Chinese Honey Trap: अमेरिका के नेताओं से हमबिस्तर होने वाली हसीना थी चीन की सीक्रेट एजेंट

एक खूबूरत हसीना जो अमेरिका के नेताओं के साथ रंगरेलियां मना रही थी दरसल चीन की एक सीक्रेट एजेंट थी जो अपने मिशन पर अमेरिका में थी..

0
334

 

चीन अपने दुश्मन देशों को नुकसान पहुंचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है. उसके सीक्रेट मिशन हर स्तर पर और हर कीमत पर दुनिया के बड़े देशों में काम कर रहे हैं जिनमें शामिल हैं छात्र, वेटर, व्यापारी, प्रॉस्टिट्यूट्स और जुआरी. इस लिस्ट में खूबसूरत हसीनाएं भी शामिल हैं जो छात्रों, वेटरों, व्यापारियों और जुआरियों की भूमिका में भी फिट हो जाती हैं और अपना काम करके निकल जाती हैं.

राज़ खुला मगर जरा देर से

लेकिन दुनिया के हर राज़ की एक खासियत है कि वह कभी न कभी खुल जाता है. कभी जल्दी तो कभी देर से और कभी तो बहुत देर से. अमेरिका में काम करने वाली एक खूबसूरत ‘सीक्रेट एजेंट’ का राज़ भी खुल गया लेकिन ज़रा देर से खुला और तब पता चला कि इस बला की हसीना ने अमेरिकी नेताओं से शारीरिक संबंध बनाकर उगलवाए थे बहुत से राज़ जो आयेंगे चीन के काम.

ये था चीन का हनी ट्रैप

कहने की आवश्यकता नहीं कि अमेरिका रूस और भारत की तरह चीन दुनिया की चार महाशक्तियों में एक है. एशिया सहित दुनिया भर में अपनी दारोगाई बनाये रखने के लिए चीन हर तरह की कोशिशों को आजमाया करता है जिसमें शामिल है एक सबसे मुश्किल ट्रैप, जिसे कहा जाता है -हनी ट्रैप. चीन हनी ट्रैप को माध्यम बना कर कई देशों में अपनी बदनीयती का काम अंजाम देता रहा है.

अमेरिका में किया हनी ट्रैप

बाकी देशों का हनी ट्रैप शायद बाहर नहीं आ सका हो लेकिन अमेरिका में चीन की खूबसूरत सीक्रेट एजेंट का हनी ट्रैप दुनिया भर की सुर्खियां बना. इस हनी ने ट्रैप करके अपने शिकारों के साथ सेक्स किया और इस तरह उनसे मदहोशी में उगलवा लिये बहुत से राज़. चीन को अपनी टेक्नॉलजी इस्तेमाल नहीं करनी पड़ी और बहुत सस्ते में बहुत महंगा काम अपने अंजाम तक पहुँच गया. चीन की ब्युटोलजी के आगे अमेरिका की ब्यूरोक्रेसी फेल हो गई.

चीनी सुंदरी ने नचाया बंदर की तरह

चीन की इस खूबसूरत सीक्रेट एजेंट ने बड़ी खूबसूरती से अमेरिका में अपने मिशन हनीट्रैप को सफल बनाया. उसने बड़े-बड़े अमेरिकी राजनेताओं को अपने हुस्न के जाल में फंसा कर उनके साथ संबंध बनाये और उस दौरान मुलायम बिस्तर पर ही उगलवा लिए बड़े कठोर राज़. अमेरिकी नेता उसके सौंदर्य के इतने दीवाने हो जाते थे कि वो उन्हें बंदर की तरह नचाती थी और ये बात अखबारों में भी आती थी मगर शक किसी को नहीं था क्योंकि ये सुन्दरी चीनी और एशियन छात्रों के एसोसियेशन की प्रेसीडेन्ट भी थी.

नाम क्रिस्टीन फांग

अमेरिका में नियुक्त की गई चीन की इस खूबसूरत महिला जासूस का नाम था क्रिस्टन फांग. अमेरिका से पहले फांग ने ब्रिटेन में, और यहां तक कि अफगानिस्तान में भी जासूसी के काम को सफलतापूर्वक अंजाम दिया था. उसके बाद उसने अमेरिका में चार साल गुजारे और अपना काम करके वापस बीजिंग भाग आई. अमेरिका में उसने सैन फ्रांसिस्को को अपना घर बनाया और वहां से अमेरिकी सरकार के तीनों स्तरों तक अपनी पहुंच बनाई. अमेरिका की सत्तासीन डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं Democrats Swalwell, Ro Khanna, Mike Honda और Judy Chu से उसके संदेहास्पद कनेक्शन एफबीआई की नजर में भी आये थे किन्तु इस कनेक्शन की पूरी सच्चाई उसके चले जाने के बाद ही अमेरिका को पता चली.

छात्रा बन कर आई थी

क्रिस्टीन फांग ने अमेरिका में छात्रा के रूप में प्रवेश किया. उसके बाद उसने पढ़ाई में कम बल्कि पार्टियों में ज्यादा दिलचस्पी दिखाई. पार्टियों में उसके निशाने पर हुआ करते थे बड़े व्यापारी और बड़े अमेरिकी अधिकारी. इनसे होते हुए उसने अमेरिका के खुफिया अधिकारियों तक अपनी पहुँच बनाई. और उनके साथ-साथ कई राजनेताओं को अपने रूप-की माया में फंसाया. उनका उसने इतनी शातिर तरीके से इस्तेमाल किया कि उनको भनक तक नहीं लग सकी. और  जब उनको भनक लगी तब तक फांग लगा चुकी थी छलांग और पहुँच गई थी अमेरिका की सीमा के पार चीन की सीमा के भीतर.

2011 से 2015 तक अमेरिका में थी स्पाई

इस चीनी स्पाई क्रिस्टीना फांग के फरार हो जाने के बाद जब उसका कच्चा-चिट्ठा खुला तो पता चला कि वह 2011-2015 में अमेरिका में छात्रा बन कर आई और 4 साल यहां ‘बिताने’ के बाद चीन निकल ली. इस दौरान क्रिस्टीन फांग ने कई अमेरिकी राजनेताओं से गहरे संबंध भी बनाए और जिसके जरिए उसने नेताओं से सरकार के कई सीक्रेट्स भी पता कर लिये. द सन ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया कि क्रिस्टीन फांग के हुस्न के जाल में एक अमेरिका मेयर से लेकर निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडेन की पार्टी का एक सांसद भी सम्मिलित रहा था.

एफबीआई ने बिछाया था जाल

क्रिस्टीन फांग ने बड़ी चतुराई से अपने मिशन को अंजाम दिया और जब अमेरिकी खुफिया एजेंसी एफबीआई को संदेह होने लगता तब क्रिस्टीन समझ गई कि अब वक्त आ गया है उसे देर नहीं करनी चाहिये. उसके बाद जब तक एफबीआई उसके करीब पहुंचती, वो उनकी पहुँच से बहुत दूर निकल गई थी. यद्यपि एफबीआई ने उसके बारे में पहली बार ही शक होने पर अपना जाल बिछा दिया था किन्तु उसे रंगे हाथों पकड़ पाना मुमकिन न हो सका, क्रिस्टीन फांग फरार होने में कामयाब रही.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here