तुम “पठान के बच्चे” हो इमरान खान,तो पहले वाले क्या “शैतान के बच्चे” थे ?

0
663

अब भी अगर मगर करके शांति के लिए मोदी से मौका मांग रहा है इमरान खान और नया फंडा लाया है -“मैं पठान का बच्चा हूँ – मैं सच्चा बोलता हूँ और सच्चा करता हूँ”.

 इमरान खान की “छल” की भाषा पर महबूबा मुफ़्ती, कश्मीर में बैठे उसके दलाल और कांग्रेस के लोग और हमारे देश के “बौद्धिक आतंकी”ही विश्वाश कर सकते हैं –1947 से पाकिस्तान के हुक्मरान चाहे कोई भी रहे हों, वहां की सेना और ISI मौके ही लेते रहे हैं भारत से मगर भारत को धोखा ही देते रहे हैं –

अब इमरान खान पहले के उन सभी पाकिस्तानी हुक्मरानो को क्या शैतान के बच्चे कहना चाहता है –आज जब पाकिस्तान को नरेंद्र मोदी खुलेआम हड़का रहा है तो डर के मारे मौका मांग रहा है इमरान खान –अटल जी बस ले कर खुद गए थे पाकिस्तान और मियां मुशर्रफ कारगिल में नापाक खेल रहा था –इससे बड़ा मौका भारत पाकिस्तान को और क्या दे सकता था –

वही मियां मुशर्रफ,जो एटम बम की धमकी देता था और कहता था कि पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं, वो आज डरा हुआ कह रहा है कि एक एटम बम के बदले भारत 20 एटम बम चला सकता है और पाकिस्तान का नामो निशान मिटा सकता है – 

वहीँ आज भी, इमरान पहले, पाकिस्तान का विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी कह रहा है कि भारत पाकिस्तान पर बुरी नज़र ना डाले –हम तो शांति चाहते हैं -जबकि 70 साल से पाकिस्तान खुद भारत के कश्मीर पर बुरी नज़र गाढ़े बैठा है – पुलवामा करके कैसी शांति चाहता है पाकिस्तान –जब सारा विश्व पाकिस्तान के आतंक के खिलाफ खड़ा है तब वो कैसा मौका चाहता है –दुनियां को क्या बेवकूफ समझते हैं इमरान और उसके गुर्गे –

पाकिस्तान को कितने सबूत दिए मगर अब तक किया क्या –26/11 के सबूत पर सबूत दिए मगर उस आतंकी हमले को अंजाम देने वाले आज भी पाकिस्तान में मौज कर रहे हैं –अगर मौका चाहता है इमरान खान तो पहले बिना शर्त हाफिज , लखवी, अज़हर मसूद और दाऊद को पकड़ कर भारत के हवाले करे, उसके बाद बात करने की बात करे –

अगर अपने को पठान का बच्चा कहता है इमरान तो ये क्या इस बात की गारंटी है कि वो ईमानदार है –अफ़ग़ानिस्तान में तो सारे पठान के बच्चे भरे पड़े हैं लेकिन तालिबान अफ़ग़ानिस्तान में आतंक का नंगा नाच करता है है –ईरान में भारत में पुलवाना करने से एक दिन पहले ईरान में खूनी खेल भी इमरान खान तुमने ही खेला था –

तुम अपने को पठान का बच्चा कह कर अपनी सच्चाई का परिचय ना दो इमरान खान क्यूंकि तुम तो अपनी कोई बात कहने का अधिकार भी नहीं रखते पाकिस्तान में –तुम तो बस उतना ही बोल सकते हो जितना पाकिस्तान की सेना और ISI तुम्हे बोलने की इज़ाज़त देते हैं –ये बात तो तुम्हारी अपनी ही बेगम रेहम खान ने कही है —

पाकिस्तान का कोई भी हुक्मरान चाहे पठान का बच्चा हो या शैतान का बच्चा हो, वो कभी इंसान का बच्चा नहीं हो सकता जिनके हाथ भारत के जवानों, भारत के लोगों और कश्मीरियों के खून से रंगे हैं -पाकिस्तान 70 साल से बातचीत का ढोंग ही कर रहा है मगर बदले में भारत को केवल धोखा ही दिया है —

(सुभाष चन्द्र) 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here