इज़राइल अब करेगा बड़ा हमला गाज़ा पट्टी पर

0
404

अब लगता है इज़राइल का धैर्य चुक रहा है और शायद मध्यपूर्व की ये लड़ाई अब अपने अंतिम चरण पर पहुँच रही है..

इज़राइल वह बहादुर देश है जो कि चारों तरफ अपने दुश्मन देशों से घिरा हुआ है. फिलिस्तीन, सीरिया, लेबनान, मिस्र और जॉर्डन. लेकिन मज़ाल है कि इनमें से कोई भी इज़राइल का बाल भी बांका कर सका हो.

इज़राइल का फिलिस्तीन मसला बरसों से चल रहा है. अगर गौर से देखा जाये तो कभी भी अपने आखिरी मुकाम पर पहुँच सकता था. लेकिन शायद यह इज़राइल का धीरज ही है कि उसने अब तक इस विवाद को दुश्मनी नहीं माना और दुश्मनी का रिश्ता इस मसले के साथ कभी नहीं निभाया.

जिनको नहीं पता उनके लिए कुछ ज़रा से शब्दों में इज़राइल-फिलीस्तीन विवाद की भी जानकारी देनी होगी. फिलिस्तीन क्षेत्र अरबी और बहुसंख्य मुस्लिम बहुल इलाका है जो एक छोटे से रूप में मिस्र और इज़रायल के मध्य भूमध्यसागरीय तट पर स्थित है और गाजा पट्टी नाम से जाना जाता है. फिलिस्तीन क्षेत्र एक छोटा सा फिलिस्तीनी क्षेत्र है. इस पर ‘हमास’ का शासन है. सभी जानते हैं कि हमास इजरायल विरोधी आतंकवादी समूह है. इसका कारण ये है कि फिलिस्तीन और कई अन्य मुस्लिम देश इजरायल को यहूदी राज्य के रुप में मान्यता नहीं देते हैं.

पिछले कुछ सालों से इज़राइल और फिलीस्तीन के बीच की झड़पें भीषण होती जा रही हैं. इज़राइल की सेना के अनुसार बीते हफ्ते तक फिलिस्तानी चरमपंथियों द्वारा इज़राइल पर इसराइली इलाक़े में 600 रॉकेट दागे जा चुके हैं.

अब इज़राइली सेना ने अपने अगले हमलों के लिए गाज़ा पट्टी पर ढाई सौ से ज़्यादा लक्ष्य निर्धारित किये हैं. और अब हालात ये हो गए हैं कि इज़राइल भीषण हमले करने के मूड में नज़र आ रहा है. ये उसका गुस्सा भी हो सकता है और अब इस मसले को हल करने का इरादा भी.

कल रविवार को सामने आये इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू के बयान के अनुसार इज़राइली सेना को गाज़ा पट्टी में आतंकवादियों के ठिकानों पर बड़े हमले के आदेश दे दिए गए हैं. प्रधानमंत्री ने माना कि गाज़ा में इज़राइली सेना अब पूरी तैयारी के साथ तैनात कर दी गई है. हालांकि अप्रेल 2019 को युद्धविराम के लिए सहमति तो बन गई थी लेकिन युद्ध अभी भी जारी है. संयुक्त राष्ट्र और मिस्र के द्वारा युद्धविराम के प्रयास चल रहे हैं लेकिन वे किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुँच सके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here