्चासवें दिन है लोहड़ी

एक तरफ तो कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का आज उनचासवां दिन है तो दूसरी तरफ आज है लोहड़ी. त्यौहार के मौके पर दर्शनकारी आज कृषि कानूनों की कॉपी जलाते दिखाई दे रहे हैं. ऐसे में भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने कहा है कि प्रदर्शन करने वाले किसानों को पहले मुद्दा तो जान लेना चाहिए. जब उन्हें खुद पता नहीं कि वे चाहते क्या हैं और कृषि कानूनों में परेशानी क्या है, तो ऐसे में आंदोलन करना बताता है कि वे किसी के कहने पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

‘जो हुआ अच्छा ही हुआ’

हेमा मालिनी ने कहा कि जो हुआ अच्छा ही हुआ. उन्होंने कहा कि – ”कृषि कानूनों को लागू करने पर रोक लगना अच्छी बात है, इससे मामला शांत होने की आशा है, किन्तु प्रदर्शन करने वालों को ये तो पता होना ही चाहिए कि मुद्दा क्या है.” सरकार के प्रयासों से होने वाली बातचीत के कई दौर होने के बाद भी किसान मानने को तैयार नहीं हैं.

बातचीत के लिए बनाई गई कमेटी

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार बारह जनवरी को उच्चतम न्यायालय ने जहां तीनों कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगाईं वहीं उसने बातचीत के माध्यम से मुद्दा सुलझाने के लिए चार सदस्यीय एक एक्सपर्ट कमेटी भी बना दी. किन्तु किसानों ने जिद पकड़ ली है कि जब तक कानून वापसी नहीं होगी, आंदोलन खत्म नहीं करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here